बांगलादशी बॉडी बिल्डर के उसको मिले पुरस्कार को किक मारने के वीडियो को गलत दावे के साथ वायरल किया जा रहा है।

Missing Context Social

यह वीडिया गलत दावे के साथ वायरल हो रहा है। उसने उसको मिले पुरस्कार को इसलिये नहीं स्वीकार किया क्योंकि वह प्रतियोगिता के परिणाम से संतुष्ट नहीं था।

एक वीडियो इंटरनेट पर वायरल हो रहा है। उसमें आप देख सकते है कि एक बॉडी बिल्डर को मेडल पहनाया गया और पुरस्कार दिया गया। स्टेज पर खड़ा एक शख्स उसे हाथ दिखाकर स्टेज पर साइड में खड़े रहने के लिये कह रहा था। जिसके बाद वह बॉडी बिल्डर स्टेज से नीचे उतरा और उसने गले से मेडल निकल कर पुरस्कार को फेंक दिया। दावा किया जा रहा है कि वह बॉडी बिल्डर एस.सी कास्ट का है जिसके चलते उसके साथ भेदभाव किया जा रहा है। उसे उपेक्षित मान कर स्टेज के साइड में खड़े रहने के लिये कहा जा रहा था। और इसी से वो नाराज़ हो गया।  

वायरल हो रहे पोस्ट के साथ यूज़र ने लिखा है,“ये कैसी मानसिकता है। अगर एक SC अगर मेडल जीत गया है तो उसे कोनें मे खड़ा होने कों बोल रहें? ऐसे मनुवादी लोगों कों ऐसे ही किक करते रहो रास्ता ख़ुद रास्ता खोल देगा।“ 

फेसबुक

आर्काइव लिंक

अनुसंधान से पता चलता है कि…

इस वीडियो को देखने पर हमने देखा कि इसमें “We are IFBB” लिखा हुआ है। आप नीचे दी गयी तस्वीर में देख सकते है।

इसको ध्यान में रखकर हमने फेसबुक पर कीवर्ड सर्च किया। हमें यही वीडियो Jonotar TV पर 26 दिसंबर को प्रसारित किया हुआ मिला। उसके साथ दी गयी जानकारी में बताया गया है कि बॉडी बिल्डर ज़ाहिद ने उनको मिले पुरस्कार को नहीं स्वीकारा।

आर्काइव लिंक

इसमें बताया गया है कि बांगलादेशी बॉडी बिल्डर जाहिद हसन शव ने बताया कि फिक्सिंग के चलते उसे दूसरा स्थान दिया गया। उन्होंने कहा कि जिस प्रतियोगी को पहला नंबर मिला उसके फिजिकल एट्रीब्यूट जाहिद हसन शव से बेहतर नहीं है। उन्होंने यह भी कहा कि वे ज्यूरी सदस्यों और बोर्ड का सम्मान करते है, उन्होंने उनको दिये गये पुरस्कार को किक नहीं किया है बल्की बोर्ड में चल रहे भ्रष्टाचार को किक किया है। उनका कहना है कि इस भ्रष्टाचार की वजह से कई युवा उनके सपने पूरे नहीं कर पाते। उन्होंने यह भी कहा कि जब उन्होंने अपनी बात रखने के लिये माइक मांगा तो उन्हें मंच छोड़ने के लिये कहा गया। जिससे उन्होंने खुद को उपेक्षित महसूस करते हुए ऐसा किया।  

26 दिसंबर को प्रकाशित बी.बी.सी न्यूज़ की खबर में बताया गया है कि जाहिद हसन शव को उनकी इस हरकत की वजह से बांग्लादेश बॉडी बिल्डिंग फेडरेशन ने हमेशा के लिये बैन कर दिया है।

आगे की जाँच करने पर हमें बांगलदेश बॉडी बिल्डिंग फेडरेशन के फेसबुक पेज पर उनके आधिकारिक दस्तावेज़ की तस्वीर पोस्ट की हुई मिली जिसमें उन्होंने जाहिद हसन शव के बैन होने की बात भी लिखी है। आप नीचे देख सकते है।

फेसबुक | आर्काइव लिंक

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने पाया कि वायरल हो रहे वीडियो के साथ किया गया दावा गलत है। बांगलादेशी बॉडी बिल्डर को प्रतियोगिता में दूसरा नंबर दिया गया था, जिससे वह संतुष्ट नहीं था, इसलिये उसने उसको मिली भेंट को अस्वीकार कर दिया।

Avatar

Title:बांगलादशी बॉडी बिल्डर के उसको मिले पुरस्कार को किक मारने के वीडियो को गलत दावे के साथ वायरल किया जा रहा है।

Fact Check By: Samiksha Khandelwal 

Result: Missing Context

Leave a Reply