वीडियो का AAP से कोई सम्बन्ध नहीं है |

False National Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

एक वीडियो जिसमें दो राजनेताओं को एक-दूसरे को पीटते हुए दिखाया गया है को सोशल मीडिया पर इस दावे के साथ साझा किया जा रहा है कि दोनों राजनेता आम आदमी पार्टी (आप) के हैं और पार्टी की बैठक के दौरान लड़ते हुए देखे गए थे |

फैक्ट क्रेसेंडो के व्हाट्सऐप नंबर 9049053770 पर इसी वीडियो की सत्यता जाँचने के लिए भेजा गया | सोशल मीडिया उपयोगकर्ताओं का दावा है कि यह घटना ६ मार्च २०२० से है जब आम आदमी पार्टी के सदस्य बैठक में एक दुसरे को जूते से पीटने लगे थे | दावा किया जा रहा है कि जूता बरसाने वाले शख्स आप के नेता और राज्यसभा सांसद संजय सिंह हैं | जबकि जूता खाने वाले शख्स आम आदमी पार्टी के ही एक विधायक है | वीडियो के शीर्षक में लिखा गया है कि ‘आज ६ मार्च २०२० को झाड़ू की मीटिंग चल रही थी और संजय सिंह ने अपने विधायक को जूते से पीटा उसके बाद तो विधायक जी ने संजय सिंह का अच्छी तरह जूते से तेल पानी कर दिया |’

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक 

इस वीडियो को फेसबुक पर काफी तेजी से साझा किया जा रहा है |

अनुसंधान से पता चलता है कि…

जाँच की शुरुवात हमने इस वीडियो को बारीकी से देखने से की, इस बैठक के पीछे लगे हुए बैनर में लिखा गया है कि “जिला योजना समिति जनपथ- संत कबीर नगर, दिनांक- ०६.०३.२०१९ |”

इसके पश्चात हमने यूट्यूब पर संबंधित कीवर्ड्स के माध्यम से सर्च किया, जिसके परिणाम में हमें ६ मार्च २०१९ को हिंदुस्तान टाइम्स द्वारा प्रसारित एक खबर मिली | इस खबर के शीर्षक में लिखा गया है कि “यूपी में एक बैठक के दौरान भाजपा विधायक, सांसद ने एक-दूसरे को जूते, थप्पड़ मारे |” खबर के मुताबिक संत कबीर नगर से भाजपा सांसद शरद त्रिपाठी और मेहदावल से विधायक राकेश बघेल एक नवनिर्मित सड़क का श्रेय लेने के लिए मौखिक लड़ाई में उलझ गए |

६ मार्च २०१९ को लाइव हिंदुस्तान ने अपने यूट्यूब चैनल पर इस खबर को प्रसारित किया था | खबर के मुताबिक “कलेक्ट्रेट में योगी सरकार में मंत्री आशुतोष टंडन की अगुआई में बुधवार को जिला कार्ययोजना समिति की बैठक हुई | इस दौरान शिलापट में नाम न होने को लेकर भाजपा विधायक राकेश बघेल और भाजपा सांसद शरद त्रिपाठी में विवाद हो गया | स्थिति ये हो गई कि सांसद त्रिपाठी ने विधायक बघेल को जूते से पीट दिया |”

निष्कर्ष: तथ्यों के जाँच के पश्चात् हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | यह वीडियो सोशल मीडिया पर गलत दावे के साथ फैलाया जा रहा है | इस वीडियो के साथ आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह का नाम गलत तरीके से जोड़ा गया है जबकि  ये दोनों भाजपा नेता हैं और ये घटना दो साल पहले उत्तर प्रदेश की है |

Avatar

Title:वीडियो का AAP से कोई सम्बन्ध नहीं है |

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •