सेना में भर्ती न होने के कारण आत्महत्या करने वाले युवक की खबर पुरानी; अग्निपथ योजना से नहीं कोई संबंध

Partly False Social

तस्वीर में बतायी गयी खबर अग्निपथ योजना की घोषणा के पहले घटी थी। इसका अग्निपथ योजना से कोई संबन्ध नहीं है।

हाल ही में केंद्रीय सरकार ने अग्निपथ योजना की घोषणा की है। इसके खिलाफ देश भर में छात्र विरोध प्रदर्शन कर रहे है। ऐसे में एक समाचार पत्र में छपे लेख की तस्वीर इंटरनेट पर वायरल हो रही है। उसमें बताया गया है कि एक युवक सेना में भर्ती होना चाहता था, परंतु ओवरएज होने के कारण वह सेना में भर्ती नहीं हो सकता था। इस वजह से उसने आत्महत्या करली। दावा किया जा रहा है कि अग्निपथ योजना के चलते वह अब सेना में भर्ती होने के लिये ओवरएज हो गया था। इस वजह से उसने आत्महत्या की।

वायरल हो रहे पोस्ट में लिखा है, “कौन है इस आत्महत्या का जिम्मेदार? क्या वही जो नोटबन्दी में हज़ारों की ज़िंदगी छीन ली? क्या वही जो कोरोना में आपदा को अवसर बताने वाला श्मसान का गिद्ध है। #AgnipathRecruitmentScheme #Agniveer #अग्निवीर  #अग्निपथ #Agnipath.” (शब्दश:)

फेसबुक | आर्काइव लिंक


Read Also: क्या जेल से छूटने के बाद आज़म खान ने बोला कि राम और कृष्ण उनके आदर्श है?


अनुसंधान से पता चलता है कि…

सबसे पहले हमने इस तस्वीर में दी गयी खबर को पढ़ा। उसमें बताया गया है कि हरियाणा में स्थित भिवानी के मुंढाल गांव में पवन नाम का एक युवक 3 साल से सेना में भर्ती होने की कोशिश कर रहा था परंतु अब उसकी उम्र 23 साल की होने जाने से वो सेना में भर्ती होने के योग्य नहीं रहा। इस वजह से उसने आत्महत्या कर ली।

इस जानकारी को ध्यान में रखते हुये हमने गूगल पर कीवर्ड सर्च किया। हमें यही खबर न्यूज़18 हरियाणा के वेबसाइट पर 30 अप्रैल को प्रकाशित की हुई मिली। आप नीचे दी गयी तस्वीर में देख सकते है।

आर्काइव लिंक

इसमें बताया गया है कि इस युवक ने फांसी लेकर आत्महत्या की। उस दौरान उसने एक सुसाइड नोट छोड़ा था। उसमें उसने लिखा था कि “पापा जी, अगले जन्म में मैं जरूर फौजी बनूंगा।” जिस ग्राउंड पर वह रोज़ दौड़ लगाता था वही उसने एक पेड़ से लटक कर फांसी लेली।

जाँच के दौरान हमने पाया कि 29 अप्रैल को वायरल हो रही यही तस्वीर भाजपा नेता व पिलीभीत के सांसद वरुण गांधी ने भी ट्वीट किया था।

आर्काइव लिंक

इससे हम कह सकते है कि यह खबर दो महिने पुरानी है।

सरकार ने अग्निपथ योजना की घोषणा 14 जून को की थी।

फैक्ट क्रेसेंडो ने भिवानी के पुलिस अधिक्षक अजित सिंह शेखावत से संपर्क किया। उन्होंने हमें बताया कि “यह दावा गलत है। वायरल हो रही खबर अग्निपथ योजना की घोषणा से पहले की है। इसका अग्निपथ योजना से कोई संबन्ध नहीं है।“


Read Also: क्या रंजन गोगोई ने मुस्लिम समुदाय को वॉट्सएप ग्रुप में नमाज़ पढ़ने को कहा है?


निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने पाया कि वायरल हो रही तस्वीर के साथ किया गया दावा आंशिक रूप से गलत है। इसका अग्निपथ योजना से कोई संबन्ध नहीं है।

Avatar

Title:सेना में भर्ती न होने के कारण आत्महत्या करने वाले युवक की खबर पुरानी; अग्निपथ योजना से नहीं कोई संबंध

Fact Check By: Samiksha Khandelwal 

Result: Partly False

Leave a Reply