क्या क्रिकेट वर्ल्ड कप में पाकिस्तान टीम का मैदान पर सिक्योरिटीचेक हुआ?

False International Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

१६ जून २०१९ को रोहित पटेल नामक फेसबुक यूजर ने एक तस्वीर पोस्ट की | तस्वीर के शीर्षक में लिखा गया है कि ये हे औकात ईनकी. सभी को अछे से चेक कीया..कहीं बोंम वोंम तो नहीं ले आये साले पाकिस्तानी | ईससे बडी हार कोई हो नहीं शकती |”

इस शीर्षक के साथ एक तस्वीर साझा की गयी है | यह तस्वीर दो अलग अलग तस्वीरों को जोड़कर कोलाज बनाया गया है | तस्वीर में हम पाकिस्तान टीम का मेटल डिटेक्टर से  सिक्योरिटी चेक होते हुए देख सकते है | नीचे दुसरी तस्वीर में हम पाकिस्तान टीम के कप्तान सरफ़राज़ अहमद को मेटल डिटेक्टर से गुज़रते हुए देख सकते है | इस तस्वीर को १६ जून २०१९ को हुए भारत बनाम पाकिस्तान वर्ल्ड कप मैच के संदर्भ में साझा किया जा रहा है | इस तस्वीर के माध्यम से दावा किया जा रहा है कि १६ जून २०१९ को इंग्लैंड में हुए भारत-पाकिस्तान मैच में मैदान से बीचों बीच पाकिस्तान टीम का सिक्योरिटी चेक किया गया है | यह तस्वीर सोशल मीडिया पर काफ़ी तेजी से साझा की जा रही है | फैक्ट चेक किये जाने तक यह तस्वीर लगभग ३५० प्रतिक्रियाएं प्राप्त कर चुकी थी |

आर्काइव लिंक

यह तस्वीर काफ़ी संदेहजनक दिखती है क्योंकि यह बड़े ही आश्चर्य की बात है कि मैदान के बीचों बीच पाकिस्तान टीम की सिक्योरिटी चेकिंग हुई और इस बात को लेकर सोशल मीडिया पर कहीं कोई कमेंट नहीं है | इसके अलावा सिक्योरिटी चेक करने वाले तीनों पुलिस कर्मचारी का पहनावा अलग है | साथ ही मैदान के बीच में मेटल डिटेक्टर का रखा जाना भी अटपटा लग रहा है | ऐसे कोई इंतजाम इसके पहले देखे या सुने नहीं है | इसीलिए हमने इस तस्वीर की सच्चाई जानने की कोशिश की |

संशोधन से पता चलता है कि..

जांच की शुरुआत हमने ऊपर की पहली तस्वीर का स्क्रीनशॉट लेकर गूगल रिवर्स इमेज सर्च करने से की | परिणाम से हमें २० सितंबर २०१८ को डीएनए द्वारा प्रकाशित खबर मिली | खबर में तस्वीर का उल्लेख करते हुए लिखा गया है कि यह तस्वीर एशिया कप २०१८ की है | इस तस्वीर में हमें सिक्योरिटी के नाम पर कोई पुलिस कर्मचारी दिखाई नहीं देता |

आर्काइव लिंक

नीचे आप वायरल तस्वीर और एशिया कप २०१८ के मूल तस्वीर की तुलना देख सकते है | मूल तस्वीर के साथ सिक्योरिटी गार्ड की तस्वीरों को फोटोशोप के माध्यम से जोड़ा गया है |

इसके पश्चात हमने सिक्योरिटी गार्ड के तस्वीरों का स्क्रीनशॉट लेते हुए गूगल रिवर्स इमेज सर्च किया | परिणाम से हमें कोई मिलता-जुलता परिणाम नहीं मिला | इसके पश्चात हमने गूगल पर की वर्ड्स के माध्यम से इस तस्वीर को सर्च करने की कोशिश की | परिणाम से हमें अलामी स्टॉक इमेज पर एक सिक्योरिटी ऑफिसर की तस्वीर मिली | नीचे आप दोनों तस्वीरों की समानता देख सकते है | यह तस्वीर हवाई अड्डे के सिक्योरिटी गार्ड की है |  

