कथित भाजपा विधायक अनिल उपाध्याय का नाम उत्तरप्रदेश में जातीय हिंसा भड़काने के सम्बंध में फैलाया जा रहा है |

विधायक अनिल उपाध्याय सोशल मंच पर एक वो नाम है जिसे अलग अलग समयों पर अलग अलग राजनीतिक पार्टियों के साथ सुविधा अनुसार जोड़ भ्रामक दावे पेश किये जाते रहें हैं, हालाँकि विधायक अनिल उपाध्याय एक काल्पनिक पात्र हैं | एक वीडियो, जिसमें पुलिस स्टेशन के सामने एक ट्रक देखा जा सकता है, और उसमें […]

Continue Reading

२०१८ में ज़मीन विवाद से जुड़ी पारिवारिक हिंसा के वीडियो को वर्तमान में सांप्रदायिक रूप देकर फैलाया जा रहा है |

२ दिसम्बर २०१९ को फेसबुक पर ‘Mahimaram Bhargav’ द्वारा किये गये पोस्ट में एक वीडियो साझा किया गया है, जिसमें ८-१० लोग एक युवक को डंडे से पीटते हुए दिख रहें हैं | पोस्ट के विवरण में लिखा है कि, “#WATCH राजपूत समाज के कायरो ने एक बेकसूर दलित युवक को पीट पीटकर मार ङाला […]

Continue Reading

शाहजहांपुर के इस विडियो को पीटने व जलाने के गलत दावे के साथ फैलाया जा रहा है |

२८ जुलाई २०१९ को सितारे चैनल नामक एक फेसबुक पेज ने एक विडियो पोस्ट किया था, जिसके शीर्षक में लिखा गया है कि “उत्तरप्रदेश के शाहजहांपुर -चौक कोतवाली के अब्दुल्लागंज में ईश्वरीय विश्व विद्यालय की प्रबंधिका ने नौकरानी जो कि दलित वर्ग से आती है को बेरहमी से डंडे से पीटा और लाइटर से भी […]

Continue Reading

जैसलमेर की यह घटना आपसी मतभेद के कारण हुई है इससे जातिवादी हिंसा का कोई संबंध नही है |

१६ जुलाई २०१९ को निर्देश सिंह नामक एक फेसबुक यूजर ने एक तस्वीर पोस्ट की थी जिसके शीर्षक में लिखा गया है कि “उंगली सामने करने पर जातिवादी हि,,, ने हाथ काट दिए घटना जैसलमेर की..राजस्थान के जैसलमेर में दलित समाज के ऑटो मकैनिक सुरेश ने बदमाशों से अपने आप को बचाने के लिए अपने […]

Continue Reading