अगर आप १२ घंटे मे वापस आते हैं तो आपको टोल देने की ज़रुरत नहीं है ? जानिये सच |

False National Transport
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

तेज़ी से साझा होने वाली एक फेसबुक पोस्ट मे कहा जा रहा है कि “जब भी आप टोलबूथ पर टोल का भुगतान करते हैं, तो वे आप से पूछते हैं कि क्या आप 1 पक्ष या 2 पक्षों (जाने और आने वाले) के लिए भुगतान करना चाहते हैं। उन्हें बताएं कि आप 12 घंटे के लिए भुगतान करना चाहते हैं। यदि आप 12 घंटे के भीतर वापस आते हैं, तो कोई टोल नहीं है। टिकट समय के साथ ही छपता है। इस नियम के बारे में जागरूकता की कमी के कारण नागरिकों को धोखा देकर टोल प्रशासन (एस) लाखों रुपये कमाता है। कृपया शिक्षित करें और दूसरों को सूचित करें। – नितिन गडकरी (भारत सरकार)” | कितनी सच्चाई है इस दावे में, आइये देखते हैं |

सोशल मीडिया पर प्रचलित कथन:  

FacebookPost | ArchivedLink

तथ्यों की जांच:

हमने जांच की शुरुआत उपरोक्त चित्र मे लिखे दावे को NHAI के वेबसाइट मे इस दावे से जुड़े सर्कुलर को ढूंढकर की | हमें NHAI द्वारा जारी शुल्क का रिपोर्ट मिला |

NHAI User Toll Fees Chart

इस रिपोर्ट में हमें कहीं भी ‘१२ घंटे मे वापस आने पर टोल नहीं देना होगा’ यह नियम नहीं मिला |

इस बात को और पुख्ता करने के लिए हमने NHAI के प्रोजेक्ट डायरेक्टर से बात की तो उन्होंने इस दावे को खंडित कर के कहा कि, यह बात सरासर ग़लत है | टोलबूथ पर आप एक तरफा जाएँ या दो तरफा, आपको टोल भरना ही होता है | हाँ, २४ घंटे मे वापसी वाले रिटर्न टोल का शुल्क दो तरफा शुल्क से कम है मगर १२ घंटे वाला नियम जो साझा हो रहा है वह ग़लत है | अगर NHAI द्वारा टोल बंद कर दिया गया है, तो ही आपको टोल भरने की ज़रुरत नहीं है |’

इसके बाद हमने नितिन गडकरी के PA सुधीर जलगाँवकर इनसे इस बारे मे बात की, मगर उन्होंने कहा  कि नितिन गडकरी अभी चुनाव के रैली मे व्यस्त हैं और इस बारे मे अभी कोई बात नहीं कर सकतें हैं |

(हमारी उनसे बात होते ही उनका वक्तव्य अपडेट कर दिया जाएगा।)

नितिन गडकरी ने ऐसा कहा है की नहीं इस बात की पुष्टि तो अभी तक नहीं हो पायी है, मगर किया गया १२ घंटे के नियम का दावा गलत है |

फिर हमने गूगल सर्च करने पर हमें Bhaskar (८ सितम्बर २०१७), The quint (२७ दिसम्बर २०१८) और India today (२८ दिसम्बर २०१८) द्वारा भी किये गये फैक्ट चेक मिले, जिसमे फैक्टचेक किया गया है कि यह ग़लत ख़बर है | किये गए इन फैक्ट चेक्स के द्वारा हमें यह भी पता चला कि उपरोक्त पोस्ट २०१७ से साझा किया जा रहा है |

IndiatodayPost | ArchivedLinkThequintPost | ArchivedLinkBhaskarPost | ArchivedLink

निष्कर्ष : ग़लत

तथ्यों की जांच से इस बात की पुष्टि होती है कि किया गया दावा ‘यदि आप 12 घंटे के भीतर वापस आते हैं, तो कोई टोल नहीं है’ ग़लत है | टोलबूथ मे एक तरफा या दो तरफा टिकट लेना ही पड़ता है और अगर टोलबूथ बंद कर दिया गया है, तो ही टोल नहीं देना होता।

Avatar

Title:अगर आप १२ घंटे मे वापस आते हैं तो आपको टोल देने की ज़रुरत नहीं है ? जानिये सच |

Fact Check By: Nita Rao 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •