पाकिस्तान के घरेलु अत्याचार वीडीओ को भारत में हुये लव-जिहाद का बताया जा रहा है|

False International Social
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

१७ अगस्त २०१९ को फेसबुक पर ‘I Am Flop’ नामक एक फेसबुक पेज पर एक वीडियो साझा किया गया है, जिसमे एक युवती अपने ऊपर होने वाले अत्याचार के बारे मे बोल रही है | इस पोस्ट के विवरण में लिखा है कि, #Mr_Faisu को लव यू बोलने वाली हिन्दू लड़कियों जरा ये वीडियो जरूर देख लेना | एक और मोहतरमा लव जिहाद में गई। और इनको मारा पीटा गया पेसाब पिलाई गई। ये सेक्युलर थी | और बोलती थी ये बहुत अछे होते है | tik tok पर सभी मुस्लिमों को करती थी fallow वही से इन्हें फँसाया गया | 7 लड़कों ने किया हलाला बाद में | इस लड़की का भी भूत अभी अभी उतरा है, #लव_जिहाद का ताजा उदहारण है | अभी तो लव यू लव यू कर लो जितना करना है मुस्लिमो से, बाद में तुम्हारा हाल भी यही होगा || और हां, बाद में तुम्हे हमसे हमदर्दी नही मिलेगी, याद रखना तुम अपने माँ बाप अपने धर्म का अपमान करके किसी के साथ भी ऐसा कर लेती हो फिर देखो ये हाल होता है लेकिन फिर भी तुम्हारे माँ बाप तूम्हे उतना ही प्यार करते है जितना अपहले करते थे | अपने धर्म के प्रति कट्टर होना कोई अपराध नहीं है कट्टर बनो, और जो भी अपने धर्म और घर की तरफ गलत नाराज उठाये उसकी आँखे निकाल लो | हर #हिन्दू_लड़की तक पहुंचना चाहिए ये वीडियो | इस पोस्ट के माध्यम से यह दावा किया जा रहा है कि, ‘यह वीडियो भारत मे लव-जिहाद की आड में हिंदू औरतों पर हो रहे अत्याचार का है |’

क्या सच में ऐसा है ? आइये जानते है इस पोस्ट के दावे की सच्चाई |

सोशल मीडिया पर प्रचलित कथन:

FacebookPost | ArchivedLink

अनुसंधान से पता चलता है कि…

हमने सबसे पहले उपरोक्त वीडियो के बारे में अलग-अलग की-वर्ड्स से गूगल पर ढूंढा, तो ‘tortured his wife’ कीवर्ड में हमें पाकिस्तान के ‘Parhlo’ नामक एक नागरिक पत्रकारिता वेबसाइट पर १६ अगस्त २०१९ को प्रसारित एक ख़बर मिली | इस ख़बर के मुताबिक अलिश्बा नामक एक इटालियन पाकिस्तानी लड़की का पति – अली जाबिर मोती ने उसपर बहुत अत्याचार किये | अलिश्बा के बयान और सुबूतों की बुनियाद पर पाकिस्तान पुलिस अली को गिरफ़्तार करने के लिए ढूंढ रही है |

Parhlo.comArchivedLink

इस ख़बर में उपरोक्त पोस्ट में साझा वीडियो का हिस्सा, अलिश्बा की तस्वीर और (FIR) प्राथमिकी की तस्वीर के साथ ट्विटर का लिंक भी दिया गया है | जब हमने इस ट्विटर लिंक को देखा, तो हमें उपरोक्त पोस्ट से हुबहू मिलता-जुलता वीडियो मिला | यह वीडियो सबसे पहले पाकिस्तान के पत्रकार इक़रार उल हसन सयेद ने १३ अगस्त २०१९ को ट्वीट किया था, जिसे रीट्वीट करके कराची दूतावास तक पहुँचाया गया था | इस ट्विटर चेन को देखने के लिए नीचे दिए गए लिंक्स पर क्लिक करें |

Tweet 1 | ArchivedLinkTweet 2 | ArchivedLinkTweet 3 | ArchivedLinkTweet 4 | ArchivedLinkTweet 5 | ArchivedLink

हमने फिर गूगल पर ‘Ali Jabar Moti+Alishba’ की-वर्ड्स से ढूंढा, तो हमें पाकिस्तान के समाचार चैनल द्वारा प्रसारित इस ख़बर पर वीडियो प्राप्त हुए, जिसके मुताबिक अली जाबिर मोती अभी पाकिस्तान से फरार है और पाकिस्तान की पुलिस उसकी तलाश कर रही है | यह पूरा मामला दरख्शां पुलिस थाने में दर्ज है |

हमने जब इस बात की पुष्टि के लिए पाकिस्तान के दक्षिण कराची के SSP से संपर्क साधा, तो उन्होंने हमें बताया कि यह घटना दो हफ्ते पहले की थी और यह एक घरेलु हिंसा का मामला था, ये वीडियो मोहतरमा के बयान के तौर पे तब लिया गया था जब चोटों के चलते उन्हें अस्पताल ले जा रहे थे| इनके शौहर अली पाकिस्तान से फरार होने में कामयाब रहे, मगर अली की माँ अभी हिरासत में है | अलिश्बा(पीड़िता) अभी अपने मायके में अपनी माँ के पास है |  

इस अनुसंधान से यह बात स्पष्ट होती है कि पोस्ट में साझा वीडियो पाकिस्तान के कराची शहर में घटित एक घरेलु हिंसा का है जिसमे पीड़िता एक इटालियन पाकिस्तानी हैं, जो उपरोक्त वीडीयो में अपने पति द्वारा अत्याचार को बयां कर रही है | यह वीडियो गलत विवरण के साथ लोगों को भ्रमित करने के उद्देश्य से फैलाया जा रहा है | 

जांच का परिणाम :  उपरोक्त पोस्ट मे किया गया दावा ‘यह वीडियो भारत में लव-जिहाद की आड़ में हिंदू औरतों पर हो रहे अत्याचार का है |’ ग़लत है |

Avatar

Title:पाकिस्तान के घरेलु अत्याचार वीडीओ को भारत में हुये लव-जिहाद का बताया जा रहा है|

Fact Check By: Natasha Vivian 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •