7 साल पुराने वीडियो को इजरायल द्वारा अल अक्सा पर हुए हमला के नाम से फैलाया जा रहा है |

False International
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

इजराइल और फिलिस्तीन के बीच कई दिनों से तनाव का माहौल जारी है, दोनों ही तरफ से एक दूसरे के ऊपर रॉकेट से हमले किए जा रहे हैं व इस खूनी संघर्ष में कई लोगों की जान जा चुकी है | मौजूदा हो रहे हमलों का केंद्र यरुशलम में मौजूद अल-अक्सा मस्जिद और इसके आस-पास के इलाके हैं |

इन्हीं सब के बीच एक वीडियो सोशल मीडिया पर व्यापक रूप से वायरल हो रहा है जिसे साझा करते हुये ये दावा किया जा रहा है कि इस्लाम में तीसरी सबसे पवित्र जगह मानी जाने वाली अल-अक्सा मस्जिद को इजराइल ने तबाह कर दिया है | वीडियो की शुरुआत में एक गुंबदनुमा इमारत देखी जा सकती है जिसपर अचानक कुछ सेकेंड के बाद जोरदार धमाका होता है जिससे इमारत ध्वस्त हो जाती है |

पोस्ट के शीर्षक में लिखा गया है कि 

मक्का और मदीना के बाद इस्लाम में अल अक्शा तीसरी सबसे पवित्र मस्जिद मानी जाती थी जोकि इजरायल द्वारा तोड़ दी गई |”

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक

यह वीडियो फेसबुक पर भी काफी तेजी से वायरल हो रहा है |

अनुसंधान से पता चलता है कि…

जाँच की शुरुवात हमने इस वीडियो को इन्विड वी वेरीफाई टूल की मदद से छोटे कीफ्रेम्स में तोड़कर व यांडेक्स पर रिवर्स इमेज सर्च करके की जिसके परिणाम से हमें इस वीडियो से संबंधित दो न्यूज़ रिपोर्ट मिले जिन्हें जून २०१४ में प्रकाशित किया गया था |

ईरानी न्यूज एजेंसी “ABNA 24” और “CNN Turk”  के अनुसार इमारत को इस्लामिक स्टेट के आतंकियों ने धमाका करके गिरा दिया था | ये इमारत सीरिया के रक्का में स्थित एक मकबरा था जिसे इस्लामिक स्टेट ने ध्वस्त कर दिया था | ये मकबरा इस्लाम में एक प्रमुख धार्मिक व्यक्ति माने जाने वाले वेसेल करानी का था | इन आतंकी हमलों के चलते उस समय ऐसे कई और भी वीडियो सोशल मीडिया पर आए थे जिनमें इस्लामिक स्टेट के आतंकी इराक और सीरिया के प्राचीन पुरातात्विक स्थलों को तोड़ते या तबाह करते नजर आते थे | 

आर्काइव लिंक | आर्काइव लिंक

इससे संदर्भित कीवर्ड सर्च करने पर हमें ‘मिंट’ द्वारा प्रसारित एक यूट्यूब वीडियो मिला जिसमें ये वीडियो भी मौजूद है | इस वीडियो के शीर्षक में लिखा गया है कि “५ प्राचीन स्थलों को ISIS ने नष्ट किया | 90 सेकंड में |”

इजराइल और फिलिस्तीन के बीच क्यों चल रहा संघर्ष?

इजराइल और फिलिस्तीन के बीच की ये दुश्मनी दशकों पुरानी है | मुख्य तौर पर इस विवाद का कारण यरुशलम की पवित्र जमीन है, जिस पर इजराइल और फिलिस्तीन अपना-अपना दावा करते हैं | बीबीसी की एक खबर के मुताबिक, शनिवार को हजारों मुस्लिम लोग अल-अक्सा मस्जिद के दमस्कस गेट पर रमजान की सबसे पवित्र रात को प्रार्थना के लिए जुटे थे | इजरायल पुलिस ने इन लोगों को रोकने की कोशिश की और इसी के बाद से तनाव बढ़ गया | अल-अक़्सा मस्जिद परिसर पुराने यरुशलम शहर में स्थित है | इस स्थल को मुसलमानों की सबसे पवित्र जगहों में से एक माना जाता है | साथ ही, इस जगह पर यहूदियों का पवित्र माउंट मंदिर भी मौजूद है | फिलिस्तीनियों और यहूदियों के बीच झड़प अक्सर इसी जगह होती है |

निष्कर्ष: तथ्यों की जांच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो आतंकी संगठन द्वारा अल अक्सा मस्जिद पर विस्फोट का नहीं है बल्कि यह वीडियो २०१४ में सीरिया में आईसीस द्वारा किये गये विस्फोट का है | वायरल वीडियो 7 साल पुराना है |

Avatar

Title:7 साल पुराने वीडियो को इजरायल द्वारा अल अक्सा पर हुए हमला के नाम से फैलाया जा रहा है |

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •