तुर्की में भूकंप के चलते ढहाए गए मस्जिद के वीडियो को चीन में मस्जिद के ध्वस्तीकरण के दावे से वायरल।  

False International

बुलडोज़र से मस्जिद को ध्वस्त किये जाने वाला यह वीडियो चीन का नहीं बल्कि तुर्की के अडाना शहर का है, जब भूकंप से तबाह हुई एक मस्जिद की मीनार को गिराया गया था।

चीन में आए दिन मस्जिदों को ध्वस्त करने और उइगर मुसलमानों पर अत्याचार करने की खबरें आती रहती हैं। इसी संदर्भ में सोशल मीडिया पर बुलडोज़र से एक मस्जिद की मीनार को गिराने का वीडियो काफी तेज़ी से व हो रहा है। वहीं मौजूद एक शख्स इस मंज़र को अपने फ़ोन में कैप्चर कर रहा है। इस वीडियो को यूज़र ने इस दावे के साथ साझा किया है कि, ये वीडियो चीन का है जिसे वहां की सरकार के आदेश पर गिराया गया है। वीडियो को इस कैप्शन के साथ साझा किया जा रहा है…

चीन में मस्ज़िद को धवस्त किया जा रहा है। क्या चीन इस्लामवादियों के साथ उचित व्यवहार कर रहा है। मजे की बात तो ये है कि 56 इस्लामिक देश चुप हैं। 

फेसबुक पोस्टआर्काइव पोस्ट

अनुसंधान से पता चलता है कि…

हमने इस पोस्ट की पड़ताल के लिए स्क्रीनशॉट्स के जरिये तस्वीर का गूगल रिवर्स इमेज सर्च किया। परिणाम में हमें यूट्यूब पर Gazete Duvar की तरफ से एक शॉर्ट्स वीडियो अपलोडेड मिला। ये वीडियो वायरल वीडियो से मेल खा रहा था और इसे दूसरे एंगल से शूट किया गया था। इसके साथ दी गई जानकारी पता चला कि, ये घटना तुर्की के अडाना शहर की है। जब एक मस्जिद की मीनार का डिमोलिशन किया गया था। मस्जिद का नाम ‘Gökoğlu’ बताया गया है। जिसकी मीनार के जमींदोज होते ही आसपास खड़े लोगों को उसके मलबे की चपेट में आते देखा जा सकता है।

मिली जानकारी की मदद से हमने वीडियो से संबंधित रिपोर्ट की खोज की। इस दौरान हमें 26 फरवरी 2023 को तुर्की मीडिया द्वारा प्रकाशित खबर मिली। जिसमें बताया गया है कि 6 फरवरी 2023 को तुर्की के ‘Pazarcık’ और ‘Elbistan’ जिले में तेज भूकंप आया था जिसके बाद कई इमारतें और मस्जिद तबाह हो गए थे। इसे देखते हुए अडाना में स्थित ‘Gökoğlu’ मस्जिद की मीनार के ध्वस्तीकरण का फैसला किया गया था। ताकि किसी को भी आने वाले समय में हादसे का शिकार न होना पड़े। जब मस्जिद की मीनार गिरायी जा रही थी तब मीनार के टुकड़े सड़क पर बिखर गए थें। जिससे वहां मौजूद लोग घायल हो गए थें। हालांकि, इस घटना में किसी के मारे जाने की कोई खबर नहीं थी।

चीन में मस्जिदों का हाल 

हमने बीबीसी की एक रिपोर्ट को देखा। जिसमें अंतरराष्ट्रीय संगठन ह्यूमन राइट्स वॉच की रिपोर्ट के हवाले से यह बताया गया है कि साल 2020 के बाद से चीन के निंगक्सिया क्षेत्र में ही 1300 से अधिक मस्जिदों को या तो बंद कर दिया गया है या फिर उनके इस्तेमाल को बदल दिया गया है। ये रिपोर्ट उत्तर-पश्चिमी चीन के शिनजियांग क्षेत्र में रहने वाले वीगर मुसलमानों के व्यवस्थित रूप से मानवाधिकार हनन और शोषण के बढ़ते सबूतों के बाद आई है।

इसलिए हम स्पष्ट होते हैं कि वायरल वीडियो तुर्की में आए भूकंप में तबाह हुई मीनार को गिराने का है। चीन में मस्जिद गिराने का नहीं।

निष्कर्ष-

तथ्यों के जांच से यह पता चलता है कि वायरल वीडियो जिसमें बुलडोज़र से मस्जिद की मीनार गिरायी जा रही है चीन से नहीं है। यह वीडियो फरवरी 2023 में तुर्की में आये भूकंप के दौरान का है। जब तुर्की के अडाना शहर में एक मस्जिद की मीनार का डिमोलिशन किया गया था।

Avatar

Title:तुर्की में भूकंप के चलते ढहाए गए मस्जिद के वीडियो को चीन में मस्जिद के ध्वस्तीकरण के दावे से वायरल।  

Written By: Priyanka Sinha 

Result: False

Leave a Reply