पाकिस्तान से एक दिल दहला देने वाले वीडियो को राजस्थान के विभिन्न शहरों का बता सांप्रदायिक रूप दे फैलाया जा रहा है |

Coronavirus False
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

कोरोनोवायरस महामारी की पृष्ठभूमि से सम्बंधित सोशल मीडिया पर दो पुरुषों द्वारा कुल्हाड़ी से एक आदमी पर वार करने वाला बहुचर्चित वीडियो साझा किया जा रहा है | इस वीडियो के माध्यम से यह दावा किया जा रहा है कि वीडियो राजस्थान के जैसलमेर की हालिया घटना है, जहां रेवत सिंह नाम के एक व्यक्ति की मुसलमान समूह के लोगों द्वारा कुल्हाड़ी से काट निर्मम हत्या कर दी गई थी | 

इसी वीडियो और इसके कुछ दृश्यों की तस्वीर को दो अलग अलग दावों के साथ सोशल मंचो पर साझा किया जा रहा है |

पहला दावा 

लॉक डाउन के दौरान जिहादी आतंकवादियो को घर से दूर रहने को कहना पड़ा भारी एक हिंदू भाई रेवत सिंह तंवर माडवा ( पोकरण) की हत्या कर दी प्रशासन से निवेदन है कि दोषियों तुरंत गिरफ्तार करें। सब्र टूट गया तो सम्भालना मुश्किल हो जाएगा?

दूसरा दावा 

राजस्थान के जैसलमेर जिले में उपद्रवी तत्वों ने रेवंत सिंह को बेरहमी से मार दिया,

रेवंत सिंह का कसूर यही था कि उन्होंने मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्र में ताली बजा कर, प्रधानमंत्री के मुहिम का समर्थन किया, यही है देश की गंगा-जमुनी तहजीब |”

फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक | फेसबुक पोस्ट | आर्काइव लिंक 

अनुसंधान से पता चलता है कि..

जाँच कि शुरुवात हमने इस वीडियो को इन्विड टूल की मदद से गूगल रिवर्स इमेज सर्च करने से की,जिसके परिणाम से हमें २४ मार्च २०२० को अपलोड किया गया एक यूट्यूब वीडियो मिला | इस वीडियो के शीर्षक में लिखा गया है कि “गुजरा पसंद की शादी करने पर तशदात चक 179” | इस वीडियो के विवरण में लिखा गया है कि किसी नोमान शाहिद नामक व्यक्ति पर पाकिस्तान के गोजरा जिले में हमला किया गया था | साथ ही चक १७९ जीबी का उल्लेख किया गया है |

इसके पश्चात हुमें गुगल पर सम्बंधित किवर्ड्स के माध्यम से इस वीडियो के बारें में अधिक जानकारी प्राप्त करने कि कोशिश की | इस जाँच के परिणाम में हमें २५ मार्च २०२० को द नेशन द्वारा प्रकाशित एक खबर प्राप्त हुई जिसके अनुसार दो लोगों ने मंगलवार को कथित तौर पर चक 179 जीबी, गोजरा के एक लड़के के दोनों पैर और दोनों हाथ काट दिए | रिपोर्ट में कहा गया है कि तीन हफ्ते पहले नोमान ने एक लड़की सना के साथ आपसी अनुबंध के चलते प्रेम विवाह किया था | जिसके पश्चात् सना के चचेरे भाई रिजवान और शाहिद ने नोमान का अपहरण किया और उसे एक स्कूल के खेल के मैदान में ले गए जहां उन्होंने उसके दोनों पैर और दोनों हाथ काट दिये | गोजरा पाकिस्तान के पंजाब में टोबा टेक सिंह में स्थित है |

