हैंडपंप से पानी भरने पर युवती की पिटाई करने की घटना में आरोपी और पीड़िता दोनों एक ही बिरादरी के है, दावा फर्जी…. 

Communal False

सोशल मीडिया पर एक युवती को बुरी तरह पीटते हुए एक शख्स की तस्वीर तेजी से वायरल हुई है। जिसके साथ दावा किया जा रहा है कि ये घटना फतेहपुर की है। जहां पर हैंडपंप से पानी भरने पर दबंगों ने दलित युवती को पीटा।

वायरल पोस्ट के साथ यूजर ने लिखा है- *दलित लड़की को नल से पानी भरना पड़ा महंगा। दबंगों ने की बुरी तरह से पिटा। इस वायरल वीडियो को देखना न भूलें।

फेसबुकआर्काइव

अनुसंधान से पता चलता है कि…

पड़ताल की शुरुआत में हमने वायरल पोस्ट के बारे में अलग अलग की-वर्ड के साथ सर्च करना शुरु किया। परिणाम में संबंधित हमें दैनिक भास्कर (आर्काइव) की वेबसाइट पर मिली। 2 अप्रेल को प्रकाशित इस खबर के अनुसार फतेहपुर में सरकारी हैंडपंप से पानी भरने के विवाद में दबंगों ने युवती को बुरी तरह पीटा। 

दयाराम पासवान की बेटी गायत्री हैंडपंप से पानी भर रही थी। इस बीच उसका पड़ोसी महिला कौशल्या से विवाद हो गया। इसके बाद कौशल्या के पति जवाहरलाल पासवान ने युवती की पिटाई कर दी।

वीडियो सामने आने के बाद पुलिस ने केस दर्ज कर एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। घटना किशनपुर थाना क्षेत्र के रारी गांव की है। 

मिली जानकारी की मदद लेते हुए हमने आगे की जांच की। इस खबर को यहां, यहां और यहां पर भी देखा जा सकता है। प्रकाशित खबर के अनुसार रारी गांव निवासी दयाराम का आरोप है कि जवाहरलाल के घर के सामने सरकारी हैंडपंप लगा था। जिसमें जवाहरलाल ने मोटर डालकर कब्जा कर लिया था।  

30 मार्च दोपहर को उसकी पुत्री गायत्री देवी हैंडपंप में पानी भरने गई थी। उसी दौरान जवाहरलाल ने पानी भरने से मना कर दिया। इसके बाद जवाहरलाल व गायत्री देवी के बीच कहासुनी शुरू हो गई। कुछ देर बाद जवाहरलाल ने युवती के साथ गाली गलौज शुरू कर दी।

जिस पर युवती ने गाली गलौज करने का विरोध किया तो जवाहरलाल, कौशिल्या, राजरानी व अश्वनी ने मिलकर युवती के साथ मारपीट की। 

शोरगुल सुन युवती के परिजन मौके पर पहुंचे जहां जवाहरलाल युवती के बाल पकड़कर घसीटते हुए बर्बरता पूर्वक पीट रहा था। 

खबरों में कही पर भी दलित अत्याचार के बारे में जिक्र नहीं किया गया है। 

जांच में आगे हमें फतेहपुर पुलिस के आधिकारिक एक्स हैंडल से 1 अप्रैल को अपर पुलिस अधीक्षक का बयान पोस्ट किया मिला। जिसमें जानकारी दी गई है कि सरकारी हैंडपंप पर पानी भरने को लेकर पासवान बिरादरी के दो पक्षों के बीच विवाद हुआ था। दयाराम पासवान की पुत्री के साथ मारपीट की गई थी। केस दर्ज कर आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। 

आर्काइव 

प्रकाशित जानकारी के अनुसार ये घटना किसी जाति हिंसा से संबंधित नहीं है। 

निष्कर्ष- 

तथ्य-जांच के बाद हमने पाया कि, हैंडपंप से पानी भरने के विवाद में एक युवती की पिटाई करने के मामले में आरोपी और पीड़िता दोनों एक ही बिरादरी के हैं।

Avatar

Title:हैंडपंप से पानी भरने पर युवती की पिटाई करने की घटना में आरोपी और पीड़िता दोनों एक ही बिरादरी के है, दावा फर्जी…. 

Written By: Saritadevi Samal 

Result: False