क्या मध्यप्रदेश कांग्रेस के विधायक अनिल उपाध्याय हुये मोदी जी के मुरीद?

False National Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

२७ अप्रैल २०१९ को कनक मिश्र नामक एक फेसबुक यूजर ने एक विडियो पोस्ट किया | पोस्ट के शीर्षक में लिखा गया है कि “कोंग्रेस विधायक अनिल उपाध्याय की इस हरकत पर क्या कहेगे राहुल जी, इस विडियो को इतना वायरल करो की ये पूरा हिन्दुस्तान देख सके..मध्यप्रदेश कांग्रेस के विधायक श्री अनिल उपाध्याय भी हुये मोदी जी के मुरीद | #वक्त_है_बदलाव_का इस पोस्ट में हम एक आदमी को नरेन्द्र मोदी सरकार के बारे में अपना सकारात्मक दृष्टिकोण स्पष्ट करते हुए सुन सकते है | इस व्यक्ति को भ्रामक रूप से कांग्रेस विधायक अनिल उपाध्याय के पहचान से साझा किया जा रहा है | इस विडियो के माध्यम से यह दावा किया जा रहा है कि अब कांग्रेस के विधायक भी मोदी सरकार के मुरीद बन गए | यह विडियो काफ़ी तेजी से साझा की जा रही है | फैक्ट चेक किये जाने तक इस पोस्ट ने लगभग ११००० प्रतिक्रियाएं प्राप्त कर चुकी थी |

आर्काइव लिंक  

सोशल मीडिया पर बहुत से लोग राजनीति पर विचार अपना व्यक्त करते हैं, लेकिन क्या वायरल हो रहे इस वीडियो में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ कर रहा यह व्यक्ति कांग्रेस विधायक है? हमने सच्चाई जानने की कोशिश की |

संशोधन से पता चलता है कि..

जांच की शुरुआत हमने अनिल उपाध्याय नामक कांग्रेस विधायक को ढूँढने से की | गूगल पर सर्च करने से हमें MyNeta.info के वेबसाइट का लिंक मिला | हमने MyNeta डेटाबेस पर खोजा तो पाया की अनिल उपाध्याय नाम का कोई कांग्रेस विधायक नहीं है | इसी नाम से दो व्यक्तियों का प्रोफाइल हमें मिला | पहला- जोधपुर के एक बीएसपी नेता डॉ अनिल उपाध्याय, जिन्होंने २०१८ में राजस्थान से चुनाव लड़ा | दूसरा प्रोफाइल लखनऊ से निर्दलीय उम्मीदवार अनिल कुमार उपाध्याय, जिन्होंने २००७  और २०१२ में उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव लड़ा था | लेकिन ईस नाम से मध्य प्रदेश का कोई कांग्रेसी नेता नहीं है |

आर्काइव लिंक | आर्काइव लिंक | आर्काइव लिंक

यह स्थापित होने के बाद कि वीडियो में मौजूद व्यक्ति मध्य प्रदेश का कांग्रेस का विधायक नहीं है, हमने उपरोक्त व्यक्ति की पहचान ढूँढने की कोशिश की |

इस विडियो को ध्यान से सुनने से विडियो के शुरुआत में हम किसीको इस आदमी को पांडे जी के नाम के सवाल पूछते हुए सुन सकते है | कैमरा के पीछे व्यक्ति इस आदमी को पांडे जी के नाम से उल्लेख करते हुए पूछते है कि “पांडे जी यह सब लोग मोदी जी को हटाना क्यों चाहते है?” इससे हमें यह पता चलता है कि इस आदमी का उपनाम उपाध्याय नहीं, बल्कि पांडे है |

हमें फेसबुक यूजर श्रीश कुमार मिश्र द्वारा शेयर किया गया यह विडियो मिला जिसके शीर्षक में लिखा गया है कि “यह एक फर्जी वीडियो है, यह व्यक्ति अनिल उपाध्याय नहीं, बल्कि मोहन पांडे उर्फ़ मुन्ना पांडे है |”

आर्काइव लिंक

इसके पश्चात हमें यह विडियो तनमय शंकर के अधिकारिक ट्विटर अकाउंट से मिला | इस विडियो को १० अप्रैल २०१९ को ट्वीट किया था | ट्वीट में लिखा गया था कि :“मोदी रहा तो भारत जल्द अमेरिका जैसा देश होगा। Views of Munna Pandey ji on @narendramodi governance model” |

आर्काइव लिंक

हमने जब मोहन पांडे और मुन्ना पांडे को अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर ढूंढा, तो हमें मोहन चंद्र पांडे का  फेसबुक अकाउंट मिला जिससे हम स्पष्ट हुए कि यह वह विडियो से मिलता-जुलता चेहरा है | हमें उनका  लिंक्डइन अकाउंट मिला जिसके अनुसार मोहन पांडे एवरेस्ट मसाला कंपनी में जोनल सेल्स मैनेजर हैं और दिल्ली में कार्यरत हैं | उनके फेसबुक अकाउंट पर वायरल हो रहे इस वीडियो के अलावा उनके और भी बहुत सारे वीडियो मौजूद हैं जिसमे उन्होंने अपना दृष्टिकोण सामने रखा है |

आर्काइव लिंक

न्यूज चैनल रिपब्लिक भारत ने २७ अप्रैल २०१९ को अपनी न्यूज बुलेटिन में वायरल हो रही वीडियो यह दिखाते हुए खबर प्रसारित किया था कि वीडियो में नजर आ रहा व्यक्ति मध्य प्रदेश से कांग्रेस विधायक अनिल उपाध्याय है व वे मोदी के मुरिद हो गए है | रिपब्लिक भारत के यू-ट्यूब चैनल से करीब तीन लाख लोग जुड़े हुए हैं |

आर्काइव लिंक

मोहन पांडे के फेसबुक अकाउंट पर उन्होंने रिपब्लिक भारत पर प्रसारित हुए उनके वीडियो की ही एक तस्वीर प्रोफाइल पिक्चर के तौर पर लगाई है | उनकी इस तस्वीर पर किसी व्यूअर करुणेश जोशी नामक आदमी ने लिखा है: मामा जी नाम ही गलत चला रखा था, जिसके जवाब में मोहन पांडेने लिखा हुआ था: सही बात है | होने दो यार क्या फर्क पड़ता है अभी कांग्रेस वाले खुद ही कहने लगेंगे हमारा आदमी नहीं है बॉस |’

इससे हम इस बात से स्पष्ट हो सकते है कि मोहन पांडे कांग्रेस पार्टी से जुड़े हुए नहीं है | मोहन ने इंडिया टुडे को एक वीडियो भी भेजा जिसमें उन्होंने यह कहा है कि वो अनिल उपाध्याय नहीं हैं |

इसके पहले भी कई विडियो यह कहकर वायरल किये गये है कि विडियो में दिखाया गया व्यक्ति कांग्रेस के विधायक अनिल उपाध्याय है | फैक्ट क्रेस्केंडो मराठी ने इस दावे का सच सामने रखा था |

निष्कर्ष: तथ्यों की जांच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया | विडियो में दिखाए गए आदमी का नाम मोहन चंद्र पांडे है और उनका कांग्रेस से कोई नाता नहीं है | कांग्रेस पार्टी में अनिल उपाध्याय नामक कोई विधायक नहीं है | इस विडियो को भ्रामक तरीके से कांग्रेस विधायक अनिल उपाध्याय के नाम से साझा किया जा रहा है यह कहकर की वह मोदी जी के मुरीद बन चुके है |

Avatar

Title:क्या मध्यप्रदेश कांग्रेस के विधायक अनिल उपाध्याय हुये मोदी जी के मुरीद?

Fact Check By: Drabanti Ghosh 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •