तृप्ति देसाई के एक पुराने वीडियो को लॉकडाउन के संदर्भ में वाईरल किया जा रहा है |

Coronavirus False
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने २४ मार्च को भारत में २१ दिनों के लॉकडाउन की घोषणा की थी, जिसके चलते देशभर में रेस्टोरेंट, मॉल, सिनेमा हॉल, बार इत्यादि बंध रहेंगे | इसी बीच सोशल मीडिया पर एक वीडियो के माध्यम से दावा किया गया है कि राष्ट्रव्यापी तालाबंदी के दौरान शराब खरीदने की कोशिश करते हुये सामाजिक कार्यकर्ता तृप्ति देसाई को गिरफ्तार किया गया है | ९० सेकंड लंबे वीडियो में पुलिसकर्मी तृप्ति देसाई को एक पुलिस वैन में ले जाते हुए देखे जा सकतें है | वीडियो में कुछ महिला पुलिसकर्मियों द्वारा तृप्ति देसाई के हाथों से शराब की खाली बोतलों का एक हार लेते हुए भी देखा जा सकता है |

पोस्ट के शीर्षक में लिखा गया है कि “लॉक डाउन के दौरान तृप्ति देसाई को शराब खरीदते हुवे पुलिस ने पकड़ा…यह तो वास्तव में पुरुषों की बराबरी कर रही है |”

Fact Check Tripti Desai detained by police to buy liquor during nationwide lock-down in India from Truth SL on Vimeo.

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक

तृप्ति देसाई कौन है ?

पुणे स्थित भूमाता ब्रिगेड और भूमाता फाउंडेशन की संस्थापक, तृप्ति देसाई शनि शिंगणापुर मंदिर, हाजी अली दरगाह, सबरीमाला मंदिर और अन्य धार्मिक स्थलों पर महिलाओं के प्रवेश की अनुमति देने के अभियान के लिए जानी जाती है | २०१७  में, देसाई ने शराब मुक्त महाराष्ट्र के लिए एक अभियान शुरू किया था |

अनुसंधान से पता चलता है कि…

जाँच की शुरुवात हमने इस वीडियो को इन्विड टूल के माध्यम से गूगल रिवर्स इमेज सर्च करने से किया, जिसके परिणाम में हमें यह वीडियो १७ सितम्बर २०१९ को भारत सत्य नामक एक यूट्यूब चैनल पर उपलब्ध मिला | इस वीडियो के शीर्षक में मराठी में लिखा गया है कि “तिरुपति देसाई शराब की बोतलों के साथ मुख्यमंत्री का स्वागत करेंगी |”

इसके पश्चात हमने उपरोक्त वीडियो से संबंधित ख़बरों को ढूँढा, जिसके परिणाम से हमें १५ सितंबर, २०१९ को टाइम्स ऑफ इंडिया द्वारा प्रकाशित खबर मिली | रिपोर्ट के मुताबिक, महाराष्ट्र के तत्कालीन मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को दारु के बोतलों का हार पहनाने की धमकी देने के कारण उन्हें पुणे की सहकारनगर पुलिस ने हिरासत में लिया गया था | इस खबर को लोकमत नामक एक स्थानीय मराठी न्यूज़ वेबसाइट ने भी प्रकाशित किया है |

आर्काइव लिंक

सोशल मीडिया पर यह क्लिप के वायरल होने के बाद, तृप्ति देसाई ने खुद अपने फेसबुक अकाउंट के माध्यम से खुलासा किया कि यह क्लिप १५ सितंबर, २०१९ की है, जब पुलिस ने उन्हें हिरासत में लिया था |

आर्काइव लिंक

निष्कर्ष: तथ्यों के जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | वायरल हो रहा वीडियो सितंबर 2019 का है जब महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के शहर के दौरे से पहले तृप्ति देसाई को पुणे पुलिस ने प्रतिबंधात्मक हिरासत में ले लिया था |

Avatar

Title:तृप्ति देसाई के एक पुराने वीडियो को लॉकडाउन के संदर्भ में वाईरल किया जा रहा है |

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •