क्या कन्हैया कुमार अफज़ल गुरु की फोटो लगाकर चुनाव प्रचार कर रहे है?

False National Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

२ मई २०१९ को कुलदीप सिंह गौर नामक एक फेसबुक यूजर ने एक तस्वीर पोस्ट की | तस्वीर के शीर्षक में लिखा गया है कि कन्हैया कुमार ,अफजल गुरू की फ़ोटो लगा कर जनता के बीच रोड शो कर के वोट मांग रहा है जबकि अफजल गुरु सुप्रीम द्वारा घोषित आतंकी है | चुनाव आयोग संज्ञान में क्यों नहीं ले रहा है? जरा सोचिए इसकी मानसिकता क्या है? कौन से हिन्दू इसको सपोर्ट क्या सोच कर कर रहे हैं? क्या अब हम इतने गए गुजरे हो गए हैं कि एक आतंक समर्थक को वोट देंगे? आखिर हमारी सोच की दिशा किधर जा रही है? सोचिए समझिए फिर सही फैसला लेकर देश हित मे वोट कीजिये |”

तस्वीर में हम कन्हैया कुमार को एक रोड शो करते देख सकते है | कन्हैया कुमार जिस गाड़ी में रोड शो कर रहे है उस गाड़ी के ऊपर अफजल गुरु का तस्वीर प्रदर्शित किया गया है | तस्वीर के माध्यम से यह दावा किया जा रहा है कि कन्हैया कुमार सुप्रीम द्वारा घोषित आतंकी का तस्वीर इस्तेमाल करके जनता से वोट की मांग कर रहा है | यह तस्वीर सोशल मीडिया पर काफ़ी चर्चा में है | फैक्ट चेक किये जाने तक यह पोस्ट ३५ प्रतिक्रियाएं प्राप्त कर चुकी थी |

आर्काइव लिंक

क्या वास्तव में कन्हैया कुमार एक आतंकी के तस्वीर का सहारा लेकर वोट मांग रहे है ? जानिए सच |

संशोधन से पता चलता है कि..

जांच की जांच शुरुआत में हमने इस तस्वीर का स्क्रीनशॉट लेकर गूगल रिवर्स सर्च किया | परिणाम से हमें एक वेबसाइट का लिंक मिला | hotsta.net नामक वेबसाइट से हमें साझा की गयी तस्वीर मिली | यह तस्वीर २७ अप्रैल २०१९ को एस सुलेमान जैन मोहम्मद अलीग नामक यूजर ने इस तस्वीर को पोस्ट करते हुए लिखा है कि “बेगूसराय की सड़कों पर मोबाइल टोर्च पेड यात्रा, डॉ। कन्हैया कुमार के अभियान के हिस्से के रूप में उनके बेगूसराय लोकसभा क्षेत्र में | # कन्हैया4begusarai #begusarailalhai #kanhaiyakumar #cpi # loksabha2019 #begusarai”

इस तस्वीर में हम कन्हैया कुमार को रोड शो करते हुए देख सकते है | उनके गाड़ी के ऊपर अफज़ल गुरु के तस्वीर के जगह भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी का प्रतिक चिन्ह देखा जा सकता है |

आर्काइव लिंक

इसके बाद हमने कन्हैया कुमार के इस टोर्च लाइट रोड शो से संबंधित खबर ढूँढने की कोशिश की | गूगल के परिणाम अनुसार हमें एबीपी न्यूज़ द्वारा प्रकाशित खबर मिली, जहाँ इस रोड शो के जुडी अधिक जानकारी दी गयी है | २७ अप्रैल २०१९ को प्रकाशित खबर में लिखा गया है कि “बेगूसराय: कन्हैया ने किया शक्ति प्रदर्शन, अनोखे अंदाज में अपने समर्थकों के साथ निकाला ‘मोबाइल टॉर्च’ मार्च |” खबर के साथ विडियो भी संलग्न किया गया है जहाँ हम साफ़ साफ़ देख सकते है की कन्हैया कुमार के गाड़ी के ऊपर भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी का प्रतिक चिन्ह है |

आर्काइव लिंक

२७ अप्रैल २०१९ को एबीपी न्यूज़ द्वारा यू-ट्यूब पर अपलोड इस मोबाइल टोर्च रैली का विडियो मिला | एबीपी न्यूज़ ने इस रैली को लाइव कवर किया था | इस विडियो में हम साफ़ साफ़ देख सकते है की कन्हैया कुमार के गाड़ी के ऊपर भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी का प्रतिक चिन्ह है |

वेबसाइट में दी गयी तस्वीर की अगर सोशल मीडिया पर वायरल हुई तस्वीर के साथ तुलना की जाए तो हमें काफी अंतर साफ़ नज़र आता है | मूल तस्वीर में कन्हैया कुमार के गाड़ी के ऊपर भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी का प्रतिक चिन्ह लगाया गया है | नीचे आप इस तुलना को देख सकते है |

निष्कर्ष: तथ्यों की जांच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | पोस्ट के द्वारा यह दावा किया जा रहा है कि कन्हैया कुमार अफजल गुरू की फ़ोटो लगा कर जनता के बीच रोड शो कर के वोट मांग रहा है जबकि मूल तस्वीर में अफज़ल गुरु के तस्वीर की जगह भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी का प्रतिक चिन्ह देखा जा सकता है |

Avatar

Title:क्या कन्हैया कुमार अफज़ल गुरु की फोटो लगाकर चुनाव प्रचार कर रहे है?

Fact Check By: Drabanti Ghosh 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply