२०१८ से सीरिया की तस्वीर को दिल्ली हिंसा में घायल बच्चे के नाम से फैलाया जा रहा है |

False National Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

सोशल मीडिया पर एक खून से लथपथ एक ज़ख़्मी बच्चे की तस्वीर वायरल करते हुए दावा किया जा रहा है कि यह तस्वीर दिल्ली हिंसा में घायल बच्चे की है, दावे के अनुसार एक छोटे बच्चे को दंगाइयों ने पीटकर इस तरह ज़ख़्मी कर दिया गया है | 

फेसबुक पोस्ट 

अनुसंधान से पता चलता है कि..

जाँच की शुरुवात हमने इस तस्वीर का स्क्रीनशॉट लेकर गूगल रिवर्स इमेज सर्च करने से की, जिसके परिणाम में हमें गेटी इमेजेज द्वारा अपलोड की गयी हुबहू तस्वीर मिली | इस तस्वीर के विवरण में लिखा गया है कि यह तस्वीर २१ फरवरी २०१८ की है | सीरियाई सरकारी बमबारी के बाद राजधानी डमासकस के बाहरी इलाके में पूर्वी घौता क्षेत्र के कफ्र बटना में मेक-शिफ्ट अस्पताल में इलाज के लिए एक घायल सीरियाई लड़का इंतजार कर रहा था | इस तस्वीर को AFP के फोटोग्राफर अमेर अल्मोहीबनी ने खींचा था | 

Embed from Getty Images

आर्काइव लिंक 

हमें एक्सप्रेस यूके की वेबसाइट पर भी उपरोक्त फोटो का इस्तेमाल करते हुए एक खबर मिली | वहां उसे सीरिया में एक घायल लड़का कहा गया है | इस तस्वीर के विवरण में लिखा गया है कि खून से लथपथ एक घायल सीरियाई लड़का मेक शिफ्ट अस्पताल में इलाज कराने के लिए इंतजार कर रहा था | फोटो- AFP/गेटी |”

आर्काइव लिंक 

निष्कर्ष: तथ्यों के जाँच के पश्चात हमें उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | यह तस्वीर दिल्ली के दंगों में घायल बच्चे की नही है बल्कि २०१८ में यह बच्चा सीरिया में घायल होने के बाद मेक शिफ्ट अस्पताल में इलाज़ के लिए इंतज़ार कर रहा था | यह तस्वीर २०१८ से है और दिल्ली हिंसा से इस तस्वीर का कोई संबंध नही है |

Avatar

Title:२०१८ से सीरिया की तस्वीर को दिल्ली हिंसा में घायल बच्चे के नाम से फैलाया जा रहा है |

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •