गडकरी का स्मृति ईरानी पर हमला! बोले- अब 3 बार फेल होने वाले भी ‘मंत्री’ बन जाते हैं | क्या यह सच है?

False Headline National Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

११ मार्च २०१९ को पहली बार फेसबुक पर साझा की गई बोलता हिंदुस्तान की यह पोस्ट काफी चर्चा में है | ‘गडकरी का स्मृति ईरानी पर हमला! बोले- अब 3 बार फेल होने वाले भी मंत्रीबन जाते हैं इस हैडलाइन के तहत यह खबर बोलता हिंदुस्तान के पोर्टल पर प्रकाशित की गई है | जानते है इसकी सच्चाई|

ARCHIVE BOLTA HINDUSTAN

देखते है यह खबर फ़ेसबुक पर कितना असर जमा रही है | फैक्ट चेक किये जाने तक shree jyotiradatt madhavrao scindiya (fans club), Congress Worldमहंगाई कि मार  इन पेजेस पर इस पोस्ट को ८ हजार से ज्यादा प्रतिक्रियाएं मिल चुकी थी |  

ARCHIVE POST1 | ARCHIVE POST2 | ARCHIVE POST3

खबर कि हैडलाइन में कहा गया है कि ‘गडकरी का स्मृति ईरानी पर हमला! बोले- अब 3 बार फेल होने वाले भी मंत्रीबन जाते हैं ’| जब हमने नीचे खबर पढ़ी तो स्मृति ईरानी का जिक्र कही नहीं मिला | तो हमने इस खबर का फैक्ट चेक किया |

संशोधन से पता चलता है कि…
खबर में कहा गया है कि, रविवार को नागपुर में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने उपरोक्त बातें कही | तो हमने दुसरे दिन, यानि सोमवार, १२ मार्च २०१९ के नागपुर से प्रकाशित समाचार पत्रों को इस कार्यक्रम की खबर के लिए गूगल पर खंगाला | पता चला की शहर के लगभग सभी अग्रणी समाचार पत्रों ने गडकरी के इस कार्यक्रम की खबर प्रकाशित की है | नागपुर के ‘चिटनविस सेंटर’ द्वारा आयोजित ‘कलावंतांच्या मनातील गडकरी’ इस कार्यक्रम में निवेदक मनोज साल्पेकर द्वारा गडकरी से प्रकट साक्षात्कार किया गया था | इस साक्षात्कार के दौरान गडकरी ने करियर पर एक सवाल किये जाने पर दिए जवाब में यह बातें कही | उदाहरण के लिए दैनिक भास्कर, द हितवाद, दैनिक दिव्य मराठीलोकमत इन समाचार पत्रों में प्रकाशित खबरे आप नीचे देख सकते है |   

ARCHIVE BHASKAR | ARCHIVE HITAVADA | ARCHIVE DIVYA | ARCHIVE LOKMAT

आगे और संशोधन के बाद हमें नितिन गडकरी के Office of Nitin Gadkari इस फेसबुक  अकाउंट से इस कार्यक्रम का अपलोड किया हुआ १ घंटा १९ मिनट ११ सेकंड्स का पूरा विडियो मिला, जो आप नीचे की लिंक पर देख सकते है |

इस विडियो से ही हमने लगभग साढ़े तीन मिनट का नितिन गडकरी वह जवाब क्रॉप कर अलग निकला है जिसमे उन्होंने कहा कि टॉप करने वाला अधिकारी बनता है, जबकि फेल होने वाला मंत्री बन जाता है। राजनीति में आने के लिए क़्वालिटी की ज़रूरत नहीं। जो मेरिट में आता है, वह आईएएस और आईपीएस बनता है, जो सेकेंड क्लास पास होता है, वह चीफ इंजीनियर बनता है, लेकिन जो तीन बार फेल होता है, वह मंत्री बन जाता हैI
यह लिंक क्लिक करके आप वह जवाब सुन सकते है |  

ARCHIVE VIDEO

इन सभी प्रकाशित खबरे पढने के बाद, तथा विडियो सुनने के बाद यह स्पष्ट होता है कि केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने उपरोक्त ‘बोलता हिंदुस्तान’ की खबर में प्रकाशित बातें तो कही थी, मगर कहीं भी उन्होंने केंद्र में मंत्री स्मृति ईरानी का नाम लेकर यह बात नहीं कही, और न ही उनका इशारा किसी एक व्यक्ति विशेष की तरफ था | ‘बोलता हिंदुस्तान’ की खबर में भी गडकरी द्वारा कही गई बातों का रिपोर्टिंग तो है, मगर मंत्री स्मृति ईरानी का संदर्भ कहीं भी नहीं है, जैसा कि हैडलाइन में दावा किया गया है |

जांच का परिणाम :  संशोधन से यह स्पष्ट होता है की ‘बोलता हिंदुस्तान’ की खबर में गडकरी द्वारा कही गई बातों का रिपोर्टिंग तो है, मगर मंत्री स्मृति ईरानी का संदर्भ कहीं भी नहीं है, जैसा कि हैडलाइन में दावा किया गया है | अतः इस खबर का शीर्षक गलत (FALSE HEADLINE) है |

Avatar

Title:गडकरी का स्मृति ईरानी पर हमला! बोले- अब 3 बार फेल होने वाले भी ‘मंत्री’ बन जाते हैं | क्या यह सच है?

Fact Check By: Rajesh Pillewar 

Result: False Headline (यह शीर्षक गलत है)


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply