क्या उत्तर प्रदेश के बदायूं में पुलिस बंदूक की नोक पर कर रही है वाहन चेकिंग?

False National Political Social
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

२२ जून २०१९ को “ख़बरों की चौपल” नामक एक फेसबुक यूजर ने एक विडियो पोस्ट किया | विडियो के शीर्षक में लिखा गया है कि #बदायूं में पुलिस बंदूक की नोक पर कर रही वाहन चैकिंग, जनता में आक्रोश”

इस विडियो में हम पुलिस को एक वाहन चालक की चेकिंग करते हुए देख सकते है | साथ ही सामने हम एक और पुलिस अफसर को बंदूक तानकर खड़े देख सकते है | इस वायरल विडियो को साझा करते हुए दावा किया जा रहा है कि यह उत्तर प्रदेश की बदायूं पुलिस इसी तरह वाहन चेकिंग करते है जिससे लोगों को परेशानी होती | साथ ही कहा गया है कि पुलिस की इस हरकत पर जनता में आक्रोश पैदा हुआ है | विडियो के माध्यम से दावा किया जा रहा है कि पुलिस का नागरिकों को डराने-धमकाने का इरादा था | इस विडियो को सोशल मीडिया पर काफ़ी तेजी से साझा किया जा रहा है | फैक्ट चेक किये जाने तक यह विडियो १०२५५ प्रतिक्रियाएं प्राप्त कर चुकी थी | इस विडियो को २९१००० व्यूज मिल चुकी है |

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव विडियो 

क्या वास्तव में बदायूं पुलिस वाहन चेकिंग करते वक्त लोगों को डराने धमकाने के लिए उनपर बंदूक तानकर खड़े रहते है? हमने इस विडियो की सच्चाई जानने की कोशिश की |

संशोधन से पता चलता है कि…

जांच की शुरुआत हमने इस विडियो के कीफ्रेम्स को गूगल रिवर्स इमेज सर्च करने से की, परंतु हमें परिणाम से इस विडियो से मिलता जुलता कुछ परिणाम नहीं मिला | इसके पश्चात हमने गूगल सर्च पर अलग अलग की वर्ड्स के माध्यम से इस विडियो से जुडी खबर को ढूँढने की कोशिश की | परिणाम से हमें २४ जून २०१९ को एशियन एज द्वारा प्रकाशित खबर मिली | खबर के अनुसार बदायूं जिले के वज़ीर नगर इलाके में पुलिस के जवान एक वीडियो में बंदूक की नोक पर सवार वाहनों और सवारों की जाँच कर रहे हैं | साथ ही लिखा गया है कि वरिष्ठ अधिकारियों ने इस कार्य को एक ‘एहतियाती’ कदम बताया है |

एशियन एज | आर्काइव लिंक 

२५ जून २०१९ को द हिन्दू ने इसी संदर्भ में खबर प्रकाशित की | खबर के अनुसार बदायूं के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, अशोक कुमार त्रिपाठी ने इसे “रणनीतिक चाल” बताते हुए कार्रवाई का बचाव किया है |

द हिन्दू | आर्काइव लिंक 

बिज़नस स्टैण्डर्ड ने भी इसी कथन के साथ २४ जून २०१९ को खबर प्रकाशित किया |

आर्काइव लिंक 

इसके पश्चात हमने ट्विटर पर उत्तर प्रदेश पुलिस के अधिकारिक अकाउंट पर इस वाक्य कि छानबीन की, यहा हमें २४ जून २०१९ को उत्तर प्रदेश की बदायूं पुलिस द्वारा किया गया एक ट्वीट मिला | ट्वीट के अनुसार यह चेकिंग शस्त्रधारी अपराधियों द्वारा अपराध कारित करने के बाद की है | 

आर्काइव लिंक 

हमें २४ जून २०१९ को उत्तर प्रदेश द्वारा किया गया एक ट्वीट मिला | वायरल विडियो के संदर्भ में इस ट्वीट को जारी करते हुए लिखा गया है कि “हमें सोशल मीडिया के माध्यम से प्रतीत हुआ कि यह वीडियो वायरल हुई है | इसके संदर्भ में बदायूं के एसपी, श्री अशोक कुमार त्रिपाठी ने विडियो मैसेज के द्वारा यह बताया है कि यह पुलिस द्वारा सूझबुझ के साथ की गयी चेकिंग थी जिसे प्रदर्शनकारी उद्देश्य (demonstrative purpose) के लिए किया गया था, जिसमें जाँच की जा रही है कि एक अपराधी जब हथियार लेकर जा रहा है तो उससे किस तरह से चेकिंग करना चाहिए | हमारा नागरिकों को डराने का कोई इरादा नहीं था | साथ ही एसपी द्वारा कहे गए बयान का विडियो संग्लित किया गया है | इसके नीचे वायरल विडियो का लिंक भी दिया गया है |”

विडियो में बदायूं पुलिस के एसपी, अशोक कुमार त्रिपाठी को हम कहते हुए सुन सकते है कि, 

“यह हमारा अनुभव रहा है कि आपराधिक प्रवृत्ति के लोगों के पास हथियार होते हैं और वे गोलीबारी में संकोच नहीं करते | हमारे अधिकारियों को ऐसी घटनाओं में अक्सर हताहतों की संख्या और गंभीर चोटों का सामना करना पड़ता है | इसे ध्यान में रखते हुए, हम एहतियात के तौर पर इन सुझबुझ से ली गयी तकनीकों का उपयोग कर रहे हैं | यानी एक दो आदमी चालक की तलाशी ले और एक पुलिसकर्मी अलर्ट पोजीशन में रहे | इसका उदेश्य सिर्फ यही है कि हम (पुलिस) अपनेआप को सुरक्षित रखे और आपराधिक प्रवृत्ति के लोग पुलिस पर हमला ना कर सके |”

आर्काइव ट्वीट | आर्काइव विडियो 

इसके पश्चात हमने बदायूं पुलिस के जनसंपर्क अधिकारी से फ़ोन पर वार्तालाप किया | उन्होंने हमें स्पष्ट रूप से कहा है कि “वायरल विडियो एक प्रदर्शनकारी उद्देश्य के लिए बनाया गया था और उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा जारी किये गए ट्वीट का पालन करते हुए उसे मानकर चले |”

निष्कर्ष: तथ्यों के जांच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | वायरल विडियो में दिखाए गए कार्य लोगों को परेशान करने या डराने धमकाने के लिए नहीं किया गया है | बदायूं पुलिस ने इस कार्य को एक ‘एहतियाती’ कदम के तौर पर अपनाया था |

Avatar

Title:क्या उत्तर प्रदेश के बदायूं में पुलिस बंदूक की नोक पर कर रही है वाहन चेकिंग?

Fact Check By: Drabanti Ghosh 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply