नीम व अद्रक के पानी की भाप लेने व नीम की लकड़ी और अद्रक का काढ़ा पीने से COVID-19 ठीक नहीं होता है ।

Coronavirus Misleading
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

कोरोना महामारी के विराट रूप के चलते इंटरनेट पर कई गलत व भ्रामक दावे वायरल होते चले आ रहे है। फैक्ट क्रेसेंडो ने पूर्व में भी ऐसे कई भ्रामक दावों का अनुसंधान कर उसकी प्रमाणिता अपने पाठकों तक पहुंचाई है। वर्तमान में ऐसा ही एक दावा सोशल मंचों पर वायरल हो रहा है जिसके मुताबिक नीम व अद्रक के पानी की भाप लेने से व नीम की लकड़ी और अद्रक का काढ़ा पीने से COVID_19 ठीक होता है। सोशल मंचों पर वायरल एक वीडियो जिसमें हम एक महिला को यह कहते हुए सुन सकते है कि वे कोरोना संक्रमित थी व उन्हें किसी भी तरह से उपचार का फायदा नहीं हुआ जिसके पश्चात उन्होंने नीम व अद्रक के पानी की भाप ली व नीम की लकड़ी और अद्रक का काढ़ा पिया जिससे वे ठीक हो गयी।

वायरल हो रहे दावे के शीर्षक मे लिखा है, 

“एक बहन को कोरोना था उस बहन ने कोविड-19 से जंग जीतने के लिए घरेलू नुस्खे से अपनी बीमारी को ठीक किया मैं वीडियो इसलिए डाल रहा हूं क्योंकि मुझे प्रकृति की वनस्पतियों पर पूर्ण विश्वास है भाइयों जिन जिन को कोराना हुआ है वहां कुछ दिनों तक इस बहन के वीडियो को देख कर अपनी बीमारी के लिए आप यहां उपाय कर सकते हैं मुझे विश्वास इसलिए हुआ क्योंकि नीम से सैकड़ों बीमारियों का इलाज होता है और अदरक भी बहुत गुणकारी होता है आपसे यह कहना चाहूंगा घर में रहे मार्क्स पहने सुरक्षित रहे ईश्वर हम सब को इस बीमारी से निजात दिलाएं ईश्वर आपको तंदुरुस्त रखें और खुश रखे जय जय सियाराम।”

फेसबुक | आर्काइव लिंक

आर्काइव लिंक

अनुसंधान से पता चलता है कि…

फैक्ट क्रेसेंडो ने जाँच के दौरान इस दावे को गलत व भ्रामक पाया है। नीम व अद्रक के पानी की भाप लेने से व नीम की लकड़ी और अद्रक का काढ़ा पीने से COVID19 ठीक नहीं होता है। इन पदार्थों के सेवन से व्यक्ति केवल अपनी इम्यूनिटी बढ़ा सकता है।

हालाँकि वायरल हो रहा वीडियो कथित रूप से एक महिला द्वारा बताया जा रहा उनका व्यक्तिगत अनुभव है, परन्तु ये जानना भी जरूरी है कि क्या वास्तव में उपरोक्त विधि व पदार्थों का सेवन करने से COVID19 से निजात पाया जा सकता है.. 

क्या नीम व अद्रक के पानी की भाप लेने से व नीम की लकड़ी और अद्रक का काढ़ा पीने से कोविड ठीक होता है?

जाँच की शुरुवात हमने गूगल पर कीवर्ड सर्च कर की व इससे सम्बंधित सूचना के लिए डब्लू.एच.ओ की आधिकारिक वैबसाइट को खंगाला, वहां पर हमें तो हमें स्पष्ट शब्दों में लिखा हुआ मिला कि

इस बात का कोई सबूत नहीं है कि अदरक खाने से लोगों को कोरोना से सुरक्षा मिलती है। हालांकि, अदरक एक ऐसा खाद्य पदार्थ है जिसमें कुछ रोगाणुरोधी गुण हो सकते है।”

डब्लू.एच.ओ की वैबसाइट पर आगे लिखा हुआ है कि,

वर्तमान में कोरोना को रोकने या ठीक करने के लिए हर्बल चाय या हर्बल सप्लीमेंट के उपयोग का समर्थन करने के लिए कोई सबूत नहीं है।

आपको बता दें कि नीम एक हर्बल पौधा है।

इसके बाद हमें इसी वैबसाइट पर यह भी लिखा हुआ मिला कि

 कोई भी खाद्य पदार्थ एक शख्स को कोरोना संक्रमण से नहीं बचा सकता। डब्लू.एच.ओ ने लिखा है, “प्रतिरक्षा प्रणाली को कई पोषक तत्वों के समर्थन की आवश्यकता होती है। एक स्वस्थ और संतुलित आहार के लिए विभिन्न प्रकार के खाद्य पदार्थों का सेवन करने की सिफारिश की जाती है, जिसमें साबुत अनाज, फलियां, सब्जियां, फल, नट और पशु आहार खाद्य पदार्थ शामिल हैं, और कोई भी एक ऐसा भोजन नहीं है जो आपको COVID19 से संक्रमित होने से रोक पायेगा ।

तत्पश्चात इस विषय पर और अधिक जानकारी हासिल करने हेतु हमने केरल के तिरुवनंतपुरम में स्थित हिंदुस्तान आयुर्वेदिक हेल्थ केअर में बी.ए.एम.एस डॉ. अनुश्री राठी से संपर्क किया, उनके दरार हमें बताया गया कि,

वायरल हो रहा दावा सरासर गलत व भ्रामक है। ये सब पदार्थों का सेवन उस समय पर निर्भर करता है कि किस दौरान उस (वायरल वीडियो से संदर्भित) महिला का कोविड टेस्ट पॉसिटिव आया था व कोविड की किस स्टेज पर उन्होंने नीम व अद्रक का सेवन किया था। कोविड का असर 7 से 10 दिन का होता है जिसके बाद असर अपने आप कम होने लगता है, अगर उस महिला ने कोविड के आखिरी दिनों में नीम और अद्रक का सेवन किया था व फिर वे ठीक हो गयी, तो उसके लिए हम नीम व अद्रक को श्रेय नहीं दे सकते।

उन्होंने यह भी कहा कि, “नीम और अद्रक का सेवन करना हानिकारक नहीं है, हालांकि ये सेहत के लिए अच्छा होता है परंतु कोई भी शख्स इनके सेवन की वजह से कोविड से ठीक नहीं हो सकता। नीम और अद्रक एक शख्स की इम्यूनिटी को बढ़ा सकता है व वायरस के शरीर में बढ़ने की प्रक्रिया को कम कर सकता है परंतु ये कहना गलत होगा कि नीम और अद्रक के सेवन से कोविड से मुक्ति मिलती है।

इसके बाद हमने दिल्ली में स्थित हमदर्द इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल सायन्सस एंड रीसर्च में सहायक प्रोफेसर, सामुदायिक चिकित्सा विभाग के एस.बी.बी.एस, एम.डी डॉ. यासिर अलवी से संपर्क किया व उनसे भी वायरल हो रही खबर के बारे में जानकारी ली, उन्होंने भी इस दावे को गलत व भ्रामक बताया है और हमें ये स्पष्ट किया कि, 

“वर्तमान में कोविड का कोई इलाज नहीं है और ये वायरस शरीर में अपनी एक पूरी प्रक्रिया का चक्र पूरा करता है, अगर कोई इस प्रक्रिया को झेल जाता है जो कि अकसर १४ दिनों का होता है तो अंत में  कोविड खुद को ही ठीक कर देता है। किसी भी तरह का वायरस हो वो अंत अपने आप ठीक हो जाता है जिसके लिए आप कुछ खाओ या ना खाओ। कोविड में जो जटिलताएं है वो वायरस की वजह से नहीं है बल्की जो इम्यूनिटी सिस्टिम है, उसकी वजह से है। नीम और अद्रक हानिकारक नहीं है, वास्तव में ये पदार्थ व्यक्ति की इम्यूनिटी बढ़ाते है। परंतु इसमें भी आप इन चीज़ों का सेवन कितनी मात्र में कर रहे है उसका भी नियंत्रण होना जरूरी है। इसलिए लोगों को डॉक्टर या किसी विशेषज्ञ से पूछ कर ही इनका सेवन करना चाहिये।

उन्होंने आगे बताया कि, “जिस तरह से ये महिला कह रही हैं कि उन्होंने कई पदार्थों का सेवन किया और फिर नीम और अद्रक की भाप ली या काढ़ा पिया, तब तक उन्हें कोरोना संक्रमित होकर लगभग 5 से 7 दिन तो हो ही गये होंगे , जिससे हम अनुमान लगा सकते है कि अब वायरस के खत्म होने का समय आ गया था, और तभी नीम और अद्रक का सेवन किया गया और फिर वह महिला ठीक हो गयी और उन्होंने पूरा श्रेय नीम और अद्रक को दे दिया।

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने पाया कि उपरोक्त दावा गलत व भ्रामक है। मात्र अदरक व नीम से बनी भाप या काढ़े का सेवन कर कोई भी व्यक्ति पूर्ण रूप से COVID19 से निजात नहीं पा सकता है।

फैक्ट क्रेसेंडो द्वारा किये गये अन्य फैक्ट चेक पढ़ने के लिए क्लिक करें :

१. राजस्थान सरकार के नाम से अंतिम संस्कार को लेकर जारी सर्कुलर फर्जी है।

२. CLIPPED VIDEO: तृणमूल कांग्रेस उम्मीदवार कौशानी मुख़र्जी के वीडियो को सन्दर्भ से बाहर फैलाया जा रहा है|

३. गुजरात के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में भारतीय राष्ट्रीय ध्वज पर प्रतिबंध वाली ख़बरें गलत व भ्रामक है|

Avatar

Title:नीम व अद्रक के पानी की भाप लेने व नीम की लकड़ी और अद्रक का काढ़ा पीने से COVID-19 ठीक नहीं होता है ।

Fact Check By: Rashi Jain 

Result: Misleading


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply