ये वीडीयो पुराना है और हाल में हुये सऊदी अरब ड्रोन ब्लास्ट से सम्बंधित नहीं हैं|

False International Social
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

१७ सितंबर २०१९ को “Pritpal Singh Hanjra” नामक एक यूजर ने एक वीडियो पोस्ट कर ये दावा किया कि, ये वीडियो २०१९ सऊदी अरब “अरामको रिफाइनरी विस्फोट” का है | इस वीडियो में श्रमिकों को प्लांट में प्रवेश करते व एक ट्रक को परिसर में ड्राइव करते देखा जा सकता है| जैसे ही यह ट्रक आगे बढ़ता है उसी वक़्त हम CCTV स्क्रीन में ऊपरी बाएं कोने में एक विस्फोट होते देख सकते है | एक कार जो ट्रक के पीछे थी, वह अपने रास्ते पर रुक जाती है क्योंकि आग तेजी से पूरे परिसर में फ़ैल जाती है | उसी वीडियो की एक दूसरी क्लिप में श्रमिकों को प्लांट से भागने की कोशिश करते हुए देखा जा सकता है| इस वीडियो को सोशल मीडिया पर तेजी से साझा करते हुए दावा किया जा रहा है कि यह वीडियो साउदी अरब के अरामको तेल रिफाइनरी में हुए विस्फोट का है | अरामको आधिकारिक तौर पर सऊदी अरब की तेल कंपनी है, सऊदी अरब की राष्ट्रीय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस कंपनी है, जो ढहरान, सऊदी अरब में स्थित है |

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक 

अनुसंधान से पता चलता है कि…

जाँच की शुरुआत हमने वीडियो को इन्विड टूल का इस्तेमाल कर छोटे कीफ्रेम्स में तोड़कर व गूगल रिवर्स इमेज कर के की, जिसके परिणाम से हमें रेडडिट की वेबसाइट पर एक यूट्यूब वीडियो मिला जिसे १ जनवरी २०१३ को अपलोड किया गया था | इस वीडियो के शीर्षक में लिखा गया है कि “रेनोसा मेक्सिको में टर्मिनल पर गैस विस्फोट (सीसीटीवी)” | वीडियो के विवरण में लिखा गया है कि “गैस टर्मिनल रेनोसा तमुलिपास मेक्सिको पर अद्भुत विस्फोट सीसीटीवी पर रिकॉर्ड हुआ” |

इसके पश्चात हमने “Mexico Reynosa gas blast” कीवर्ड्स का इस्तेमाल करते हुए गूगल सर्च किया, परिणाम से १९ सितंबर २०१२ को बीबीसी द्वारा प्रकाशित खबर मिली, जिसके अनुसार १८ सितम्बर २०१२ को मेक्सिको के पेमेक्स गैस प्लांट में विस्फोट हुआ था, यह गैस प्लांट रेनोसा में स्थित है | इस विस्फोट में २६ लोगों की मौत हुई थी |

आर्काइव लिंक 

इस खबर को कई अन्य मीडिया संगठनों ने भी प्रकाशित किया था जिसे आप नीचे पढ़ सकते है |

Hazardexonthenetआर्काइव लिंक 
Wswsआर्काइव लिंक 
CNNआर्काइव लिंक 

हमें इस घटना का एक और यूट्यूब वीडियो भी मिला | वीडियो अगस्त, २०१४ में अपलोड किया गया था और इसके शीर्षक में लिखा गया है कि “२०१२ गैस प्लांट विस्फोट मेक्सिको” |

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | २०१२ को मैक्सिको में एक नेचुरल गैस प्लांट पर हुये एक विस्फोट के वीडियो को, सऊदी अरब में अरामको प्लांट पर हाल में हुये ड्रोन हमले के रूप में साझा किया गया है |

Avatar

Title:ये वीडीयो पुराना है और हाल में हुये सऊदी अरब ड्रोन ब्लास्ट से सम्बंधित नहीं हैं|

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •