इंदौर में लड़की को चाकू की नोक पर धमका रहा शख्स मुस्लिम नहीं है।

Communal Partly False

इंदौर में लड़की को चाकू दिखाकर धमका रहा शख्स मुस्लिम नहीं, बल्की हिंदू है। इस बात की पुष्टि एम.आई.जी पुलिस थाना प्रभारी ने की है।

हाल ही में इंदौर का एक वीडियो इंटरनेट पर काफी तेज़ी से वायरल किया जा रहा है। उसमें आप एक शख्स को एक लड़की को चाकू दिखाकर धमकाते हुये देख सकते है। वह लड़की डर के मारे चीख रही है व उसके साथ मौजूद दूसरी लड़की उसको बचाने की कोशिश कर रही है। दावा किया जा रहा है कि यह लव जिहाद के चलते मुस्लिम लड़का हिंदू लड़की को धमका रहा है।

वायरल हो रहे वीडियो के साथ यूज़र ने लिखा है,“यह देखो लव जिहादी हिंदू बच्चियों को केसे डरा धमका कर अपने जाल में फंसाते हैअगर किसी भी बच्ची को कोई भी इस प्रकार से धमकाए तो डरने की जरूरत नही है तुरंत अपने घर वालो को जानकारी देकर पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराए*तो यह लोग अपने मकसद में कामयाब नही हो पाएंगे।” 

फेसबुक 

आर्काइव लिंक 


Read Also: दिल्ली के सोनिया विहार में एक ही परिवार के दो भाइयों के बीच हुई लड़ाई को सांप्रदायिक रंग देकर वायरल किया जा रहा है।


अनुसंधान से पता चलता है कि…

इसकी जाँच हमने यूट्यूब पर कीवर्ड सर्च कर की। परिणाम में हमें यही वीडियो टी.वी9 भारतवर्ष के चैनल पर 27 जुलाई को प्रसारित किया हुआ मिला। उसमें दी गयी जानकारी में बताया गया है कि यह घटना मध्य प्रदेश के इंदौर की है। पीयूष कछावा नामक युवक वीडियो में दिख रही युवती से शादी करना चाहता था, लेकिन लड़की ने इस बात के लिये राज़ी नहीं हुई। इसलिये वह उसे चाकू दिखाकर डरा रहा था। वहाँ खड़े लोगों ने इस घटना का वीडियो लिया और यह सोशल मीडिया पर वायरल हो गयी। इसके बाद पुलिस ने उस आरोपी को अवैध हथियार रखने के मामले में 25 आर्म्स एक्ट के तहत गिफ्तार कर लिया।

आर्काइव लिंक

आगे बढ़ते हुये हमें न्यूज़ 18 हिंदी की वेबसाइट पर इस बारें में और जानकारी मिली। उसमें बताया गया है कि यह मामला इंदौर के एम.आई.जी थाना इलाके का है। रिपोर्ट के मुताबिक उस युवती ने पुलिस से इस घटना की शिकायत नहीं की। पुलिस ने इस वीडियो के आधार पर खुद ही संज्ञान सेकर इस युवक के खिलाफ मामला दर्ज किया है। आरोपी का नाम पीयूष उर्फ शानू है।

आर्काइव लिंक

उपरोक्त सूबतों में कही भी यह नहीं बताया गया है कि आरोपी युवक मुस्लिम समुदाय से है।

फिर फैक्ट क्रेसेंडो एम.आई.जी पुलिस थाने के थाना प्रभारी अजय वर्मा से संपर्क किया। उन्होंने हमें बताया कि वायरल हो रहा दावा गलत है। इस मामले दोनों भी युवक व युवती हिंदू है। इसका सांप्रदायिकता या लव जिहाद से कोई संबन्ध नहीं है।


Read Also: राजस्थान में हुई हत्या को उत्तर प्रदेश का बता झूठे सांप्रदायिक दावे से जोड़ वायरल किया जा रहा है।


निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने पाया कि वायरल हो रहे वीडियो के साथ किया गया दावा आंशिक रूप से गलत है। इसमें लड़की को चाकू दिखा रहा शख्स मुस्लिम नहीं, हिंदू है।

Avatar

Title:इंदौर में लड़की को चाकू की नोक पर धमका रहा शख्स मुस्लिम नहीं है।

Fact Check By: Samiksha Khandelwal 

Result: Partly False

Leave a Reply