पाकिस्तान का एक साल पुराना वीडियो, भारत में चल रहे लोकसभा चुनाव से जोड़कर वायरल…

Missing Context Political

लोकसभा चुनाव के पहले चरण की वोटिंग के बाद सोशल मीडिया पर कई फर्जी वीडियो शेयर किए जा रहे हैं। इसी बीच वर्दी पहने एक शख्स को एक व्‍यक्ति के चेहरे से बुर्का हटाने का वीडियो तेजी से शेयर किया जा रहा है। वायरल वीडिय को हालिया लोकसभा चुनाव से जोड़ कर शेयर किया जा रहा है। वीडियो में जब सिपाही शख्स का बुर्का हटाता  है, तो उसके पीछे से दाढ़ी-मूछों वाला आदमी नजर आता है। वायरल वीडियो के साथ दावा है कि बुर्का पहनकर फर्जी वोटिंग कर रहा एक मुस्लिम आदमी पकड़ा गया। 

वायरल वीडियो के साथ यूजर ने लिखा – बुर्के में रहने दो बुर्का न उठाओ बुर्का जो उठ गया तो फर्जी वोट कहां से डालेंगे सलूट है ड्यूटी ऑफिसर को। 

फेसबुकआर्काइव 

अनुसंधान से पता चलता है कि…

पड़ताल की शुरुआत में हमने वायरल वीडियो का स्क्रीनशॉट लिया। स्क्रीनशॉट का रिवर्स इमेज सर्च करने पर वायरल वीडियो हमें  एक फेसबुक पेज पर मिला। यहां पर वीडियो को साफ तौर पर देखा जा सकता है।  पेज पर वायरल वीडियो 18 जून 2023 को अपलोड किया गया था। इससे ये स्पष्ट है कि वायरल वीडियो का हालिया लोकसभा चुनाव से कोई संबंध नहीं है। 

वीडियो के कैप्शन में उर्दू में लिखा है, जिसका हिंदी ट्रांसलेशन है – ज़मान पार्क से नहर के रास्ते भागे एक और यूथिया को पकड़ लिया गया। 

आगे पड़ताल करने पर हमें यह वीडियो अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर भी शेयर किया हुआ मिला। जिसे यहां, यहां और य़हां पर भी देखा जा सकता है। वीडियो को 2023 में ही अपलोड किया गया है। और वीडियो को पाकिस्तान का बताया गया है।

आगे हमने वायरल वीडियो को गौर से चेक किया तो हमें वीडियो में वर्दी पहने शख्स के बाजु में कुछ लोगो नजर आया। सिपाही के बाजू पर पाकिस्तान का झंडा दिखाई देता है साथ ही वर्दी पर लाहौर भी लिखा हुआ है। 

गूगल में सर्च करने पर हमें लाहौर पुलिस की वर्दी नजर आई। जो की वायरल वीडियो में दिख रहे सिपाही के वर्दी के साथ मेल खाता है। हमने वायरल वीडियो में दिख रहे सिपाही और लाहौर पुलिस की वर्दी का मिलान किया। जिससे ये स्पष्ट हुआ कि वायरल वीडियो पाकिस्तान का है। 

इसके अलावा पीछे दीवार पर एक बोर्ड लगा है जिसमें उर्दू में लिखावट दिखाई दे रही है। इससे ये स्पष्ट है कि वीडियो पाकिस्तान के लाहौर के किसी थाने का है। वीडियो का भारत या फिर लोकसभा चुनाव से कोई संबंध नहीं है। 

निष्कर्ष- 

तथ्य-जांच के बाद हमने पाया कि, वायरल वीडियो पाकिस्तान का है। जून 2023 से ये वीडियो इंटरनेट पर मौजूद है। इसका भारत में चल रहे लोकसभा चुनाव से कोई संबंध नहीं है।

Avatar

Title:पाकिस्तान का एक साल पुराना वीडियो, भारत में चल रहे लोकसभा चुनाव से जोड़कर वायरल…

Written By: Saritadevi Samal 

Result: Missing Context

Leave a Reply