क्या किसानों आन्दोलन में भाग लेने वाली इस लड़की ने पूर्व में ओवैसी के मंच से पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए थे? जानिये सच..

False Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

सोशल मीडिया पर दो तस्वीरों को साझा कर दावा किया जा रहा है कि जिस लड़की ने पिछले साल असदुद्दीन_ओवैसी की सभा में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाये थे वह लड़की अब दिल्ली की सीमाओं पर चल रहे किसान प्रदर्शनों में हिस्सा ले रही है | साझा की जा रही पहली तस्वीर में हम एआईएमआईएम के अध्यक्ष ओवैसी के साथ अमूल्य लियोना की तस्वीर को देख सकते है, जबकि दूसरी तस्वीर में दिखाई गयी लड़की को भी अमूल्य लियोना होने का दावा करते हुए सोशल मीडिया पर फैलाया जा रहा है | 

पोस्ट के शीर्षक में लिखा गया है कि

 जिहादी औवेसीके मंच से पाकिस्तान जिन्दाबाद के नारे लगाने वाली का किसान आंदोलन में क्या काम ?

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक 

अनुसन्धान से पता चलता है कि…

फैक्ट क्रेसेंडो ने शोध कर पाया कि सोशल मीडिया पर वायरल हो रही तस्वीरें दो अलग-अलग लड़कियों की है, इन लड़कियों का आपस में कोई सम्बन्ध नहीं है| 

जाँच की शुरुवात हमने दोनों तस्वीरों को गूगल पर रिवर्स इमेज सर्च करने से की, ओवैसी के साथ दिख रही लड़की की तस्वीर हमें २०२० में कई समाचार पत्रों में प्रकाशित मिली, इन समाचार पत्रों में तस्वीर में दिख रही लड़की का नाम अमूल्य लीओना नानोहा है, जो कर्नाटक की एक छात्र सामाजिक कार्यकर्ता है | बीबीसी द्वारा प्रकाशित एक लेख में, यह बताया गया है कि अमूल्य लियोना ने बेंगलुरु, कर्नाटक में आयोजित एक एंटी-सीएए बैठक में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए थे | इंडियन एक्सप्रेस ने इस खबर को विस्तार में प्रकाशित किया है |

आर्काइव लिंक 

पोस्ट के साथ साझा की गई दूसरी तस्वीर को रिवर्स इमेज सर्च करने पर हमें एक अन्य सदृश्य तस्वीर पर एक यूजर द्वारा किया हुआ कमेंट मिला | यह कमेंट तमिल भाषा में किया गया है | वायरल पोस्ट के ट्वीट पर प्रतिक्रिया देते हुए, एक अन्य उपयोगकर्ता ने उल्लेख किया कि दूसरी फोटो में दिखाई दे रही लड़की तमिलनाडु की मूल निवासी वलरमथी है |

आर्काइव लिंक

इसके पश्चात हमने वलरमथी नाम की इस लड़की के बारें में जानकारी प्राप्त करने की कोशिश की जिसके परिणाम से हमने पाया कि वलरमथी तमिलनाडु की एक  छात्रा कार्यकर्ता  है | वलरमथी के फेसबुक अकाउंट को खंगालने पर हमें यह तस्वीर उनके अकाउंट पर २६ जनवरी २०२१ को अपलोड की हुई मिली | पोस्ट के शीर्षक में तमिल भाषा में लिखा गया है कि “तमिलनाडु से किसानों व किसान समर्थकों के प्रतिनिधि मंडल के सदस्यों ने दिल्ली के टिकरी बॉर्डर पर आंदोलित किसानों को अपना समर्थन दिया व साथ में प्रदर्शन किया, जिसमें लोक कल्याण छात्र जागरण आंदोलन (SUMS), महिला जागृति आंदोलन (WUM), साम्राज्यवाद विरोधी आंदोलन (AIM), लोकतांत्रिक अधिकार संरक्षण समिति (CPDR) के सदस्य शामिल थे, साथ ही लिखा है कि टीकरी सीमा पर शहीद भगत सिंह के भतीजे प्रोफेसर जंगमोहन सिंह के साथ कामरेड |”

आर्काइव लिंक | फेसबुक पोस्ट 

वलरमथी ने अपने फेसबुक पेज पर दिल्ली में किसानों आंदोलनों में उनकी भागीदारी की तस्वीरें और कई वीडियो साझा किये हैं | इन तस्वीरों को आप नीचे देख सकते है | 

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक 

नीचे आप अमूल्य लियोना और वलरमथी की तस्वीरों का तुलनात्मक विश्लेषण देख सकते है | जिससे यह स्पष्ट होता है कि सोशल मीडिया पर वायरल पोस्ट में दिखाई गयी दोनों लड़कियां अलग अलग हैं |

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने पाया कि सोशल मीडिया पर दोनों लड़कियों को एक बताने वाला दावा गलत है | किसान आंदोलनों में भाग लेने वाली लड़की अमूल्य लियोना नहीं है,  अमूल्य लियोना ने पिछले साल ओवैसी की बैठक में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए थे, जबकि वलरमथी ने इस साल दिल्ली किसान आंदोलन में अपनी भागीदारी दर्ज की थी, दोनों लड़कियां अलग हैं |

Avatar

Title:क्या किसानों आन्दोलन में भाग लेने वाली इस लड़की ने पूर्व में ओवैसी के मंच से पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए थे? जानिये सच..

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply