क्या राजस्थान के गरीब परिवार की इन तीन बहनों ने एक साथ आईएएस परीक्षा पास की ?

False National Social
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

२० जून २०१९ को फेसबुक के ‘तू मुझे आवाज दे’ नामक एक पेज पर एक पोस्ट साझा किया गया है | पोस्ट में तीन लड़कियों की एक तस्वीर साझा की गई है | तस्वीर में तीनों लड़कियों के गले में हार है और हाथ में कोई पुरस्कार है |  

पोस्ट के विवरण में लिखा गया है कि, 

तीनो बहने एक साथ बनी IAS???
दिनरात खेतों में काम करने वाले विधवा मां की तीनों बेटियां एक साथ बनी IAS,, कमला 32 वीं, गीता 62 वीं, ममता ने 132 वीं रैंक प्राप्त की इन तीनों को बहुत-बहुत हार्दिक बधाई

इस पोस्ट व्दारा किया यह दावा किया जा रहा है कि, एक विधवा माँ ने दिनरात खेती में काम कर अपनी तीन बेटियों को एक साथ आईएएस अफसर बनाया | आइये जानते है इस दावे की सच्चाई |

मूल पोस्ट यहाँ देखें – ‘तू मुझे आवाज दे’  | ARCHIVE POST

संशोधन से पता चलता है कि…

सबसे पहले हमने पोस्ट में साझा तस्वीर को रिवर्स इमेज सर्च किया तो हमें जो परिणाम मिले, वह आप नीचे देख सकते है |

इस परिणाम से हमें ‘youngistan.in’ नामक समाचार वेबसाइट द्वारा प्रसारित एक खबर मिली | इस खबर में उपरोक्त पोस्ट में साझा तस्वीर के साथ कहा गया है कि, “राजस्थान के जयपुर जिले के सारंग का बास गांव में रहनेवाली ५५ वर्षीय मीरा देवी नाम की एक विधवा महिला ने अपने पति की अंतिम इच्छा को आखिरकार पूरा कर ही लिया. इस गरीब महिला के पति की अंतिम इच्छा थी कि उसकी तीनों बेटियां पढ़-लिखकर बड़ी अफसर बनें, इसलिए अपने पति की मौत के बाद मीरा देवी ने दिन-रात मेहनत-मजदूरी करके अपनी तीनों बेटियों को पढ़ाया और इस काम में उसके इकलौते बेटे ने भी उसका पूरा साथ दिया. मीरा देवी की तीनों बेटियां कमला चौधरी, ममता चौधरी और गीता चौधरी ने भी अपने स्वर्गवासी पिता की अंतिम इच्छा को पूरी करने के लिए पूरी मेहनत और लगन से पढ़ाई की. इन तीनों बहनों ने राजस्थान प्रशासनिक सेवा यानि आरएएस की परीक्षा में सफलता हांसिल करके एक नया इतिहास रच दिया है.”

ARCHIVE NEWS

इस खबर में स्पष्ट तौर पर लिखा गया है कि, इन तीनों बहनों ने राजस्थान प्रशासनिक सेवा यानि आरएएस की परीक्षा में सफलता हासिल की, ना कि आईएएस |

इसके अलावा हमें यह खबर ‘dailyhunt’ नामक समाचार वेबसाइट पर भी मिली | इस खबर में भी स्पष्ट तौर पर लिखा है कि, तीनों बहनों से राजस्थान प्रशासनिक सेवा की परीक्षा दी और उसमें इन तीनों बहनों को कामयाबी मिली |

ARCHIVE HUNT

इस आधार पर हमने ‘three sisters become RAS officer’ की वर्ड्स बनाकर गूगल सर्च किया, तो हमें एक विडियो मिला | ‘Motivational Guruji: RJ’ नामक यूजर द्वारा २७ अक्तूबर २०१७ को अपलोड इस विडियो में भी तीनों बहनों द्वारा RAS यानि राजस्थान प्रशासनिक सेवा पास होने की जानकारी दी गई है |

इसके अलावा हमें एक और विडियो मिला, जिसमे इस वायरल दावे का सच उजागर किया गया है |  Vtv Gujarati News and Beyond’ नामक आधिकारिक यू-ट्यूब यूजर ने गुजराती भाषा में एक विडियो अपलोड किया है, जिसमे इन तीनों बहनों ने RAS यानि राजस्थान प्रशासनिक सेवा पास होने की जानकारी दी गई है |

इस संशोधन से यह स्पष्ट होता है कि, राजस्थान की कमला चौधरी, ममता चौधरी और गीता चौधरी इन तीनों बहनों ने RAS यानि राजस्थान प्रशासनिक सेवा की परीक्षा पास की, ना कि आईएएस |

जांच का परिणाम :  इस संशोधन से यह स्पष्ट होता है कि, उपरोक्त पोस्ट में साझा फोटो के साथ किया गया दावा कि, “दिनरात खेतों में काम करने वाले विधवा मां की तीनों बेटियां एक साथ बनी IAS |” सरासर गलत है | तीनों बहनों ने RAS यानि राजस्थान प्रशासनिक सेवा की परीक्षा पास की, ना कि आईएएस |

Avatar

Title:क्या राजस्थान के गरीब परिवार की इन तीन बहनों ने एक साथ आईएएस परीक्षा पास की ?

Fact Check By: Rajesh Pillewar 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •