क्या छत्तीसगढ़ में रामनवमी जुलूस में शामिल हिंदुओं ने लुथरा शरीफ दरगाह के सामने हंगामा किया?

Communal False

यह खबर भ्रामक है। रामनवमी के दिन बिलासपुर के लुथरा शरीफ दरगाह के सामने कोई हंगामा नहीं हुया था। इस मामले में कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है।

छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में हुये रामनवमी जुलूस का वीडियो इंटरनेट पर साझा किया जा रहा है। दावा किया जा रहा है कि यह बिलासपुर में स्थित लुथरा शरीफ दरगाह है और जुलूस में हिस्सा लिये लोगों ने उस दरगाह के सामने हंगामा किया। इस मामले में पुलिस ने दो लोगों को भी गिरफ्तार किया, ऐसा भी वायरल पोस्ट में लिखा हुआ है। 

वायरल हो रहे पोस्ट में लिखा है, “खुद देख लीजिए असली दंगाई कौन हैं। ये वीडियो बिलासपुर, छत्तीसगढ़ के लुथरा शरीफ़ दरगाह का है। लेकिन नागपुरी ब्रांड बंदरों की भीड़ कैसे माहौल बिगाड़ने के लिए पहुँच गई है। अच्छी बात ये है कि इस मामले में दो लोगों की गिरफ़्तारी हुई बताई जा रही है।“ 

फेसबुक

आर्काइव लिंक


Read Also: पुलिस कांस्टेबल के साथ बदतमीजी कर रहा यह शख्स मुस्लिम नहीं है; जानिए सच


अनुसंधान से पता चलता है कि…

इस दावे की सच्चाई जानने के लिये फैक्ट क्रेसेंडो ने सबसे पहले लुथरा शरीफ दरगाह के खादिम रिजवान खान से संपर्क किया। उन्होंने ने हंगामे की बात से साफ इन्कार कर दिया। 

उन्होंने बताया कि “दरगाह के सामने उस दिन कोई हंगामा नहीं हुआ। विक्रम आदित्य समिति ने हिंदु नव वर्ष के अवसर पर एक जुलूस निकाला था। लुथरा दरगाह ने इस जुलूस में शामिल लोगों का स्वागत भी किया फिर वे यहाँ से चले गये। यह बात सरासर गलत है कि उन्होंने यहाँ हंगामा किया।“

फैक्ट क्रेसेंडो ने बिलासपुर की पुलिस अधीक्षक पारुल माथुर से सपंर्क किया। उन्होंने भी वायरल दावे को गलत बताया.

“दरगाह के सामने हंगामे की खबर बिलकुल झूठी है। यहाँ ऐसी कोई घटना नहीं हुई थी। लुथरा शरीफ दरगाह पर 70% हिंदु जाते है। इस दरगाह की जो अलग- अलग समितियाँ उनके कई सारे सदस्य हिंदु ही है। इसलिये इस दरगाह में हिंदुओं द्वारा निकाले गये जुलूस का स्वागत रखा गया था। और ये दरगाह के सामने से जुलूस गुजरते है। इस वीडियो को उत्तेजक तरीके से वायरल किया जा रहा है। उस दिन हिंदु-मुस्लिम को लेकर कोई भी ऐसी घटना नहीं घटी है और न ही कोई गिरफ्तार हुआ है,” उन्होंने बताया।

दैनिक भास्कर के मुताबिक 2 एप्रैल को बिलासपुर के पुलिस ग्राउंड से यात्रा शुरू हुई और शहर के हर चौराहे से गुज़री। जगह-जगह इस यात्रा का स्वागत किया गया। इस यात्रा में महिलाएं नृत्य कर रही थी। इसमें कहीं पर भी हंगामा या फिर गिरफ्तारी की जानकारी नहीं दी है। 


Read Also: लव जिहाद के स्क्रिप्टेड वीडियो को वास्तविक बताकर वायरल किया जा रहा है।


निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने पाया कि वायरल हो रहे वीडियो के साथ किया गया दावा गलत है। रामनवमी के जुलूस में लोगों ने लुथरा शरीफ दरगाह के सामने कोई हंगामा नहीं किया था। इस मामले में किसी की गिरफ्तारी भी नहीं हुई है।

Avatar

Title:क्या छत्तीसगढ़ में रामनवमी जुलूस में शामिल हिंदुओं ने लुथरा शरीफ दरगाह के सामने हंगामा किया?

Fact Check By: Rashi Jain 

Result: False