पंजाब से गुरुनानक जयंती के वीडियो को शाहीन बाग़ के नाम से फैलाया जा रहा है |

False National Political
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

CAA और NRC के खिलाफ व समर्थन में देश भर में आंदोलन चल रहे है, इन प्रदर्शनों के बीच दिल्ली का शाहीन बाग़ और लखनऊ का घंटाघर नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) के खिलाफ लड़ाई का केंद्र बिंदु बन चुका है | इन प्रदर्शनों को लेकर कई भ्रामक व गलत लेख, वीडियो व फोटो सोशल मंचों पर अकसर डालीं जा रहीं है, ऐसा ही एक पोस्ट जिसमे सफेद पगड़ी, कुर्ता और पायजामा पहने सिखों के विशाल जुलूस का एक वीडियो सोशल मीडिया पर इस दावे के साथ वायरल हो रहा है कि वे नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजन एंड सिटीजनशिप (अमेंडमेंट) एक्ट के खिलाफ मुसलमानों का समर्थन करने के लिए दिल्ली के शाहीन बाग़ पहुंचे है |

पोस्ट के शीर्षक में लिखा गया है कि “दिल्ली शाहीनबाग पहुचे सिख भाई कहा हम भी मुसलमानों के साथ है No NRC No CAA |” इस वीडियो को १२६ हज़ार से ज्यादा बार शेयर किया गया है |

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक 

अनुसंधान से पता चलता है कि..

जाँच की शुरुवात हमने इस वीडियो से संबंधित खबरों को गूगल पर कीवर्ड्स के माध्यम से ढूँढकर की  परन्तु हमें इस वीडियो से सम्बंधित कोई खबर नही मिली | इस वीडियो को ध्यान से देखने पर इस प्रदर्शन के पास से गुज़रते वक़्त एक मोटरसाइकल नज़र आती है | वीडियो में, इस मोटरसाइकिल के पंजीकरण नंबर प्लेट (PB08BA 8747) को RTO की वेबसाइट पर ढूँढने पर हमने पाया की यह मोटरसाइकिल पंजाब के जालंधर RTO में पंजीकृत है | साथ ही पंजाब पुलिस का एक वाहन भी देखा जा सकता है |

इसके पश्चात हमें वायरल पोस्ट में कुछ कमेंट नज़र आए जो इस विडिओ को फर्जी दावे के साथ वायरल होने का दावा करते है | कमेंट में एक व्यक्ति ने कहा की यह वीडियो गलत है, असल में यह वीडियो गुरु नानक पूरब उत्सव के दिन नामधारी सिखों द्वारा आयोजित मार्च का है |

कमेंट्स से हमें “श्री भैनी साहेब” के फेसबुक पेज का लिंक मिला जहाँ इस वीडियो का स्पष्टीकरण दिया गया है | इस पेज में एक वीडियो के माध्यम से स्पष्ट रूप से कहा गया है कि वीडियो गुरुनानक देव जी के ५५०वी प्रकाशपर्व के उपलक्ष में नामधारी सिखों द्वारा आयोजीत किये गये एक मार्च का है | 

फैक्ट क्रेस्सन्दो ने श्री भैनी साहेब के ग्रुप एडमिन हरकीरत सिंह जी से संपर्क किया, उनके द्वारा हमें हमें बताया गया कि “यह वीडियो सोशल मीडिया पर गलत दावे के साथ फैलाया जा रहा है, यह घटना २ नवम्बर २०१९ की है जब पंजाब में कपूरथला क्षेत्र में गुरुनानक देव जी के ५५०वी प्रकाशपर्व के उपलक्ष में नामधारी सिखों द्वारा आयोजित की गयी रैली का है |”

यूट्यूब पर कीवर्ड के माध्यम से ढूँढने पर हमें वायरल वीडियो से मिलता जुलता एक वीडियो मिला, जिसके शीर्षक में लिखा गया है कि “नानक देव जी के प्रकाश उत्सव के शुभ अवसर पर ढाणी साहब में नामधारी समाज द्वारा नगर कीर्तन का दृश्य |”

पंजाब केसरी की एक खबर के अनुसार वीडियो में देखा गया जुलूस गुरुद्वारा बेर साहिब जा रहा था, जो सुल्तानपुर लोधी में सिखों का एक प्रसिद्ध पवित्र स्थल है |

आर्काइव लिंक 

निष्कर्ष: तथ्यों के जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त पोस्ट को गलत पाया है | यह वीडियो शाहीन बाग़ से नही बल्कि पंजाब से है | यह मार्च गुरुनानक देव जी के प्रकाश उत्सव के उपलक्ष में नवंबर २०१९ को नामधारी सिखों द्वारा निकला गया था | इस वीडियो का शाहीन बाग़ से कोई संबंध नही है | 

Avatar

Title:पंजाब से गुरुनानक जयंती के वीडियो को शाहीन बाग़ के नाम से फैलाया जा रहा है |

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •