क्या गूगल के सीईओ सुन्दर पिचाई भारत में अपना मतदान करने आये थे ?

False Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

२२ अप्रैल २०१९ को ‘फैक्ट क्रेसेंड़ो’ के वाट्सऐप पर एक मैसेज हमारें पाठक द्वारा सत्यता जांचने के लिए भेजा गया |  मैसेज में लिखा गया है कि गूगल के सीईओ, सुन्दर पिचाई भारत में अपना मतदान करने आए थे |

जब हमने उपरोक्त मैसेज अन्य सोशल मीडिया ऐप्स पर ढूंढा तो यह ज्ञात हुआ कि यह पोस्ट वाकई काफ़ी चर्चा में है | १८ अप्रैल २०१९ को पुअर गाए सेइंग्स नामक एक फेसबुक पेज ने एक तस्वीर पोस्ट की |  तस्वीर के शीर्षक में लिखा गया है कि “गूगल के सीईओ सुन्दर सीधे अमेरिका से भारत अपना मतदान करने आए” | तस्वीर में हम गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई को देख सकते है | तस्वीर के माध्यम से यह दावा किया जा रहा है कि सुन्दर पिचाई जो अमेरिका में रहते है, वह भारत में मतदान करने आए थे | यह तस्वीर काफी तेजी से साझा की जा रही है | फैक्ट चेक किये जाने तक इस पोस्ट ने लगभग १६०० प्रतिक्रियाएं प्राप्त की थी |

आर्काइव लिंक

भारत लोकसभा २०१९ के लिए मतदान के दूसरे चरण में है और सोशल मीडिया मशहूर हस्तियों और प्रमुख सार्वजनिक हस्तियों के वोट डालने की तस्वीरों से भरा पड़ा है | इन तस्वीरों में हमें काफी फोटोशॉप की गयी तस्वीरें भी देखने को मिलती है | इसी वजह से हमने उपरोक्त पोस्ट की सच्चाई जानने की कोशिश की |

संशोधन से पता चलता है कि….

जाँच की शुरुआत हमने तस्वीर का स्क्रीनशॉट लेकर गूगल रिवर्स इमेज सर्च करने से की तो हमें पता चला की यह तस्वीर २ साल पुरानी है | गूगल द्वारा दिए गए परिणाम से हमें सुन्दर पिचाई द्वारा किया हुआ एक ट्वीट मिला | ७ जनुअरी २०१७ को सुंदर पिचाई के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से किये ट्वीट में हम उपरोक्त तस्वीर को देख सकते है | ट्वीट के शीर्षक में लिखा गया है कि “२३  वर्षों में पहली बार मेरे अल्मा मेटर का दौरा किया। हार्दिक स्वागत के लिए सभी का @IITKgp को धन्यवाद!” यह तस्वीर तबकी है जब सुंदर पिचाई ने अपने अल्मा मेटर आईआईटी खड़गपुर, पश्चिम बंगाल का दौरा किया था | उन्होंने ३००० से अधिक छात्रों को संबोधित किया और भारत के स्टार्टअप और डिजिटल अर्थव्यवस्था पर चर्चा की |

आर्काइव लिंक

सुन्दर पिचाई के इस ट्वीट से हमें यह पता चलता है कि यह तस्वीर २ साल पहले उनके आईआईटी खरगपुर बंगाल की यात्रा की है | इस खबर को ५ जनवरी २०१७ को कई मीडिया संगठनों ने प्रकाशित किया था | खबर में लिखा गया है कि पिचाई ने ५ जनवरी २०१७ को आईआईटी खड़गपुर परिसर का दौरा किया, जिसमें उन्होंने कॉलेज में एक ओपन-एयर थिएटर में छात्रों के साथ एक प्रश्न-उत्तर श्रृंखला में भाग लिया | इस कार्यक्रम में ३५०० से अधिक छात्रों ने भाग लिया और यूट्यूब पर गूगल द्वारा लाइव स्ट्रीम किया गया | पिचाई उस समय एक काम और व्यक्तिगत यात्रा के लिए भारत में थे |

फर्स्ट पोस्ट | आर्काइव लिंक | डेक्कन क्रॉनिकल | आर्काइव लिंक

यह लाइव वीडियो गूगल इंडिया के आधिकारिक अकाउंट द्वारा यू-ट्यूब पर ५ जनवरी २०१७ को प्रसारित किया गया था, जो आप नीचे देख व सुन सकते है |

विकिपीडिया के अनुसार तमिलनाडु के मदुरै में जन्मे पिचाई के पास अमेरिकी नागरिकता है | इसलिए उन्हें भारतीय चुनावों में अपना वोट डालने की अनुमति नहीं है |

sp 2.png

मतदान के बारे में अधिक जानकारी ढूंढ़ने पर हमने पाया कि भारत निर्वाचन आयोग (ECI) के अनुसार, एक व्यक्ति भारत में मतदान कर सकता है यदि वह भारतीय नागरिक है |

sp 3.png

आर्काइव लिंक

हालाँकि, अनिवासी भारतीयों (NRI) को भारत में वोट डालने की अनुमति है, बशर्ते कि वह खुद भारत आकर मतदान करें | लेकिन, दुसरे देश की नागरिकता पाने वालों के लिए यह सुविधा नहीं है |  

आर्काइव लिंक

निष्कर्ष : तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने  पाया की, साझा की गई तस्वीर २ साल पुरानी है |तस्वीर उनके द्वारा आईआईटी खरगपुर पश्चिम बंगाल के दौरे की है  | सुन्दर पिचाई एक अमेरिकी नागरिक है जिस वजह से वह भारत में मतदान नहीं कर सकते |

Avatar

Title:क्या गूगल के सीईओ सुन्दर पिचाई भारत में अपना मतदान करने आये थे ?

Fact Check By: Drabanti Ghosh 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •