भाजपा और आर.एस.एस को भारत में सबसे ताकतवर संगठन बताने वाला शख्स पाकिस्तानी स्कॉलर खालिद मेहमूद अब्बासी है व इस वीडियो का अफगानिस्तान या तालिबान से कोई सम्बन्ध नहीं है|

False International
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

१५ अगस्त २०२१ को तालिबान द्वारा अफ़ग़ानिस्तान पर काबिज होने के बाद से २ बार तालिबान द्वारा सरकार बनाने की प्रक्रिया स्थगित की गई थी | इसी क्रम में सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें हम एक शख्स को भाषाण देते हुए सुन सकते है | इस वीडियो में उन्हें बोलते हुए सुना जा सकता है कि हिंदुस्तान में सबसे ताकतवर आरएसएस और बीजेपी हैं, आगे उन्होंने बीजेपी और आरएसएस की तुलना मुगल शासक औरंगजेब (आलमगीर) से भी की है, इस वीडियो को सोशल मीडिया पर साझा करते हुए दावा किया जा रहा है कि भाजपा और आर.एस.एस की तारीफ करने वाले यह व्यक्ति तालिबान के मुख्य सचिव है

पोस्ट के शीर्षक में लिखा गया है कि 

“तालिबान ने यह सिद्ध कर स्वीकार किया कि भारत में RSS और BJP ज्यादा ताकतवर है इस विडियो को देखिए कि तालिबान के मुख्य सचिव ने क्या कहा..गर्व होता हैं RSS पर…जिसकी तुलना मराठा सरदारों से की है। पूरा विडिओ सूने जरूर..।।।”

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक 

यह वीडियो फेसबुक पर काफी तेजी से फैलाया जा रहा है |

अनुसंधान से पता चलता है कि… 

फैक्ट क्रेसेंडो ने शोध कर जाँच में पाया कि वीडियो में भाजपा और आर.एस.एस को ताकतवर बताने वाले शख्स पाकिस्तान स्थित स्कॉलर खालिद मेहमूद अब्बासी है |

जाँच की शुरुवात हमने इस वीडियो को इनविड वी वेरीफाई टूल की मदद से छोटे-छोटे कीफ्रेम्स में तोड़कर व गूगल पर रिवर्स इमेज सर्च करने से किया, जिसके परिणाम में हमें यह वीडियो ६ अगस्त २०२० को NWAA स्टूडियो नामक एक यूट्यूब चैनल पर अपलोड किया गया मिला | इस वीडियो के शीर्षक में लिखा गया है कि “इन्तहा पसंद हिन्दुओं का असल अजेंडा क्या है | खालिद मेहमूद अब्बासी NWAA स्टूडियोज |” इस वीडियो पर लिखा गया है कि इसे १ मार्च २०१९ को रिकॉर्ड किया गया था | यह पूरा यूट्यूब वीडियो १७ मिनट का है | इस वीडियो में हम ५० सेकंड से लेकर १ मिनट २० सेकंड के समय तक में खालिद मेहमूद अब्बासी को भाजपा और आर.एस.एस के बारें में कहते हुए सुन सकते है |

आगे हमने खालिद मेहमूद अब्बासी के बारें में गूगल पर कीवर्ड सर्च कर जानकारी प्राप्त करने की कोशिश की | इस खोज के परिणाम से हमें खालिद मेहमूद अब्बासी के आधिकारिक फेसबुक पेज मिला जिनके अनुसार वे पाकिस्तान के इस्लामाबाद में रहने वाले इस्लामिक स्कॉलर हैं | उन्होंने “शुब्बन उल मुस्लिम” (राजनीतिक इस्लाम के पुनरुद्धार के लिए एक आंदोलन) की स्थापना में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है । वर्तमान में वह “शुब्बान उल मुस्लिम” के लिए शूरा के प्रमुख के रूप में कार्यरत हैं। आगे उनके द्वारा दिए गए विवरण के अनुसार उन्होंने अपने जीवन के ३० साल तंज़ीम-ए-इस्लामी नामक संस्था को दिए हैं |  

उनके फेसबुक पेज पर उनके आधिकारिक यूट्यूब चैनल का लिंक भी उल्लेखित किया गया है | इस यूट्यूब चैनल को खंगालने के पश्चात हमने वायरल हो रहा वीडियो भी प्राप्त हुआ जिसे उन्होंने ३ अगस्त २०२१ को अपलोड किया था | इस वीडियो के ऊपर भी रिकॉर्डिंग की तारिख मार्च २०१९ दी गई है | इस वीडियो के शीर्षक में लिखा गया है कि :हिंदुस्तान में बिगड़ते हालात |

फैक्ट क्रेसेंडो ने खालिद मेहमूद अब्बासी से संपर्क किया जिन्होंने इया बात की पुष्टि की कि वायरल हो रहा वीडियो उन्होंने २०१९ में रिकॉर्ड किया था, इसका अफ़ग़ानिस्तान या तालिबान से कोई संबंध नहीं है | साथ ही उन्होंने हमें बताया कि वे पाकिस्तान के इस्लामाबाद में रहनेवाले स्कॉलर है |

इससे यह स्पष्ट है कि खालिद मेहमूद अब्बासी पाकिस्तान स्थित स्कॉलर है न कि तालिबान के मुख्य सचिव है |

तालिबान के अफ़ग़ानिस्तान पर कब्ज़े से संबंधित अन्य फैक्ट चेक को आप नीचे पढ़ सकते है |

निष्कर्ष:

तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट के माध्यम से किये गए दावों को गलत पाया है | वायरल वीडियो में भाजपा और आर.एस.एस को ताकतवर बताने वाले शख्स तालिबान के मुख्य सचिव नहीं है बल्कि पाकिस्तान के इस्लामाबाद स्थित एक स्कॉलर है जिन्होंने यह वक्तव्य २०१९ में रिकॉर्ड किया था |

फैक्ट क्रेसेंडो द्वारा किये गये अन्य फैक्ट चेक पढ़ने के लिए क्लिक करें :

१. असम के एक पानी पूरी विक्रेता द्वारा पानी में मूत्र मिलाने के प्रकरण को फर्जी सांप्रदायिक रंग दे सोशल मंचों पर फैलाया जा रहा है।

२. पूर्व न्यायाधीश रंजन गोगोई ने नाम से फिरसे बना फर्जी अकाउंट जिससे सांप्रदायिक ट्वीट किये गये|

३. बिहार के कटिहार में मुर्हरम जुलूस के दौरान घटी मारपीट की घटना को हिन्दू-मुस्लिम कोण दे सांप्रदायिकता से जोड़ साझा किया जा रहा है|

Avatar

Title:भाजपा और आर.एस.एस को भारत में सबसे ताकतवर संगठन बताने वाला शख्स पाकिस्तानी स्कॉलर खालिद मेहमूद अब्बासी है व इस वीडियो का अफगानिस्तान या तालिबान से कोई सम्बन्ध नहीं है|

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply