क्या वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि मोदी सरकार ने ३५००० करोड़ एलईडी बल्ब वितरित किए?

False National Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

५ जुलाई २०१९ को Udeyvir Singh Panesar नामक एक फेसबुक यूजर ने एक तस्वीर पोस्ट की | पोस्ट के शीर्षक में लिखा गया है कि निर्मला सीतारमण ने बजट पेश करते वक्त देश को बताया कि मोदी सरकार ने अब तक 35 हजार करोड़ LED बलब बांटे हैं, कुल अबादी 125 करोड़ मतलब हरेक भारतीय को 280 बलब | कया ये भी एक बहुत बडा़ घोटाला है या जुमलेबाजी ? मोदी जाने या मोदी के अनपढ़ अंडभकत |” 

तस्वीर में हमें CNBC आवाज नामक चैनल में दिखाए गए ख़बर का स्क्रीन्ग्राब दिखता है | इस स्क्रीन्ग्राब में लिखा गया है की भारत के यूनियन बजट में निर्मला सीतारमण ने कहा कि “अब तक ३५००० करोड़ LED बल्ब बाटें है |” वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार, ५ जुलाई २०१९ को नई सरकार का पहला बजट पेश किया | इस तस्वीर के माध्यम से दावा किया जा रहा है कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने अपने बजट भाषण में कहा कि मोदी सरकार ने उजाला योजना के तहत ३५०००  एलईडी बल्ब वितरित किया था | सोशल मीडिया पर यह तस्वीर काफ़ी तेजी से साझा की जा रही है | फैक्ट चेक किये जाने तक यह तस्वीर लगभग ३२५ प्रतिक्रियाएं प्राप्त कर चुकी थी |

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक 

क्या वास्तव में निर्मला सीतारमण ने बजट २०१९ में ३५००० करोड़ LED बल्ब बाटने की बात किया था? हमने इस पोस्ट की सच्चाई जानने की कोशिश की |

संशोधन से पता चलता है कि…

जांच की शुरुआत हमने वित्त मंत्री द्वारा दिया गया सम्पूर्ण बजट भाषण को यूट्यूब पर राज्य सभा टीवी पर देखने से की | हम संसद में वित्त मंत्री के भाषण से गुजरे और हमें पता चला कि “जीवन जीने में आसानी” के बारे में सीतारमण ने कहा: 


हिंदी में अनुवाद– जीवन की अच्छी गुणवत्ता और जीवन जीने में आसानी के लिए, एक स्वच्छ वातावरण बनाए रखना और टिकाऊ ऊर्जा का उपयोग सुनिश्चित करना महत्वपूर्ण है | घरेलू स्तर पर व्यापक वितरण के लिए एलईडी बल्बों के बड़े पैमाने पर वितरण का एक कार्यक्रम लिया गया, जिसके परिणामस्वरूप देश में बड़े पैमाने पर इन्कान्देसेंट बल्बों (सादा बल्ब) और सीएफएल बल्ब को एलईडी बल्ब से बादला गया | उजाला योजना के तहत लगभग ३५ करोड़ एलईडी बल्ब वितरित किए गए हैं, जिससे सालाना १८३४१ करोड़ रुपये की बचत होती है | भारत सादे बल्ब और सीएफएल उपयोग से मुक्त होने वाला है क्योंकि इन बल्बों का इस्तेमाल काफ़ी कम हो चूका है | हम देश में सोलर स्टोव और बैटरी चार्जर के उपयोग को बढ़ावा देने के लिए मिशन एलईडी बल्ब विधि के दृष्टिकोण का उपयोग करेंगे |” 

नीचे सीतारमण का संसद में बोलते हुए पूरा वीडियो है | १ घंटा ६ मिनट १५ सेकंड के टाइमस्टैम्प पर, सीतारमण को यह कहते हुए सुन सकते है, “लगभग ३५ करोड़ एलईडी बल्ब उजाला योजना के तहत वितरित किए गए हैं, जिससे सालाना १८३४१ करोड़ रुपये की बचत होती है | “

निर्मला सीतारमण द्वारा दी गई पूरे बजट भाषण को b Indiabudget.gov के वेबसाइट पर अपलोड किया गया है | भाषण में सीतारमण ने स्पष्ट रूप से कहा कि योजना के तहत ३५ करोड़ बल्ब वितरित किए गए थे | २०१९ बजट भाषण पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें। (प्वाइंट ७४)

उजाला योजना बिजली के बिलों को कम करने और पर्यावरण को संरक्षित करने के लिए कुशल उपकरणों का उपयोग करने के बारे में जागरूकता बढ़ाने के उद्देश्य से एक योजना है | इस योजना का आधिकारिक वेबसाइट के लिए यहा क्लिक करे |

निष्कर्ष: तथ्यों के जांच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | असल में वित्त मंत्री सीतारमण ने कहा कि “३५ करोड़ ‘एलईडी बल्ब वितरित किए गए नाही ३५००० करोड़ | उन्होंने वास्तव में कहा था कि “लगभग ३५ करोड़ एलईडी बल्ब उजाला योजना के तहत वितरित किए गए हैं, जिससे सालाना १८३४१ करोड़ रुपये की बचत होती है |”

Avatar

Title:क्या वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि मोदी सरकार ने ३५००० करोड़ एलईडी बल्ब वितरित किए?

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •