कथित काल्पनिक विधायक अनिल उपाध्याय के नाम से फिर से फैलाया जा रहा है फर्जी वीडियो|

False Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

सोशल मीडिया पर पूर्व से ही एक काल्पनिक चरित्र जो कि कथित तौर पर एक विधायक हैं और जिनको सुविधा अनुसार समय समय पर अलग अलग राजनीतिक पार्टियों के साथ जोड़ कर फर्जी दावे फैलाये जाते रहें हैं, वर्तमान में भी एक वीडियो जिसमें हम एक व्यक्ति को कांग्रेस विरोधी बयान देते हुये देख सकते हैं, इस व्यक्ति को कांग्रेस विधायक अनिल उपाध्याय बताया जा रहा है जो कि  अपनी ही पार्टी के खिलाफ बयान दे रहा है, वीडियो में व्यक्ति सी.ए.ए विरोधी प्रतिवाद और इससे संबंधित हिंसा के लिए कांग्रेस को दोषी ठहरा रहा है | इस वीडियो को ३१००० बार से ज्यादा शेयर किया गया है |

पोस्ट के शीर्षक में लिखा गया है कि “कांग्रेस विधायक अनिल उपाधाय अनजाने में कह गया पर सही बोल दिया इस VIDEO को इतना वायरल करो कि ये पुरा हिदुस्तान देख सके|”

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक 

अनुसंधान से पता चलता है कि….

जाँच की शुरुवात हमने इस वीडियो को ध्यान से देखने से की, जिसके परिणाम से हमें माइक पर “द न्यूज़पपेर” का लोगो नज़र आया, तद्पश्चात हमने इस वीडियो को यूट्यूब पर संबंधित कीवर्ड्स से ढूँढा जिसके परिणाम से हमें इस वीडियो का लंबा वर्शन द न्यूज़पेपर के यूट्यूब चैनल पर उपलब्ध मिला | इस वीडियो को ४ मार्च २०२० को अपलोड किया गया था | इस वीडियो के शीर्षके में लिखा गया है कि “Rahul Gandhi पर प्रोफेसर ने ऐसा क्या कहा कि लोगों ने गोद में उठा लिया | दिल्ली |” वीडियो में हम “द न्यूज़पेपर” को इस आदमी का इंटरव्यू लेते हुए देख सकते है | इस वीडियो में यह कही भी उल्लेख नही किया गया है कि यह व्यक्ति कांग्रेस के विधायक है या फिर इनका नाम अनिल उपाध्याय है  |

फैक्ट क्रेसेंडो ने “द न्यूज़पेपर” से संपर्क किया जिन्होंने हमें बताया कि “सोशल मीडिया पर चल रहे दावे गलत है | वीडियो में दिख रहे व्यक्ति कांग्रेस के विधायक अनिल उपाध्याय नही है बल्कि विनय सिंह है जिन्हें छोटे ठाकुर के नाम से भी जाना जाता है | उन्होंने इस साल दिल्ली चुनाव में पटपरगंज क्षेत्र से जनशक्ति पार्टी (राष्ट्रीय) की तरफ से चुनाव लड़ा था | वे एक प्रोफेसर है और डीएनए वर्कशॉप आयोजित करते हैं |”

इसके बाद हमने कीवर्ड्स के माध्यम से विनय सिंह को गूगल पर ढूँढा जिसके परिणाम से हमें विनय सिंह की तस्वीर मिली, तस्वीर में दिख रहे व्यक्ति व वीडियो में दिख रहा शख्स एक ही है|

हमें MyNeta.info के वेबसाइट का लिंक मिला | हमने MyNeta डेटाबेस पर खोजा तो पाया की अनिल उपाध्याय नाम का कोई कांग्रेस विधायक नहीं है | इसी नाम से दो व्यक्तियों का प्रोफाइल हमें मिला | पहला- जोधपुर के एक बीएसपी नेता डॉ अनिल उपाध्याय, जिन्होंने २०१८ में राजस्थान से चुनाव लड़ा था | दूसरा प्रोफाइल लखनऊ से निर्दलीय उम्मीदवार अनिल कुमार उपाध्याय, जिन्होंने २००७ और २०१२ में उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव लड़ा था |

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया | सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो कांग्रेस के विधायक अनिल उपाध्याय का नहीं है बल्कि जनशक्ति पार्टी के सदस्य विनय सिंह का है | अनिल उपाध्याय एक काल्पनिक चरित्र है जिसे अलग अलग समय पर फर्जी खबर फ़ैलाने के लिए इस्तेमाल किया जाता रहा है |

Avatar

Title:कथित काल्पनिक विधायक अनिल उपाध्याय के नाम से फिर से फैलाया जा रहा है फर्जी वीडियो|

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •