2023 कर्नाटक विधानसभा चुनाव का वीडियो हालिया लोकसभा चुनाव के वोटिंग का बताकर वायरल….

Missing Context Political

एक शख्स द्वारा ईवीएम को जमीन पर पटकने का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से शेयर किया जा रहा है। वीडियो को हालिय़ा लोकसभा चुनाव के मतदान से जोड़ा जा रहा है। वीडियो को शेयर करते हुए दावा किया जा रहा है कि हालिया लोकसभा चुनाव के वोटिंग के दौरान एक शख्स ने PM मोदी पर गुस्सा जाहिर करते हुए ईवीएम को जमीन पर पटक दिया।

वायरल वीडियो के साथ यूजर ने लिखा है- डी अलाइंस अपनी हार की खीझ EVM तोड़कर निकाल रहा है। आप सुप्रीम कोर्ट से भी नक्सली गिरोह को चाँटा पड़ा है। #Election2024

ट्विटरआर्काइव 

आदिवासी समाचार नाम के एक ट्विटर यूजर ने वीडियो शेयर करते हुए लिखा है- भाई ने तो EVM के कर डाले टुकड़े टुकड़े गुस्से में दिमाग खराब मोदी जी के चक्कर में..

अनुसंधान से पता चलता है कि…

पड़ताल की शुरुआत में हमने वायरल वीडियो के स्क्रीनशॉट लिए । स्क्रीनशॉट का रिवर्स इमेज सर्च करने पर वायरल वीडियो की खबर हमें स्टार ऑफ मैसूर (आर्काइव)  नाम के एक न्यूज वेबसाइट पर मिली। खबर में वायरल वीडियो का स्क्रीनशॉट इस्तेमाल किया गया है। यह खबर 12 मई 2023 को अपलोड की गई है। इससे ये स्पष्ट है कि वायरल वीडियो का हालिया लोकसभा चुनाव से कोई संबंध नहीं है। 

प्रकाशित खबर के अनुसार यह घटना 2023 कर्नाटक विधानसभा चुनाव के दौरान की है। एक 48 वर्षीय शिवमूर्ति नाम के शख्स ने ईवीएम कंट्रोल यूनिट को क्षतिग्रस्त कर दिया था। 

विजयनगर पुलिस ने घटना स्थल से शख्स को हिरासत में लिया था। जांच में व्यक्ति के विक्षिप्त (मानसिक रूप से बीमार) होने का संदेह जाहिर किया गया था। वहीं प्रारंभिक पूछताछ के बाद पुलिस ने शख्स को जाने दिया था। निम्न में खबर देखें। 

मिली जानकारी की मदद लेते हुए आगे की जांच करने पर वायरल वीडियो की खबर हमें यहां, यहां औऱ यहां पर भी मिली। 2023 को प्रकाशित इन खबरों के अनुसार 10 मई को कर्नाटक विधानसभा चुनाव के दौरान वोट डालने आए एक व्यक्ति ने ईवीएम को तोड़ डाला। ये घटना चामुंडेश्वरी विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत स्थित हूटागल्ली पोलिंग बूथ की है। 

 व्यक्ति की पहचान 48 वर्षीय शिवमूर्ति के रूप में की गई।

वहीं पुलिसकर्मी मुथुराज द हिंदू (आर्काइव)  की जानकारी के अनुसार, व्यक्ति के मानसिक रूप से विक्षिप्त होने का संदेह था और उस पर IPC की धारा 84 के तहत मामला दर्ज किया गया था । वहीं रिपोर्ट में आगे बताया गया कि आरोपी को जमानत पर रिहा कर दिया गया था।

निष्कर्ष- तथ्य-जांच के बाद हमने पाया कि, वायरल वीडियो हालिया लोकसभा चुनाव के वोटिंग का नहीं है, बल्कि 2023 में कर्नाटक में हुए विधानसभा चुनावों के दौरान का है । वीडियो के साथ किया जा रहा दावा पूरी तरह गलत और भ्रामक है।

Avatar

Title:2023 कर्नाटक विधानसभा चुनाव का वीडियो हालिया लोकसभा चुनाव के वोटिंग का बताकर वायरल….

Fact Check By: Sarita Samal 

Result: Missing context

Leave a Reply