यमन में पिता द्वारा पीटे गये बच्चे की तस्वीर को गाज़ियाबाद के आसिफ की बता वायरल किया जा रहा है।

False Social

हालही में उत्तर प्रदेश के गाज़ियाबाद में आसिफ नामक एक 14 वर्ष के बच्चे को मंदिर में पानी पीने के कारण एक शख्स द्वारा पीटने का वीडियो सामने आया था। इसी सन्दर्भ में सोशल मंचों पर दो तस्वीरें वायरल हो रही हैं जिसमें आप एक बच्चे के शरीर पर किसी के मारने से हुए ज़ख्मों को देख सकते है। इस तस्वीर के साथ यह दावा किया जा रहा है कि तस्वीर में दिख रहा बच्चा आसिफ है, जिसे मंदिर से पानी पीने के लिए इतनी बेरहमी से पीटा गया। 

वायरल हो रहे पोस्ट के शीर्षक में लिखा है,

कोई पानी पीने मंदिर गया उसे मिल गये खून के प्यासे।”

C:\Users\hp\Desktop\Samiksha FC\Asif Ghaziabad2.jpg

फेसबुक | आर्काइव लिंक

इस तस्वीर को इंटरनेट पर काफी तेजी से साझा किया जा रहा है।

आर्काइव लिंक

अनुसंधान से पता चलता है कि…

फैक्ट क्रेसेंडो ने जाँच के दौरान पाया कि वायरल हो रही तस्वीर यमन देश के एक बच्चे की है, जिसे उसके पिता ने पीटा था। इस तस्वीर का गाज़ियाबाद के आसिफ से कोई संबन्ध नहीं है।

जाँच की शुरुवात फैक्ट क्रेसेंडो ने गाजियाबाद के ए.एस.पी इराज राजा से संपर्क कर की, हमने उन्हें उपरोक्त वायरल हो रही तस्वीर दिखायी व ये जानने की कोशिश की कि क्या यह तस्वीर आसिफ की है। उन्होंने इस बात से इंकार करते हुए कहा कि, “वायरल हो रही तस्वीर आसिफ की नहीं है। आसिफ के जख्म तस्वीर में दिख रहे जख्मों जैसे नहीं है। उसे इतने बुरे जख्म नहीं हुए है। हमने आसिफ का एक्सरे भी करवाया है, उसकी मेडिकल रिपोर्ट में भी इतने जख्म का जिक्र नहीं किया गया है।“

इसके बाद उन्होंने हमें आसिफ की मेडिकल रिपोर्ट भी उपलब्ध करायी व उन्होंने कहा कि, “आसिफ के कंधे पर लगभग 2 सेंटीमीटर का गहरे घर्षण से हुआ घाव है, उसके सर के पीछ थोड़ी सी चोट है ये घाव उस के शरीर पर दिखायी देने वाले जख्म है।“

ए.एस.पी इराज राजा के दफ्तर से हमें आसिफ की पुलिस द्वारा कराई गई मेडिकल रिपोर्ट भी उपलब्ध कराई गई जो पुलिस द्वारा बताई जा रहीं चोटों की पुष्टि करतीं हैं, मामला नाबालिग बच्चे से जुड़े होने व कुछ अन्य कारणों से हम उपलब्ध रिपोर्ट को सार्वजनिक नहीं कर रहे हैं।

इसके पश्चात हमने ये पता लगाया कि वायरल हो रही तस्वीर किस शख्स की है व कहाँ की है।

उपरोक्त तस्वीर को हमने गूगल रीवर्स इमेज सर्च किया, परिणाम में हमें वायरल हो रही तस्वीर 24 पोस्ट.कॉम नामक एक वैवसाइट पर एक समाचार लेख में प्रकाशित की हुई मिली। इस समाचार लेख के मुताबिक यह तस्वीर यमन देश में स्थित अल महवित के एक 12 वर्ष बच्चे की है जो कि अपने पिता के साथ अल स्टोनिंग जिले में रहता है, इस बच्चे को इस के पिता जिनका नाम शमख रशीद अल-कुहिली है के द्वारा गंभीर रूप से पीटा गया और इस प्रकरण की रिपोर्ट वहाँ के स्थानीय नागरिकों द्वारा लोकल अधिकारियों को दे दी गई थी।

आर्काइव लिंक

और अधिक जाँच करने पर हमें क्रैटरस्काइ.नेट पर यही तस्वीरें 4 अक्टूबर 2020 को प्रकाशित की हुई मिली, यहाँ पर भी इन तस्वीरों को यमन का बताया गया है।

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने पाया कि उपरोक्त दावा गलत है| वायरल हो रही तस्वीर यमन देश के एक बच्चे की है, जिसे उसके पिता ने पीटा था। इस तस्वीर का उत्तर प्रदेश के गाज़ियाबाद के आसिफ से कोई संबन्ध नहीं है।

Avatar

Title:यमन में पिता द्वारा पीटे गये बच्चे की तस्वीर को गाज़ियाबाद के आसिफ की बता वायरल किया जा रहा है।

Fact Check By: Rashi Jain 

Result: False

फैक्ट क्रेसेंडो द्वारा किये गये अन्य फैक्ट चेक पढ़ने के लिए क्लिक करें :

१. ALTERED VIDEO- “AIUDF” के संस्थापक बदरुद्दीन अजमल के मूल भाषण को एडिट करके एक विवादित विवरण के साथ वायरल किया जा रहा है|

२. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा योगी आदित्यनाथ को हिन्दू राष्ट्र के संदर्भित लिखा गया बधाई पत्र फर्जी है ।

३. एक वैबसीरीज़ की शूटिंग के वीडियो को मुंबई में आतंकवादियों की गिरफ़्तारी का बताया जा रहा है।