इस महिला पर बच्चा अपहरणकर्ता होने का गलत आरोप लगाया जा रहा है |

False Social
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

१९ अगस्त २०१९ को “Dhiraj Gupta नामक एक फेसबुक यूजर ने एक विडियो पोस्ट किया, जिसके शीर्षक में लिखा गया है कि “मेहंदी गंज में बच्चा चोर महिला ने मेहंदी गंज से बच्चा ले कर भाग रही थी इसी बीच में शोर होने पर सभी ने उसे पकड़ने में सफल हुआ उस महिला से पूछ टाछ करने पर पता चला कि पैसा लेकर बच्चा चोरी करती है और उसके पति के पास दो और बच्चा की जानकारी मिला है इसमें पुलिस छान बीन कर रही है” | 

विडीयो में एक महिला को एक पुलिस अधिकारी ले जाता हुआ दिखता है, और उनके साथ लोगों की भीड़ चल रही है, दावा किया जा रहा है कि यह महिला मेहंदीगंज में किसी के बच्चे को उठाकर भाग रही थी, और लोगों द्वारा उसे पकड़ा गया है | 

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव विडियो 
अनुसंधान से पता चलता है कि..

जाँच की शुरुआत हमने इस विडियो के जुडी खबर को गूगल पर “मेहंदीगंज में एक महिला को बच्चा चोर पिटाई” इन की-वर्ड्स के माध्यम से ढूँढा, परिणाम से हमें १९ अगस्त २०१९ को जागरण द्वारा प्रकाशित खबर मिली, जिसके शीर्षक में लिखा गया है कि “बच्चा चोरी के अफवाह में महिला को पीटा, पुलिस ने बचाया” | खबर के अनुसार मेहंदीगंज थाना क्षेत्र में रविवार की देर शाम नागरिकों ने एक महिला को बच्चा चोर समझकर पिटाई की, इस प्रकरण की सूचना मिलने पर मेहंदीगंज पुलिस द्वारा महिला को थाने लाया गया व पूछताछ की गई |

आर्काइव लिंक

न्यूज़ सिटी नामक एक वेबसाइट ने भी इसी खबर को प्रकाशित किया है | इस खबर में आप पीड़ित महिला की तस्वीर भी देख सकते है |

आर्काइव लिंक 

इसके पश्चात इस घटना के बारें में अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए हमने पटना के एसडीपीओ सिटी से संपर्क किया, उन्होंने हमें बताया कि “यह घटना लगभग एक हफ्ता पुरानी है, यह औरत कोई बच्चा चोर नही है, वह अपना रास्ता भूल गयी थी जिसके कारण उसने रात को किसी के घर का दरवाजा खटखटा कर स्टेशन का रास्ता पूछा, जिसके चलते लोगों को संदेह हुआ की वह बच्चा चोर है और उसे इस वजह से पीटने लगे |” 

यह पूछे जाने पर कि क्या महिला मानसिक रूप से बीमार थी, अधिकारी ने कहा कि उनकी मानसिक-बीमारी की पुष्टि करना उनका काम नहीं था, परंतु उस औरत को नाम, पता बोलने में तकलीफ हो रही थी, वे बार बार अपना उत्तर बदल रही थी, हालाँकि हमारे द्वारा ये पूर्ण रूप से स्थापित किया गया है कि वह बच्चा अपहरणकर्ता नहीं है | 

निष्कर्ष: तथ्यों के जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | विडियो में दर्शाई गयी महिला बच्चा चोर नही है | वह अपना रास्ता भटकने के कारण लोगों के घरों का दरवाजा खटखटाकर स्टेशन का रास्ता पुछ रही थी |

Avatar

Title:इस महिला पर बच्चा अपहरणकर्ता होने का गलत आरोप लगाया जा रहा है |

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False

बच्चा चोरी पर अन्य फैक्टचेक – 

1. इस मानसिक रूप से अस्वस्थ व्यक्ति का विडियो बच्चा चोर के नाम से सोशल मीडिया पर फैलाया जा रहा है |
2. चंदा इकट्टा करने वालें दो बहरूपिये की तस्वीर को बच्चा चोर के नाम से फैलाया जा रहा है |
3. इटावा में एक मानसिक रूप से अस्वस्थ व्यक्ति को बच्चा चोर होने के दावे के साथ फैलाया जा रहा है |


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •