शिवराज सिंह चौहान का शिक्षकों के सिर पर पैर रखने का बयान अधूरा; जानिए वायरल वीडियो का सच 

Missing Context Political

वायरल वीडियो अधूरा है; शिवराज चौहान ने तुरंतही अपना बयान सुधार लिया था।

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का १५ सेकंड का वीडियो सोशल मीडिया पर काफी तेजी से फ़ैल रहा है । इस वीडियो में शिवराज सिंह चौहान एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहते है कि “मैं सरकारी स्कूल में पढ़ा, भोपाल में भी सरकारी स्कूल में ही पढ़ा। हमारे गुरूजी आज भी वो हैं, श्रद्धेय रतनचंद जैन; मैं जाता था उनके सिर पर हम सभी पैर रखते थे।” 

उनके इस बयान का वीडियो लोग शेअर कर उनका मजाक उड़ा रहे है। 

इस वीडियो को मध्य प्रदेश कांग्रेस के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से शेयर किया गया है । पोस्ट में उन्होंने लिखा है कि “ये अपने गुरूजी के सिर पर पैर रखते थे। वाह ! शिवराज, एक नंबरी लफ़्फ़ाज़।“

कांग्रेस पार्टी से जुड़े नरेंद्र सलूजा ने ट्विटर पर वीडियो शेयर करते हुए लिखा,’मामाजी शिक्षकों के बीच आप यह क्या कह गये….?’

आर्काइव लिंक 

आर्काइव लिंक 

इस वीडियो को फेसबुक पर भी शेयर किया जा रहा है । 

फेसबुक पोस्टआर्काइव लिंक 

अनुसन्धान से पता चलता है कि….

यूट्यूब पर एक कीवर्ड सर्च करने पर हमें पूरा वीडियो ओड़िसा टीवी के यूट्यूब चैनल पर मिला । 

ओड़िसा टीवी के वीडियो में 23 सेकंड के टाइमस्टैम्प पर हम मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को कहते हुए सुन सकते है कि ‘सदैव ही, उनका आशीर्वाद लेने के लिए हम अपने सिर को उनके पैरों पर सदैव ही रखते थे.’ 

मूल वीडियो शिवराज सिंह चौहान के ओफ़िशिअल ट्विटर अकाउंट पर भी है। ये वीडियो 1 घंटा 27 मिनट लंबा है और वायरल वीडियो का हिस्सा 41 मिनट 14 सेकंड से आगे सुना जा सकता है। 

वायरल वीडियो में उनके द्वारा कहे गए बयान को सुधारते हुए वो कहते है कि ‘सदैव ही, उनका आशीर्वाद लेने के लिए हम अपने सिर को उनके पैरों पर सदैव ही रखते थे.’ 


नीचे आप वायरल वीडियो और मूल वीडियो की तुलना देख सकते है । मूल वीडियो को देखकर ये स्पष्ट हो जाता है कि शिवराज सिंह चौहान ने उनके द्वारा कहे गए व्यक्यों को सुधारते हुए अपनी बात आगे कही ।

ये वीडियो भोपाल में 4 सितंबर 2022 को आयोजित ‘नवनियुक्त शिक्षकों का प्रशिक्षण कार्यक्रम’ में मुख्यमंत्री मध्यप्रदेश के शिक्षकों को सम्बोधित करते वक़्त का है ।

निष्कर्ष:

तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने पाया कि वायरल वीडियो अधूरा है और मूल वीडियो में शिवराज चौहान ने खुद को सुधारते हुए कहा कि वो अपने गुरू के पैरों पर सर रखते थे।

Avatar

Title:शिवराज सिंह चौहान का शिक्षकों के सिर पर पैर रखने का बयान अधूरा; जानिए वायरल वीडियो का सच 

Fact Check By: Drabanti Ghosh 

Result: Missing Context