क्या आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री जगन मोहन रेड्डी ने फिर से हिन्दू धर्म अपना लिया ?

False National Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

२६ मई २०१९ को फेसबुक पर ‘रविन्द्र आर्य’ नामक एक यूजर ने एक पोस्ट साझा किया है | पोस्ट के साथ एक तस्वीर साझा की गई है जिसमे आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री तथा YSR कांग्रेस पार्टी के प्रमुख वाय. एस. जगनमोहन रेड्डी तथा स्वामी स्वरूपानंदरेन्द्र सरस्वती महर्षि व अन्य लोग नदी के पानी में खड़े होकर कोई धार्मिक विधि करते हुए दिखाई दे रहे है | पोस्ट के विवरण में लिखा है-

सोनिया गांधी की वजह से #वाईएस_राज_शेखर_रेड्डी ने धर्म परिवर्तन करके #ईसाई_धर्मअपना लिया था।
अब मोदी जी के प्रभाव में उनके पुत्र #जगन_मोहन_रेड्डी ने घर वापसी करके #हरिद्वार में पुनः #हिंदू_धर्म को अपना लिया | 

वाय एस जगनमोहन रेड्डी के नेतृत्व में YSR कांग्रेस पार्टी ने हाल ही में हुए लोकसभा चुनाओं में आंध्र प्रदेश में काफी अच्छा प्रदर्शन किया है | उनके राजकीय व्यवहार से समय समय पर यह प्रतीत होता रहता है कि, उनका झुकाव प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की ओर है | ऐसे मोड़ पर उपरोक्त पोस्ट में यह दावा किया जा रहा है कि, मोदी के प्रभाव में आकर उन्होंने हरिद्वार जाकर फिर से हिन्दू धर्म में प्रवेश किया | आपको बता दें कि, जगन मोहन रेड्डी के पिता वाय. एस. राजशेखर रेड्डी के समय से उनका परिवार ख्रिश्चन धर्म को मानता है | तो क्या सच में मोदी के प्रभाव से जगन मोहन रेड्डी ने फिर से हिन्दू धर्म अपनाया ? आइये जानते है इस दावे की सच्चाई |   

ARCHIVE POST

संशोधन से पता चलता है कि…

हमने सबसे पहले पोस्ट में साझा फोटो को रिवर्स इमेज सर्च किया तो यांडेक्स सर्च से हमें जो परिणाम मिले, वह आप नीचे देख सकते है |

इस सर्च से हमें श्री शारदा पीठम का एक लिंक मिला, जिसकी फोटो गैलरी की पोस्ट में उपरोक्त साझा तस्वीर मौजूद है | यही नहीं, इस गैलरी में इसी तरह की और दूसरी भी कई तस्वीरें है, जिससे की यह अनुमान लगाया जा सकता है कि, यह किसी धार्मिक विधि की तस्वीरें है |

ARCHIVE GALLERY

लेकिन यह स्पष्ट नहीं होता कि, यह तस्वीरें वाकई जगनमोहन रेड्डी के हिन्दू धर्म में वापिस आने के विधि की है या नहीं | गैलरी की हैडलाइन में अंग्रेजी में केवल यही लिखा है की- YS JAGAN MOHAN REDDY Visits Swamiji at Rushikesh. तो इन्ही शब्दों का की वर्ड्स के रूप में इस्तेमाल कर हमने गूगल में अलग से सर्च किया तो हमें जो परिणाम मिले, वह आप नीचे देख सकते है |

इस सर्च से हमें यू-ट्यूब का एक विडियो मिला | ‘साक्षी टीवी’ द्वारा १० अगस्त २०१६ को अपलोड किये गए इस विडियो के शीर्षक में लिखा है कि, वाय एस जगन ने ऋषिकेश में आन्ध्र प्रदेश को विशेष दर्जा मिलने के लिए ‘होमं’ विधि किया | इस विडियो में पांच मिनट के बाद जगनमोहन तथा स्वामी स्वरूपानंदरेन्द्र सरस्वती महर्षि व अन्य लोग नदी में प्रवेश करते हुए दिखाई देते है | इसके बाद स्वामीजी जगनमोहन के हाथ में कुछ वस्तुएं रखकर कोई मंत्र जाप करते हुए सुनाई देता है | इसी क्षण की तस्वीर उपरोक्त पोस्ट में साझा की गई है |

आप यह विडियो नीचे देख सकते है |

१० अगस्त २०१६ को ‘hmtv News’ चैनल द्वारा भी यही खबर का विडियो अपलोड किया गया है, जो कि आप नीचे देख सकते है |

इसी संशोधन के वक्त हमें ‘NEWS 18’ का एक ट्वीट मिला | इस ट्वीट में एक विडियो दिया गया है | विडियो में जगन मोहन एक इंटरव्यू में यह कहते है कि, वह गॉड को मानते है और हर रोज बायबल पढ़ते है |  

ARCHIVE TWEET

इससे यह पता चलता है कि, जगन मोहन रेड्डी ख्रिश्चन धर्म में ही अपनी आस्था रखते है | उन्होंने फिर से हिन्दू धर्म अपनाया यह बात बिलकुल गलत है | उपरोक्त पोस्ट में साझा किया गया फोटो उस समय का है, जब जगन मोहन ने २०१६ में आंध्र प्रदेश को विशेष दर्जा हासिल होने के लिए ऋषिकेश में होम किया था |  

जांच का परिणाम :  इस संशोधन से यह स्पष्ट होता है कि, उपरोक्त पोस्ट में किया गया दावा कि, “सोनिया गांधी की वजह से  वाईएस राजशेखर रेड्डी ने धर्म परिवर्तन करके  ईसाई धर्म अपना लिया था। अब मोदी जी के प्रभाव में उनके पुत्र  जगन मोहन रेड्डी  ने घर वापसी करके हरिद्वार में पुनः हिंदू धर्म को अपना लिया | ” बिलकुल गलत है | जगनमोहन रेड्डी ख्रिश्चन है व उन्होंने हिन्दू धर्म को फिर से नहीं अपनाया |

Avatar

Title:क्या आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री जगन मोहन रेड्डी ने फिर से हिन्दू धर्म अपना लिया ?

Fact Check By: Rajesh Pillewar 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply