यूपी चुनाव से पहले सपा प्रत्याशी का वीडियो वायरल, क्या रैली में लगाए गए ‘पाकिस्तान बनाने के नारे’…जानें सच 

Elections False National Political

इलेक्शन कमीशन के रिटर्निंग ऑफिसर अनुराज जैन ने फैक्ट क्रेसेंडो को बताया है कि बिठूर क्षेत्र में पाकिस्तान के समर्थन में नारेबाज़ी नहीं हुई| 

यूपी चुनाव 2022 से पहले समाजवादी पार्टी के समर्थकों की प्रचार रैली का विडियो वायरल हो रहा है| इसके साथ दावा किया जा रहा है कि सपा के प्रत्याशी की रैली में “साईकिल पर बटन दबाना है, पाकिस्तान बनाना है” ऐसे नारे लगाये गये| 

इस वीडियो को कई बीजेपी प्रवक्ताओं जैसे संबित पात्रा, वाई सत्य कुमार, विधायक अभिजीत सिंह संगा और प्रशांत उमराव ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से दावा करते हुए शेयर किया है 

आर्काइव लिंक

आज तक, नवभारत टाइम्स और एशिया नेट न्यूज़ हिंदी ने भी इस वीडियो को शेयर करते हुए लिखा है कि सपा प्रत्याशी के रैली में कथित तौर पर ‘पाकिस्तान बनाना है’ के नारे लगाये गये|”

अनुसंधान से पता चलता है कि…

कीवर्डस सर्च से नवभारत टाइम्स के डिप्टी न्यूज़ एडिटर उत्कर्ष सिंह का ट्वीट मिला। उन्होंने जानकारी देते हुए बताया है कि ये बिठूर से सपा प्रत्याशी मुनीम शुक्ला के समर्थक है और उन्होंने ‘’पाकिस्तान भगाना है’ न कि पाकिस्तान बनाना है।

आर्काइव लिंक

पूरी जानकारी मिलने के बाद हमने समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी मुनीन्द्र शुक्ला के फेसबुक प्रोफाइल को खंगाला | उनके प्रोफाइल में हमें मुनीन्द्र शुक्ला द्वारा इस मामले में अपलोड किया हुआ वीडियो पाया, इस वीडियो के कैप्शन में लिखा गया है कि “भ्रामक वीडियो से बचे, जो जीतने की स्थिति में नही होता है वो इसी तरह से प्रचार-प्रसार करता हुआ नजर आता है। लेकिन हम सभी को सत्य का साथ देना है, कृपया भ्रमित न हो…भारत माता की जय वंदे मातरम जय हिंद |”

इस वीडियो में वे स्पष्ट रूप से कहते है कि सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो के जरिए बीजेपी के सदस्यों द्वारा की गयी साजीश है |

मुनीन्द्र शुक्ला अपने पेज पर 210 बिठूर विधानसभा के ARO (असिस्टेंट रिव्यु ऑफिसर) द्वारा इस मामले में दिए गये बयान को साझा किया है | इस पोस्ट के शीर्षक में लिखा गया है कि “जिलाधिकारी/ जिला निर्वाचन अधिकारी अपडेट 4 फरवरी 2022 कानपुर नगर | ए.आर.ओ- द्वारा वायरल वीडियो के सम्बंध में बाइट |”

इस वीडियो में वे स्पष्ट रूप से कहते है कि “बिठूर विधानसभा के सपा प्रत्याशी मुनींद्र शुक्ला की रैली के दौरान ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे नहीं लगाए गए |”

इसके आलावा मुनीन्द्र शुक्ला ने इस मुद्दे को लेकर बिठूर पुलिस के पास शिकायत दर्ज की हैं| इस शिकायत पत्र की तस्वीर उन्होंने अपने फेसबुक पेज पर शेयर की है | इस पोस्ट के कैप्शन में लिखा गया है कि “विधिक कार्यवाही हेतु लिखित प्रार्थनापत्र |”

शिकायत पत्र के मुताबिक, वायरल वीडियो को एडिट कर भ्रामक दावे के साथ फैलाया जा रहा है | उन्होंने ये भी उल्लेख किया है कि ये रैली 3 फरवरी को निकली गयी थी जिसके बाद इस रैली में लगाये गये नारे के बारें में फर्जी दावे किये जा रहे है |

दरअसल, फैक्ट क्रेसेंडो ने बिठूर विधानसभा के इलेक्शन कमीशन के रिटर्निंग ऑफिसर अनुराज जैन से संपर्क किया जिन्होंने हमें बताया है कि इस क्षेत्र में पाकिस्तान बनाने की नारे नही लगायी गयी है | वे असल में “मोहर मारो तान के साइकिल के निशान पे” और “साईकिल पर बटन दबाना है, माटी चोर भगाना है |” उन्होंने हमें इस वीडियो को शेयर किया है जिसमे आप सबटाइटल भी देख सकते है |

कानपुर पुलिस ने 4 फरवरी, 2022 को भाजपा नेता प्रशांत उमराव के ट्वीट का जवाब देते हुए कहा है कि, “प्रकरण में प्राप्त वीडियो के स्थान तथा व्यक्तियों के संबंध में जानकारी की जा रही है। पुष्टि होने पर जल्द से जल्द कार्रवाई की जाएगी।”

माटी चोर पर क्यों मचा बवाल ?

बिठूर विधानसभा सीट से BJP विधायक अभिजीत सिंह सांगा पर जनता आक्रोशित होकर ये नारेबाजी समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता द्वारा किया गया था | अभिजीत सिंह सांगा और उनके रिश्तेदारों ने मिट्टी के अवैध खनन का काम किया था | इस वजह से ‘माटीचोर भगाना है’ के नारे लग रहे थे | आगे हमने ये भी पाया कि दिवस पाण्डेय नामक पत्रकार ने एक ट्वीट में अभिजीत सिंह सांगा को टैग करते हुए कहा कि रेलवे की आड़ में निकली मिट्टी गौरिया स्थित प्लांट में डाली जाती है जिसके संरक्षण में उत्तर प्रदेश पुलिस की जीप रहती है |

निष्कर्ष: तथ्यों की जांच के बाद हमने किये गये दावे को गलत पाया है | समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी की रैली में पाकिस्तान के समर्थन में नारे नहीं लगाये गए|

Avatar

Title:यूपी चुनाव से पहले सपा प्रत्याशी का वीडियो वायरल, क्या रैली में लगाए गए ‘पाकिस्तान बनाने के नारे’…जानें सच 

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False

 (If you also have any suspicious messages, posts, photos, videos or news, send them to our WhatsApp Fact line Number (9049053770) for Fact Check. Follow Fact Crescendo on Facebook, Instagram and Twitter to read the latest Fact Check.)