FACT CHECK- क्या कांग्रेस के पोस्टर में दिख रहा यह आदमी हाथरस दुष्कर्म का अभियुक्त और कांग्रेस नेता है? जानिये सच..

False Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

पश्चिमी उत्तर प्रदेश के हाथरस की १९  वर्षीय दलित महिला, जिसपर उसके गांव के उच्च जाति के चार लोगों द्वारा कथित रूप से क्रूरतापूर्वक हमला किया गया और दुष्कर्म किया गया,  यह घटना १४ सितंबर को हाथरस जिले के एक गांव में हुई, जो दिल्ली से लगभग २००  किलोमीटर दूर है | इसी घटना के सन्दर्भ में सोशल मीडिया पर एक पोस्ट को इस दावे के साथ साझा किया जा रहा है कि हाथरस गैंगरेप और हत्या की घटना के आरोपियों में से एक कांग्रेस नेता है | पोस्ट की जा रही तस्वीरों में से एक तस्वीर पुलिस हिरासत में एक व्यक्ति की है और दूसरी तस्वीर पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को श्रद्धांजलि देने वाले एक पोस्टर की है | सोशल मीडिया पर वायरल दावे के अनुसार हिरासत में दिख रहा व्यक्ति श्रद्धांजलि देने वाले पोस्टर में दिख रहा कांग्रेसी नेता है जो हाथरस मामले का मुख्य आरोपी है जिसे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है |

पोस्ट के शीर्षक में लिखा गया है कि

 “समीर खान, ऊतर प्रदेश कांग्रेस नेता जिन्होंने एक दलित महिला के साथ दुष्कर्म किया |”’

फेसबुक पोस्ट 

अनुसंधान से पता चलता है कि…

तस्वीर में दिखाए गये व्यक्ति का हाथरस दुष्कर्म से कोई संबंध नही है और  कांग्रेस पार्टी द्वारा ये स्पष्ट किया गया है कि इस व्यक्ति का कांग्रेस से कोई सम्बन्ध नहीं है |

जाँच के शुरुवात हमने इन तस्वीरों को गूगल रिवर्स इमेज सर्च करने से की, जिसके परिणाम से हमें १३ सितम्बर २०२० को पंजाब केसरी द्वारा प्रकाशित खबर प्राप्त हुई जिसमे सोशल मीडिया पर वायरल तस्वीर को देखा जा सकता है | उत्तर प्रदेश के हाथरस में दुष्कर्म की घटना १४ सितम्बर २०२० से एक दिन पहले यह न्यूज़ रिपोर्ट प्रकाशित हुई थी | रिपोर्ट के अनुसार घटना मध्य प्रदेश की है जहां सतना पुलिस ने एक स्थानीय कांग्रेसी नेता सिकंदर खान को गिरफ्तार किया, ये तब हुआ जब एक नाबालिग ने उसके खिलाफ इस साल सितंबर में यौन शोषण के लिए शिकायत दर्ज कराई थी |

आर्काइव लिंक

इसके आलावा हमें न्यूज़१८ द्वारा प्रकाशित खबर मिली जिसके अनुसार मोहम्मद अली अंसारी उर्फ सिकंदर खान को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया और यौन अपराधों से बच्चों की रोकथाम (POCSO) की संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया | सिकंदर खान ने कथित तौर पर इस जघन्य कृत्य की रिकॉर्डिंग की थी और वीडियो को सोशल मीडिया पर वायरल कर देने की धमकी देकर लड़की का कई बार यौन शोषण करता रहा | लड़की ने यह भी आरोप लगाया कि वह शख्स उसे देह व्यापार में धकेलना चाहता था और तब उसने पुलिस से मदद लेने का फैसला किया | घटना की एक प्रेस ब्रीफिंग में, सतना पुलिस ने खुलासा किया कि आरोपी चार नामों से समाज में चल रहा था – अतीक, समीर, सिकंदर और गिन्नी खान | उनके पास भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय, सांसद रीति पाठक और गणेश सिंह के फर्जी लेटरहेड भी थे | रिपोर्ट में यह भी उल्लेख किया गया है कि आरोपी कांग्रेस नेता के रूप में मुखबिरी कर रहा था और कई बार कांग्रेस के कई नेताओं के साथ देखा गया था |

आर्काइव लिंक

 न्यूज़१८ के रिपोर्ट में कांग्रेस प्रवक्ता माणक अग्रवाल, जिन्हें पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह का करीबी माना जाता है, ने कहा कि आदमी पार्टी से जुड़ा नहीं है और वह पार्टी का प्राथमिक सदस्य भी नहीं है। उन्होंने कहा 

“कोई भी नेताओं के साथ खड़े होकर फोटो खिचवा सकता है, जिसका मतलब यह नहीं है कि वे इन नेताओं से जुड़े हुए हैं |”

फैक्ट क्रेसेंडो ने मकसूद अहमद, कांग्रेस कमेटी, सतना के जिला अध्यक्ष से संपर्क किया जिन्होंने हमें बताया कि 

सिकंदर खान कोई नेता नहीं है, वे कांग्रेस पार्टी में कोई पद नहीं रखता है और उसने कांग्रेस के पार्टी सदस्य के रूप में कोई मान्यता प्राप्त नहीं की है | भाजपा सदस्य  दुष्कर्म करने वाले आरोपियों को कांग्रेस के साथ जोड़कर सांप्रदायिक मोड़ देने की कोशिश कर रहे है | ये पोस्टर सिकंदर खान ने कांग्रेस विधायक राजेंद्र कुमार सिंह के जन्मदिन के दौरान जारी किया था और कांग्रेस पार्टी किसी भी व्यक्तिगत रिश्ते के लिए जिम्मेदार नहीं है |”

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | सोशल मीडिया पर वायरल तस्वीर उत्तर प्रदेश में हाथरस दुष्कर्म पीड़ित के मुख्य आरोपी नही है |

Avatar

Title:क्या कांग्रेस के पोस्टर में दिख रहा यह आदमी हाथरस दुष्कर्म का अभियुक्त और कांग्रेस नेता है? जानिये सच..

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply