क्या प्रियंका गांधी ने गले में क्रॉस तथा जनेऊ पहना ?

False National Political
  • 26
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    26
    Shares

३१ मार्च २०१९ को फेसबुक के ‘नरेन्द्र मोदी 2019 (साथ है तो जुड़े)’ पेज पर N ATt Kalai नामक यूजर द्वारा साझा की गई यह पोस्ट काफी चर्चा में है | पोस्ट में कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी के दो अलग फोटो दिए गए है | पहले फोटो में प्रियंका गले में रुद्राक्ष की मालाएं तथा धागे की एक मोटी माला पहने है व फोटो के ऊपर लिखा है उत्तर प्रदेश | फोटो के नीचे लिखा है – रुद्राक्ष और जनेऊ” | दुसरे फोटो में उनके गले में क्रॉस दिखाई देता है व फोटो के ऊपर लिखा है केरल | फोटो के नीचे लिखा है– “गले में क्रॉस” |  पोस्ट यह दर्शाती है की प्रियंका ने उत्तर प्रदेश में जाकर रुद्राक्ष की मालाएं तथा जनेऊ पहना, जो की हिन्दू धर्म की पहचान है, तथा केरल में आने के बाद उन्होंने ख्रिस्ती धर्म का क्रॉस गले में लटकाया | आम तौर पर चुनाव के वक्त ऐसी पोस्ट भ्रम पैदा करने के लिए की जाती है ? फैक्ट चेक किये जाने तक इस पोस्ट को ५००० से ज्यादा प्रतिक्रियाएं मिल चुकी है | आइये जानते है इसकी सच्चाई |

ARCHIVE POST

संशोधन से पता चलता है कि…

सबसे पहले हमने पहले फोटो का स्क्रीन शॉट लेकर गूगल रिवर्स सर्च किया तो हमें कुछ खास परिणाम नहीं मिले, जो आप नीचे की स्क्रीन शॉट पर देख सकते है |

इसके बाद हमने फोटो के ऊपर लिखे उत्तर प्रदेश का आधार लेकर गूगल में सर्च किया तो getty images की वेबसाइट पर हमें दोनों तस्वीरें मिली | आइये पहले बात करते है उस फोटो की जिसमे प्रियंका के गले में रुद्राक्ष एवं जनेऊ दिखाई देता है | getty images पर हमें मिली तस्वीर आप नीचे देख सकते है | इस तस्वीर में आप उनके गले में रुद्राक्ष की मालाएं व जनेऊ (धागे की मोटी माला) देख सकते है |

getty images के इस फोटो के कैप्शन में लिखा है कि यह फोटो २० मार्च २०१९ का है जब प्रियंका उत्तर प्रदेश के वाराणसी दौरे पर थी | हमने इस आधार पर आगे सर्च किया तो हमें पता चला कि वास्तव में प्रियंका ने जनेऊ नहीं पहना है बल्कि वह वाराणसी घाट के साधुओं द्वारा उन्हें पहनाया गया धागे का हार है | साधुओं ने उन्हें रुद्राक्ष की मालाएं भी स्वागत स्वरुप भेंट की थी | यह बात यू-ट्यूब के एक विडियो से पता चलती है, जो NDTV india ने अपनी खबर में २० मार्च २०१९ को चलाया था | नीचे आप स्क्रीन शॉट पर वह दृष्य देख सकते है, तथा लिंक पर विडियो भी देख सकते है |

वाराणसी घाट पर एक साधू प्रियंका को धागे की मोटी माला पहनते हुए |

वही साधू उनको रुद्राक्ष की माला भेंट देते हुए |

ARCHIVE VIDEO

विडियो देखने के बात यह बात साबित हो जाती है कि प्रियंका ने जनेऊ नहीं बल्कि धागे का मोटा हार पहना था, जो की उन्हें घाट के एक साधू ने स्वागत करने के लिए पहनाया था | सनद रहे की हिन्दू धर्मशास्त्र के अनुसार जनेऊ धारण करने का अधिकार सिर्फ पुरुषों को है, महिलाओं को नहीं |

आइये अब बात करते है गले में क्रॉस पहने हुए दुसरे फोटो की |

जब हमने इस फोटो का अलग से स्क्रीन शॉट लेकर गूगल रिवर्स इमेज में सर्च किया तो हमें जो परिणाम मिले वह आप नीचे देख सकते है |

इस सर्च से हमें पता चला कि प्रियंका गांधी की यह तस्वीर काफी जगह इस्तेमाल हुई है, एवं इन फोटो में उनके गले में क्रॉस नहीं बल्कि ओवल के आकार का पेंडन्ट है | getty images की हमें प्राप्त मूल तस्वीरे आप नीचे देख सकते है |

यह तस्वीरे वास्तव में १७ फरवरी २०१७ की रायबरेली की एक चुनावी रैली की है, जब उत्तर प्रदेश में विधान सभा के चुनाव हो रहे थे | इन तस्वीरों को गौर से देखा जाए तो यह बात साफ़ होती है कि प्रियंका ने गले में क्रॉस नहीं बल्कि ओवल के आकार का पेंडन्ट पहना है |

इसके बाद हमने इस इस विषय पर खबरे तथा लेख ढूंढ निकाले |

ब्लूमबर्ग ने २५ जनवरी २०१९ को लेन मार्लो का एक न्यूज़ आर्टिकल प्रकाशित किया था, जिसमे getty images के उपरोक्त फोटो का इस्तेमाल किया गया है, जो आप नीचे की स्क्रीन शॉट पर देख सकते है |

ARCHIVE BLOOMBERG

द नेशनल ने १९ फरवरी २०१७ को सामंत सुब्रमनियम का एक लेख प्रकाशित किया था, उसमे भी getty images की यह फोटो इस्तेमाल की गई है |

ARCHIVE NATIONAL

२३ फरवरी २०१७ को टाइम्स ऑफ़ इंडिया ने इस विषय पर एक खबर की थी, उसमे पीटीआई द्वारा जारी फोटो का इस्तेमाल किया था, जो आप नीचे की स्क्रीन शॉट पर देख सकते है |

ARCHIVE TOI

India Today की वेबसाइट पर १७ फरवरी २०१७ की उस चुनावी रैली की खबर प्रकाशित हुई थी, जिसमे विडियो दिया गया है | उस विडियो को देखने के बाद भी इस बात की पुष्टि होती है कि प्रियंका ने गले में क्रॉस नहीं पहना है | नीचे आप यह विडियो देख सकते है |

ARCHIVE VIDEO

economic times ने भी १७ फरवरी २०१७ की उस चुनावी रैली की खबर प्रकाशित की थी | उसका भी विडियो आप नीचे देख सकते है |

ARCHIVE ET

इस संशोधन से यह बिना किसी संदेह स्पष्ट होता है कि प्रियंका का यह फोटो केरल का नहीं है, बल्कि १७ फरवरी २०१७ की रायबरेली की उस चुनावी रैली का है, जिसमे वह शामिल हुई थी | getty images के मूल फोटो के साथ छेडछाड कर उनके गले में क्रॉस दिखाया गया है | नीचे आप दोनों फोटो की तुलना देख सकते है |

जांच का परिणाम :  इस संशोधन से यह स्पष्ट होता है कि, उपरोक्त पोस्ट में प्रियंका गांधी के दोनों फोटो के सन्दर्भ में किये गए दावे  गलत (FALSE) है | प्रियंका के गले में जनेऊ नहीं, बल्कि धागे की माला है तथा उनके गले में क्रॉस नहीं, बल्कि ओवल के आकार का पेंडन्ट है |

Avatar

Title:क्या प्रियंका गांधी ने गले में क्रॉस तथा जनेऊ पहना ?

Fact Check By: Rajesh Pillewar 

Result: False


  • 26
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    26
    Shares

1 thought on “क्या प्रियंका गांधी ने गले में क्रॉस तथा जनेऊ पहना ?

Comments are closed.