आर्काइव लिंक

द एक्सप्रेस ट्रिब्यून की ३१ मार्च २०२० की एक रिपोर्ट के अनुसार, उस आदमी पर उसके ससुराल वालों ने कुल्हाड़ी से इसलिए हमला किया क्योंकि उसने उसके परिवार की एक महिला से शादी को अस्वीकार कर दिया था | गंभीर रूप से घायल होने वाले व्यक्ति की पहचान नोमान शाहिद के रूप में हुई थी | उसने जिस महिला से शादी की थी वह सना बीबी थी | रिपोर्ट में लिखा गया है कि “मामला पीड़ित के पिता शाहिद रियाज़ द्वारा दर्ज कराया गया था | पुलिस ने रिजवान और शाहिद को गिरफ्तार कर लिया और उनके साथियों की तलाश शुरू कर दी | एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि तीसरा संदिग्ध अरसलान दक्षिणी पंजाब में छिपा है |”
आर्काइव लिंक

इस खबर को द डौन नामक एक पाकिस्तानी अख़बार ने भी २५ मार्च २०२० को प्रकाशित किया था |

आर्काइव लिंक

इस घटना को भारतीय मीडिया ने भी कवर किया था, पीटीआई के अनुसार, द हिंदू ने एक समाचार प्रकाशित किया जिसमें कहा गया कि वह व्यक्ति २३ वर्ष का था और हमले में बिना किसी अंग के रह गया था | पुलिस अधिकारी वकार शोएब कुरैशी ने कहा कि नोमान को फैसलाबाद एलाइड अस्पताल की गहन चिकित्सा इकाई में भर्ती कराया गया था |

आर्काइव लिंक

इस घटना को राजस्थान से क्यों जोड़ा जा रहा है?

इसके पश्चात हमने गूगल  पर यह ढूँढने कि कोशिश कि क्या जैसलमेर में हाल ही में ऐसी कोई घटना घटी है या नही | परिणाम में हमें १० अप्रैल २०२० को दैनिक जागरण द्वारा प्रकाशित खबर मिली जिसके अनुसार रेवत सिंह ने २२ मार्च को पीएम मोदी के ‘थाली बाजाओ’ कार्यक्रम में भाग लिया था, जिस वजह से उसने कुछ स्थानीय लोगों को नाराज कर दिया था, रिपोर्ट के अनुसार ४ अप्रैल को कुछ लोगों ने रेवत सिंह पर हमला किया था, जिसके बाद कुछ दिनों बाद उनकी मृत्यु हो गई | उनके भतीजे ने शाहिद खान, सादिक खान और हमतुल्ला के नाम पर एक एफआईआर दर्ज कराई |

आर्काइव लिंक

फैक्टक्रेसेंडो ने जैसलमेर की एसपी किरण कंग से संपर्क किया, जिन्होंने हमें बताया कि “यह वीडियो फर्जी है | इस वीडियो के साथ जैसलमेर में हुई घटना का कोई संबंध नही है |” उन्होंने हमें बताया कि यह घटना पाकिस्तान से है | साथ ही उन्होंने हमें बताया कि ४ अप्रैल को रेवत सिंह की मोटरसाइकल का पीछा किसी दिलदार नामक युवक ने किया था, जिसके चलते रेवत सिंह उनकी मोटरसाइकल से असंतुलित होकर गिर गये और उन्हें काफी गंभीर चोटें पहुंची | रेवत सिंह की इलाज के दौरान ९ अप्रैल २०२० को मृत्यु हो गयी | दिलदार को गिरफ्तार किया गया है और उससे पूछताछ जारी है |

निष्कर्ष: तथ्यों के जाँच के पश्चात हमने उपरोक्त वीडियो व् उसके साथ किये गये दावों को गलत पाया है | सोशल मीडिया पर पाकिस्तान के पंजाब में घटित हिंसा के एक वीडियो को राजस्थान के जैसलमेर में मुसलमान समूह के लोगों द्वारा रेवत सिंह नामक व्यक्ति की हत्या के नाम से फैलाया जा रहा है | जैसलमेर में वास्तव में रेवत सिंह नामक एक व्यक्ति कि मृत्यु हुई थी परन्तु सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो व रेवत सिंह की मृत्यु असंबंधित है, वीडियो पाकिस्तान का है |

Avatar

Title:पाकिस्तान से एक दिल दहला देने वाले वीडियो को राजस्थान के विभिन्न शहरों का बता सांप्रदायिक रूप दे फैलाया जा रहा है |

Fact Check By: Aavya Ray 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •