वीडियो एक बहरूपिये का है जिसका पंजाब पुलिस से कोई सम्बन्ध नहीं है |

Coronavirus False
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

कोरोनावायरस से संबंधित कई घरेलु नुस्खे सोशल मीडिया पर अकसर फैलाये गए हैं, जिन्हें वक़्त वक़्त पर  फैक्ट क्रेसेंडो ने फैक्ट चेक कर गलत बताया है | ऐसा ही एक नुस्खा शराब को लेकर किया गया था, जहाँ यह बताया जा रहा था कि शराब के सेवन से कोरोनावायरस को मारा जा सकता है | इस बात का स्पष्टीकरण विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी किया है कि शराब के सेवन से कोरोनावायरस के संक्रमण से बचा नहीं जा सकता ना ही शराब इस वायरस को नष्ट कर सकती है, वर्तमान में इससे संबंधित सोशल मीडिया पर एक वर्दी पहने पुलिसवाले का वीडियो काफी चर्चा में है, जिसमें हम पुलिसवाले को यह कहते हुए सुन सकते है कि वे कोरोनावायरस के बचने के लिए शराब का सेवन करते है | इस वीडियो के माध्यम से दावा किया जा रहा है कि वीडियो में दिख रहा व्यक्ति पंजाब पुलिस से है जो कोरोनावायरस को नष्ट करने के लिये लोगों को शराब का सेवन करने की सलाह दे रहा है |

फैक्ट क्रेसेंडो को यह वीडियो हमारे WhatsApp फैक्ट लाइन नंबर ९०४९०५३७७० पर सत्यता जांच ने के लिए भेजा गाया है |

अनुसंधान से पता चलता है कि…

जाँच की शुरुवात हमने इस वीडियो से संबंधित ख़बरों को गूगल पर कीवर्ड सर्च करने से किया, यहाँ हमें कोई पुख्ता खबर नहीं मिल पाई जो यह कहे कि वीडियो में दिख रहा व्यक्ति पंजाब पुलिस है जो लोगों को कोरोनावायरस के संक्रमण को नष्ट करने का उपाय दे रहा है |

तद्पश्चात हमें पंजाब पुलिस इंडिया के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट द्वारा प्रकाशित ट्वीट मिला जिसमे उन्होंने इस वीडियो को साझा करते हुए लिखा है कि “सोशल मीडिया पर एक वीडियो प्रसारित किया गया था जिसमें पंजाब पुलिस की वर्दी पहने एक व्यक्ति अफवाह फैला रहा था कि व्हिस्की पीने से कोरोना ठीक हो सकता है | वह कुलवंत सिंह ढिल्लों हैं। उन्हें अफवाह फैलाने और पंजाब पुलिस की वर्दी को गलत तरीके से पेश करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है |”

आर्काइव लिंक

तद्पश्चात फैक्ट क्रेसेंडो ने लुधिअना के कमिश्नर राकेश अग्रवाल जी से संपर्क किया उन्होंने हमें बताया कि “सोशल मीडिया पर चल रहा वीडियो फर्जी है | वीडियो में दिख रहा व्यक्ति पंजाब पुलिस का पुलिसकर्मी नही है | इस आदमी का नाम कुलवंत सिंह ढिल्लों है जो एक निजी एक्टर है जो छोटे छोटे नाटक या स्किट में अभिनय करता है | उन्होंने एक मज़ाक के रूप में यह वीडियो बनाया था | हमने उन्हें सोशल मीडिया पर अफवाह फ़ैलाने और पुलिस की वर्दी का दुरुपयोग करने के आरोप में गिरफ्तार किया है |”

यह स्पष्टीकरण उन्होंने एक वीडियो के रूप में पंजाब पुलिस के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से भी साझा किया है |

आर्काइव लिंक   

पंजाब पुलिस ने कुलवंत सिंह ढिल्लों का एक वीडियो भी प्रकाशित किया है जिसमे हम उन्हें माफ़ी मांगते हुए सुन सकते है | वीडियो में वे साफ़ साफ़ कहते है कि वे एक रंगमंच के कलाकार है जिन्होंने यह वीडियो मजाक के रूप में बनाया था | उन्होंने यह भी स्पष्ट किया है कि उनका उद्देश्य किसी भी पुलिसकर्मी या डॉक्टर की भावनाओं को ठेस पहुँचाना नही था |

आर्काइव लिंक

इसके आलावा विश्व स्वास्थ्य संगठन के वेबसाइट पर शराब के सेवन को लेकर मिथ बूस्टर उपलब्ध है जिसके अनुसार शराब पीने से कोरोनावायरस के संक्रमण को नही रोका जा सकता है | 

ENG-Mythbusting-nCoV (79)
 
निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो में दिख रहे व्यक्ति पंजाब पुलिस के पुलिसकर्मी नही है | यह व्यक्ति एक रंगमंच कलाकार है जिन्होंने यह वीडियो मज़ाक के रूप में बनाया था |

Avatar

Title:वीडियो एक बहरूपिये का है जिसका पंजाब पुलिस से कोई सम्बन्ध नहीं है |

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •