FACT CHECK: क्या योगी आदित्यनाथ ने इस ब्राह्मण को अपमानित कार्यक्रम से भगा दिया? 

Missing Context Political

हमने वीडियो में दिख रहे ब्राह्मण से इस बात की पुष्टि की है। उनका कहना है कि योगी आदित्यनाथ उन्हें बैठने को कह रहे थे।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का एक वीडियो शेयर किया जा रहा है जिसमें आप उन्हें मंच पर उनके पीछे खड़े एक शख्स को इशारा कर कथित तौर पर वहाँ से जाने को कह रहे है। और उसके बाद वह शख्स मंच से चला जाता है।

इसके साथ दावा किया जा रहा है कि एक 72 साल के ब्राह्मण को योगी आदित्यनाथ ने अपमान कर कार्यक्रम से भगा दिया। 

वायरल हो रहे पोस्ट में लिखा है, “50 साल तक मंदिर में ईमानदारी से सेवा करने का फल एक 72 साल के ब्राह्मण को यह दिया गया उन्हें मंदिर के कार्यक्रम से भगाया जा रहा है और बात करते हो सम्मान की।“

फेसबुक 

आर्काइव लिंक


Read Also: क्या इंडिया टीवी ने पंजाब में अकाली दल को 65-70 सीटें मिलने का दावा किया है?


अनुसंधान से पता चलता है कि…

भा.ज.पा नेता अश्विनी त्यागी के पेज पर यह वीडियो मिला। यह वीडियो 10 दिसंबर 2021 को पोस्ट किया गया था। इसके साथ दी गयी जानकारी में बताया गया है, ये वीडियो गोरखपुर में महाराणा प्रताप शिक्षा परिषद के संस्थापक सप्ताह समारोह के समापन दिन का है। 

उस दिन वहाँ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय मंत्री धमेंद्र प्रधान मौजूद थे।

इस वीडियो में आप वायरल हो रहे वीडियो को 0.42 से 0.50 मिनट तक देख सकते है। 


Read Also: अधुरा वीडियो शेयर कर अखिलेश यादव ने बुद्ध की मूर्ति लेने से इनकार करने का झूठा दावा किया जा रहा है


इसके बाद फैक्ट क्रेसेंडो ने गोरखपुर में स्थित एक स्थानीय पत्रकार मार्कंडेय मणि से संपर्क किया। उन्होंने हमें बताया कि “इस वीडियो में जिस शख्स को योगी आदित्यनाथ मंच से जाने को कह रहे है उनका नाम द्वारिका तिवारी है। ये गोरखपुर में स्थित गोरखनाथ मंदिर के सचीव है। ये कई सालों से गोरखनाथ मंदिर में है। इसमें योगी जी उन्हें डांट नहीं रहे है, वे उन्हें बस नीचे जाकर बैठने को कह रहे है।“

फिर फैक्ट क्रेसेंडो ने द्वारिका तिवारी से संपर्क किया। उन्होंने हमें बताया, “मैंने यह वीडियो देखा है। इसके साथ गलत दावा किया जा रहा है। योगी जी मुझे फटकार नहीं रहे थे। मैं मंच पर खड़ा था तो मुझे वे नीचे जाकर बैठने को कह रहे थे। वे मुझे मंच से हटा नहीं रहे थे, वे सिर्फ बैठने को कह रहे थे। मैं यहाँ 50 साल से हूँ, वे मुझे वहाँ क्यों हटायेंगे और क्यों डाटेंगे। ये वीडियो बदनाम करने के लिये वायरल किया जा रहा है।“

आपको बता दें कि पिछले वर्ष दिसंबर में 4 तारीख से लेकर 10 तारीख तक गोरखपुर में महाराणा प्रताप शिक्षा परिषद का 89वां संस्थापक सप्ताह समारोह महाराणा प्रताप इंटर कॉलेज में आयोजित किया गया था। इस दौरान हर दिन अलग- अलग मंत्रियों व नेताओं को प्रमुख अतिथि के तौर पर बुलाया गया था।


Read Also: FACT CHECK: क्या अमित शाह उत्तर प्रदेश की बुरी हालत को लेकर योगी आदित्यनाथ को फटकार लगा रहे है? 


निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने पाया कि वायरल हो रहे वीडियो के साथ किया गया दावा भ्रामक है। इसमें योगी आदित्यनाथ उस ब्राह्मण का अनादर नहीं कर रहे है बल्की वे उन्हें मंच से नीचे जाकर बैठने के लिये कह रहे है।

Avatar

Title:FACT CHECK: क्या योगी आदित्यनाथ ने इस ब्राह्मण को अपमानित कार्यक्रम से भगा दिया?

Fact Check By: Rashi Jain 

Result: Missing Context