गुजरात के वडोदरा शहर के पुराने वीडियो को वर्तमान में पटना का बताकर फैलाया जा रहा है |

False National Social
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

३० सितम्बर २०१९ को फेसबुक पर ‘Akhand Patna द्वारा किये गये पोस्ट के साथ  एक वीडियो साझा किया गया है | इस वीडियो में एक आदमी दिखाई देता है, जो शहर के अंदर से एक मगरमच्छ को खीचते हुए ले जा रहा है | पोस्ट के विवरण में लिखा है कि, “पटना के सड़क पर बाढ़ में आया मगरमच्छ, बोरिंग रोड़ में मगर बच के बाबा |” इस पोस्ट में यह दावा किया जा रहा है कि – ‘पटना शहर के बोरिंग रोड में मगरमच्छ घुस आया है |’ क्या सच में ऐसा है ? आइये जानते है इस पोस्ट के दावे की सच्चाई |

सोशल मीडिया पर प्रचलित कथन:

FacebookPost | ArchivedLink

अनुसंधान से पता चलता है कि…

हमने इस बारे में जानकारी के लिए सबसे पहले बिहार सरकार के “पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन विभाग” में संपर्क किया व conservator of forest गोपाल सिंह से इस विषय में बात की, इस बारे में उन्होंने कहा कि, “ऐसी कोई भी घटना पटना शहर में नहीं हुई है | मूसलाधार बारिश के वजह से शहर में काफ़ी पानी तो जमा था, परन्तु मगरमच्छ के शहर में आने की कोई भी घटना नहीं घटी है और ना ही आस-पास के इलाके से हमारे पास ऐसी कोई घटना दर्ज की गयी है |” 

इसके बाद हमने गूगल पर ‘crocodile entered city’ कीवर्ड्स से ढूंढा, तो हमें अगस्त २०१९ को प्रकाशित कई ख़बरें मिली | इन ख़बरों के मुताबिक गुजरात के वडोदरा शहर में मुसलाधार बारिश का पानी जमा होने के साथ-साथ, पास के विश्वामित्रो नदी से मगरमच्छ की समस्या भी शहर में आ गयी थी | इन ख़बरों को पूरा पढने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें |

IndiatodayPost | ArchivedLinkWeatherPost | ArchivedLinkIndependentPost | ArchivedLinkTOIPost | ArchivedLink

इन ख़बरों में TOI द्वारा ४ अगस्त २०१९ को प्रसारित ख़बर में उपरोक्त दावा में साझा वीडियो से हुबहू मिलता-जुलता वीडियो प्रसारित किया गया था | ख़बर के मुताबिक, यह वीडियो वडोदरा के वद्सर में एक सोसाइटी का है जहाँ यह मगर घुस आया था| 

इसके बाद हमने गुजरात सरकार के ‘Principal Chief Conservator of Forest and Head of the Forest Force’ कार्यालय में वडोदरा के CCF अफसर अराधना साहू से इस मामले में बात की, उन्होंने हमें बताया कि, “यह वीडियो अगस्त के महीने का है और यह वडोदरा का ही है | यह पटना का बताकर क्यों लोगो को भ्रमित किया जा रहा है, यह पता नहीं | विश्वामित्री नदी वडोदरा के पास में होने के वजह से जब शहर में पानी भरता है, तब पास के नदी के मगरमच्छ भी आ जाते हैं | इन्हें फिर वडोदरा के ‘Social Forestry Division’ के कार्यकर्ता पकड़कर वापस नदी में छोड़ देतें हैं |”

इस अनुसंधान से यह बात स्पष्ट होती है कि उपरोक्त पोस्ट में साझा वीडियो वडोदरा का है और पटना शहर से इसका कोई संबंध नहीं है | यह वीडियो गलत विवरण के साथ लोगों को भ्रमित करने के उद्देश्य से फैलाया जा रहा है |

जांच का परिणाम :  उपरोक्त पोस्ट मे किया गया दावा “पटना शहर के बोरिंग रोड में मगरमच्छ घुस आया है |” ग़लत है |

Avatar

Title:गुजरात के वडोदरा शहर के पुराने वीडियो को वर्तमान में पटना का बताकर फैलाया जा रहा है |

Fact Check By: Natasha Vivian 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply