क्या राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ट्वीट कर कंगना रनौत से पद्मश्री पुरस्कार वापस लेने की मांग की?

False Social

यह ट्वीट फेक है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ऐसा कोई ट्वीट नहीं किया है। 

हाल ही में अभिनेत्री कंगना रनौत (Kangana Ranaut) को पद्मश्री (Padmashri) पुरस्कार से सम्मानित किया गया। उसके बाद एक चैनल को दिए इंटरव्यू में उन्होंने देश की आज़ादी को लेकर एक विवादित बयान दिया था। इस बयान की वजह से उन पर काफी टीका हुई।

इसके चलते राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के नाम से एक ट्वीट का स्क्रीनशॉट वायरल हो रहा है जिसमें उन्होंने कथित तौर पर कंगना रनौत को दिए गए पद्मश्री पुरस्कार वापिस लेने की मांग कर की है। 

इस वायरल ट्वीट में लिखा है कि “कंगना रनौत द्वारा की गई टिप्पणी देश की भावनाओं को आहत करने वाली है, मै स्वयं उन्हें पद्म पुरस्कार दिये जाने के लिए शर्मिंदगी महसूस कर रहा हूँ! मेरी सरकार श्री नरेंद्र मोदी से विनती है कि मुझे पुरस्कार वापस लेने की अनुमति दी जाए।“ (शब्दश:)

इस ट्वीट को सच मान कर कई लोग दावा कर रहे है कि खुद राष्ट्रपति ने अब कंगना से पद्मश्री छीन लेने इच्छा जताई है। यूजर्स ने वायरल ट्वीट का स्क्रीनशॉट शेअर करते हुए लिखा कि “महामहिम राष्ट्रपति जी ने भी कंगना का अवार्ड वापस लेने की पेशकश।“ (शब्दश:)

फेसबुक | आर्काइव लिंक

अनुसंधान से पता चलता है कि…

जाँच की शुरुआत हमने इस तस्वीर को ध्यान से देखकर की, हमने देखा कि इस पर ट्वीटर हैंडल का नाम “Prasident of India” लिखा हुआ है और उसका युज़रनेम @rashtrptibhvn है। 

आपको बता दें कि इसमें President शब्द की स्पेलिंग गलत लिखी हुई है। हमने यह भी देखा कि इस ट्वीटर हैंडल के नाम के आगे ब्ल्यू टिक नहीं है। भारत के राष्ट्रपति के ट्वीटर हैंडल पर ब्ल्यू टिक यानी वेरिफाईड का चिन्ह होगा ये तो जाहिर सी बात है। और इन दोनों बातों को ध्यान में रखते हुए हमने अनुमान लगाया कि इस तस्वीर में दिख रहा ट्वीट गलत हो सकता है।

इसके बाद हमने भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के ट्वीटर हैंडल की खोज की। हमने देखा कि राष्ट्रपति के आधिकारिक ट्वीटर हैंडल का नाम President of India है और उनका युज़रनेम @rashtrapatibhvn है। इस ट्वीटर हैंडल के नाम के आगे ब्ल्यू टिक भी लगा हुआ है।

फिर हमने राष्ट्रपति कोविंद के आधिकारिक हैंडल को खंगाला। हमें उसमें कंगना रनौत के बारे में ऐसा कोई भी ट्वीट नहीं मिला।

आगे बढ़ते हुए हमने वायरल हो रही तस्वीर में दिख रहे ट्वीटर हैंडल की जाँच की। हमने पाया कि वह हैंडल उसे ट्वीटर द्वारा निलंबित किया गया है। आप नीचे दी गयी तस्वीर में देख सकते है।

आर्काइव लिंक

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने पाया कि वायरल हो रही तस्वीर के साथ किया गया दावा गलत है। यह एक फेक ट्वीट है। कंगना रनौत से पद्मश्री पुरस्कार वापिस लेने की राष्ट्रपति ने मांग नहीं की है।

Avatar

Title:क्या राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ट्वीट कर कंगना रनौत से पद्मश्री पुरस्कार वापस लेने की मांग की?

Fact Check By: Rashi Jain 

Result: False

Leave a Reply