आर्काइव लिंक

हमें दूसरी तस्वीर भी इसी परिणाम से मिली | हमें dissolve के वेबसाइट पर दूसरे सिक्योरिटी (पुरुष) गार्ड की तस्वीर मिली | तस्वीर के शीर्षक में लिखा गया है कि “हवाई अड्डे पर यात्री की जांच के लिए हाथ में मेटल डिटेक्टर का उपयोग करते हुए एयरपोर्ट सुरक्षा अधिकारी |” नीचे आप दोनों तस्वीरों की तुलना देख सकते है |

आर्काइव लिंक

हमें तीसरे सिक्योरिटी गार्ड की तस्वीर नहीं मिली | परंतु उपरोक्त तथ्यों से हम स्पष्ट हो सकते है कि उस सिक्योरिटी अधिकारी की तस्वीर को भी एक पुराने तस्वीर के साथ फोटोशोप के माध्यम से जोड़ा गया है |

इसके पश्चात हमने नीचे दुसरी तस्वीर का स्क्रीनशॉट लेकर गूगल रिवर्स इमेज सर्च किया | परिणाम से हमें इस तस्वीर से मिलता-जुलता कुछ भी नहीं मिला | तस्वीर की बारीकी से जांच करने पर हमने पाया की तस्वीर काफ़ी धुंदली सी है जिससे यह पता चलता है कि, यह तस्वीर किसी विडियो का स्क्रीनशॉट है | हमने की-वर्ड्स के माध्यम से यू-ट्यूब पर भी सर्च किया परंतु हमें कोई परिणाम नहीं मिला |

इसके पश्चात हमने हॉट स्टार प्रीमियम पर मैच के हाइलाइट्स व रिकॉर्डिंग देखे | विडियो से हमें पता चला कि यह दृश्य उस वक्त का है जब भारत व पाकिस्तानी टीम मैदान पर उनके राष्ट्रगान के लिए प्रवेश कर रहे थे | उस रिकॉर्डिंग से हमने एक स्क्रीनग्रैब लिया | जिसे आप नीचे देख सकते है | इस स्क्रीनग्रैब में हम देख सकते है कि सरफ़राज़ के सामने कोई मेटल डिटेक्टर का प्रवेश द्वार नहीं है | इस मेटल डिटेक्टर की तस्वीर को फोटोशोप के माध्यम से जोड़ा गया है | नीचे दोनों तस्वीरों की तुलना दी गयी है |

इसके पश्चात हमने पाकिस्तान और भारत के बीच रविवार को हुए वर्ल्ड कप मैच के बारें में गूगल सर्च किया | परिणाम से अनुसार हमें पता चला कि यह मैच इंग्लैंड के ओल्ड ट्राफ़ोर्ड क्रिकेट ग्राउंड में हुआ | हमने इस ग्राउंड को गूगल मैप्स पर ढूँढा | परिणाम से हमें स्टेडियम की तस्वीरें मिली, जिसमे यह साफ़ साफ़ देखा जा सकता है कि ग्राउंड के बीच में कही भी मेटल डिटेक्टर नहीं है |

इसके अलावा हमें यू-ट्यूब पर ओल्ड ट्राफोर्ड क्रिकेट ग्राउंड का वास्तविक टूर का विडियो मिला | इस विडियो में भी हमें कोई मेटल डिटेक्टर दिखाई नहीं देता |

निष्कर्ष: तथ्यों के जांच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | वायरल तस्वीरों में फोटोशोप के माध्यम से छेड़छाड़ की गयी है | क्रिकेट वर्ल्ड कप में पाकिस्तान टीम का मैदान में सिक्योरिटी चेक नहीं हुआ है | तस्वीर में दिखाए गए सिक्योरिटी अधिकारी की अलग अलग तस्वीरों को फोटोशोप के माध्यम से जोड़ा गया है |

Avatar

Title:क्या क्रिकेट वर्ल्ड कप में पाकिस्तान टीम का मैदान पर सिक्योरिटीचेक हुआ?

Fact Check By: Drabanti Ghosh 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •