RSS कार्यकर्ताओं ने इंग्लैंड के विश्वकप जीतने का जश्न नहीं मनाया, ये वीडीयो ४ साल पुराना है।

Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

१५ जुलाई २०१९ को Impulsive Indian नामक एक फेसबुक पेज ने एक विडियो पोस्ट करते हुए शीर्षक में लिखा था कि “इंग्लैंड के आईसीसी विश्व कप 2019 जीतने के बाद नागपुर मुख्यालय में आरएसएस कार्यकर्ता नाच रहे है” | इस विडियो में आरएसएस कार्यकर्ताओं का समूह देख सकते है जो ख़ुशी के नाच रहे है | इस विडियो के माध्यम से दावा किया गया है कि यह कार्यकर्ता इंग्लैंड के    आईसीसी वर्ल्ड कप २०१९ जीतने के कारण उत्साहित होकर नाच रहे है | साथ में यह भी कहा जा रहा है कि यह दृश्य नागपुर के मुख्यालय का है | यह विडियो सोशल मीडिया पर काफ़ी तेजी से फैल रहा है | फैक्ट चेक किये जाने तक यह पोस्ट लगभग ५०० प्रतिक्रियाएं प्राप्त कर चूका है | 

फेसबुक लिंक | आर्काइव विडियो 

संशोधन से पता चलता है कि..

जांच की शुरुआत हमने इस विडियो को अलग अलग कीवर्ड्स से ढूँढने से की | इस विडियो को बारीकी से देखा जाए तो हमें इंडिया टुडे का वॉटरमार्क एक कोने दिख सकता है।गूगल के परिणाम में हमें यूट्यूब पर इंडिया टीवी द्वारा प्रसारित एक  विडियो मिला,यह वीडीयो क्लिप वायरल विडियो का विस्तृत वीडीयो है।  यह वीडियो यूट्यूब पर दिसंबर २०१५ को अपलोड किया गया था, मतलब यह वीडीयो आज से लगभग चार साल पहले रिकॉर्ड किया गया था। विडियो के शीर्षक में लिखा गया है कि “नागपुर में बैठक से पहले आरएसएस कार्यकर्ता डांस करते हुए”।

वीडियो में देख सकते हैं की स्वयंसेवकों ने आरएसएस के तृतीय शिक्षा वर कार्यक्रम में हिस्सा लिया था,जिसके ख़तम होने के पश्चात आरएसएस के कार्यकर्ताओं ने नाच कर ख़ुशी मनाई। वीडियो १७  दिसंबर २०१५ का है, जो इंग्लैंड के १४ जुलाई २०१९ को विश्व कप जीतने से कई साल पहले का है |

निष्कर्ष: तथ्यों की जांच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | यह विडियो आईसीसी वर्ल्ड कप २०१९ के फाइनल होने से ४ साल पहले का है | विडियो में आरएसएस कार्यकर्ता नागपुर में मीटिंग के पूर्व नाच रहे थे,एक पुराने विडियो को गलत दावें के साथ सोशल मीडिया पर साझा किया जा रहा है | 

Avatar

Title:RSS कार्यकर्ताओं ने इंग्लैंड के विश्वकप जीतने का जश्न नहीं मनाया, ये वीडीयो ४ साल पुराना है।

Fact Check By: Aavya ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •