क्या यह विडियो उस घटना का है, जिसमे एक भाई ने बहन के रेप का प्रयास रोकने पर मुस्लिम युवकों ने दोनों को बुरी तरह पीटकर लहूलुहान कर दिया ?

False National Social
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

२५ जून २०१९ को फेसबुक पर ‘अर्जुन पटेल’ नामक एक यूजर ने एक पोस्ट साझा किया है | पोस्ट में एक विडियो साझा किया गया है | विडियो में एक लड़का और एक लड़की दिखाई दे रहे है, जो बुरी तरह लहूलुहान है | लड़का शायद पुलिस से बात कर रहा है कि, उसकी रपट लिखी जाए | लेकिन पुलिसकर्मी (जो विडियो में दिखाई नहीं देते है, उनकी आवाज सुनाई देती है) उससे कह रहे है कि, पहले लड़की का मेडिकल करवाओ | लड़का उनसे मदद मांग रहा है, की उसके परिवार की रक्षा की जाए | लेकिन पुलिसकर्मी उसे महँगवा चौकी जाकर एफआयआर लिखवाने की सलाह दे रहे है |  

पोस्ट के विवरण में लिखा गया है कि, 

लखनव यह घटना इंटोजा थाना क्षेत्र की हो सकती है, शांतिप्रीय कोम के इस्लाम,और चार पांच लोग और, इसकी बहन का रेप करने आए इसने रेप नही करने दिया तो इसकी बहन और दोनों को बुरी तरह पीटा, जागो हिंदू जागो आप लोगों का अंत निश्चित है, और इस घटना में क्या पुलिस वाले इन्हें अस्पताल पहुंचा सकते थे, पर दुर्भाग्य देखिए हमारे देश के शासन का।

इस पोस्ट व्दारा किया यह दावा किया जा रहा है कि, मुस्लिम समुदाय के चार पांच लड़के इस लड़की का बलात्कार करने आये थे | लेकिन इस भाई ने उनके गंदे इरादे को रोक लिया तो गुस्से से उन लड़कों ने इन दोनों को मार मारकर लहूलुहान कर दिया | आइये जानते है इस दावे की सच्चाई |

मूल पोस्ट यहाँ देखें – ‘अर्जुन पटेल’  | ARCHIVE POST

संशोधन से पता चलता है कि…

सबसे पहले हमने पोस्ट में साझा विडियो को इन्विड टूल के उपयोग से छोटे छोटे फ्रेम्स में तोडा और उन टुकड़ों को रिवर्स इमेज सर्च किया | लेकिन हमें कोई परिणाम नहीं मिला | इसके बाद हमने पोस्ट के नीचे कमेन्ट पर फोकस किया तो हमें एक यूजर द्वारा साझा किया गया दूसरा फेसबुक पोस्ट मिला | All NorthEast F∆cebook Union नामक यूजर द्वारा यही विडियो दुसरे विवरण के साथ साझा किया गया है | पोस्ट के विवरण में जो अंग्रेजी में लिखा है, उसका हिंदी में अनुवाद इस प्रकार है – यह घटना उत्तर प्रदेश के इटोंजा पुलिस थाने के अंतर्गत की बताई जाती है | खून से लथपथ दो भाई बहन पुलिस के पास मदद मांगने आते है | लेकिन पुलिस उन्हें दुसरे थाने में रपट लिखने की सलाह दे रहे है | पहले मेडिकल करने की भी सलाह देते है | आखिर ट्वीटर पर यह विडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने रपट दर्ज कर ली और बताया कि, घायल लड़की का इलाज चल रहा है |

मूल पोस्ट यहाँ देखें – All NorthEast F∆cebook Union | ARCHIVE POST

इस विवरण के आधार पर हमने ‘खून से लथपथ भाई बहन के साथ अमानवीय व्यवहार’ इन की वर्ड्स के साथ गूगल सर्च किया, तो हमें ‘दैनिक जागरण’ द्वारा प्रसारित एक खबर मिली | इस खबर में इसी विडियो का स्क्रीनशॉट इस्तेमाल किया गया है | खबर में लिखा गया है कि, राजधानी स्थित इटौंजा थानाक्षेत्र में सोमवार रात जमकर हंगामा हुआ। खेल-खेल में बच्चों के बीच हुए विवाद में बड़े भी शामिल हो गए। देखते ही देखदे दो पक्षों में मारपीट हो गई। संघर्ष करते हुए भाई-बहन रात करीब 1:25 बजे खून से लथपथ अवस्था में कार्रवाई की मांग लेकर इटौंजा चौकी पहुंचे। जहां तैनात कॉस्टेबल ने अमानवीय व्यवहार किया। मामले में एसएसपी ने मामले का संज्ञान लेते हुए सीओ बीकेटी को जांच सौंपी। इसके साथ ही कॉस्टेबल को लाइन हाजिर किया है। 

ARCHIVE JAGRAN

इसके अलावा हमें ‘NEWS 18’ द्वारा २५ जून २०१९ को प्रसारित और एक खबर मिली | इस खबर में उपरोक्त पोस्ट में साझा किया विडियो दिया गया है | लिखा है की – पुलिस के अनुसार घटना इटौंजा थाना क्षेत्र की है. यहां घर के सामने खेल रहे कुछ बच्चे/युवक आपस में भिड़ गए थे. उसी को लेकर दो पक्षों में विवाद और मारपीट हो गई. इस पक्ष वीडियो में दिख रहे शाहरूख और शबनम द्वारा इटौंजा थाना में रात 1.25 बजे एफआईआर दर्ज कर ली गई है. अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए तत्काल टीम गठित कर जांच की जा रही है. मामले की जांच सीओ बीकेटी को सौंपी गई है |

ARCHIVE NEWS18 

इसके अलावा हमें ‘अमर उजाला’ द्वारा प्रसारित और एक खबर मिली | इस खबर में भी यही विडियो दिया गया है | खबर में लिखा गया है कि, लखनऊ के इटौंजा थाने की महंगवा चौकी पर मोहम्मद शाहरुख खान नाम का युवक खून से लथपथ हालत में बहन को संभालते हुए पहुंचा और परिवार पर किए गए हमले की शिकायत की। चौकी में मौजूद सिपाही ने उसे बुरी तरह दुत्कारते हुए भगा दिया। मामला संज्ञान में आने पर एसएसपी कलानिधि नैथानी के आदेश पर सिपाही राहुल को तत्काल प्रभाव से लाइन हाजिर कर दिया गया। घायल युवक ने बताया कि कुछ लोगों ने उसके परिवार पर हमला कर दिया जिस पर वह थाने में रिपोर्ट दर्ज करवाने गया था लेकिन पुलिसकर्मियों ने उसकी एक न सुनी और उसे वहां से भगा दिया। मामले में चौकी प्रभारी व थानाध्यक्ष को अपने अधीनस्थों को पीड़ितों के साथ ठीक ढंग से पेश आने के लिए ब्रीफिंग न किए जाने पर विभागीय कार्रवाई के आदेश दिए गए हैं।

ARCHIVE UJALA

ट्वीटर पर लखनऊ पुलिस द्वारा उनके आधिकारिक हँडल पर इस घटना के बारे में दो ट्वीट भी किये है | यह ट्वीट आप नीचे देख सकते है |

ARCHIVE TWEET 1 | ARCHIVE TWEET 2 

इस संशोधन से यह बात पुख्ता तौर पर साबित हो जाती है कि, मूल घटना दो गुटों में हुई झड़प की है | बच्चों के खेलने के विवाद का रूप हाथापाई ने ले लिया और यह शाहरुख़ खान नामक युवक और उसकी बहन शबनम लहूलुहान हो गए | रात को रपट लिखवाने जब वह इटौंजा थाना आये तो ड्यूटी पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने उन्हें मदद करने की बजाय वहां से खदेड़ा | इस घटना का विडियो वायरल हो जाने के बाद वरिष्ठ पुलिस अधिकारीयों ने संज्ञान लेकर कार्रवाई की | इस घटना को हिन्दू लड़की पर मुसलमान युवकों द्वारा बलात्कार की कोशिश का रंग देकर विडियो गलत उद्देश्य से वायरल किया जा रहा है | असल में यह भाई बहन ही मुस्लिम समुदाय के है |

 जांच का परिणाम :  इस संशोधन से यह स्पष्ट होता है कि, उपरोक्त पोस्ट में साझा फोटो के साथ किया गया दावा कि, “एक भाई ने बहन के रेप का प्रयास रोकने पर मुस्लिम युवकों ने दोनों को बुरी तरह पीटकर लहूलुहान कर दिया |” सरासर गलत है | विडियो में दिखाई दे रहे भाई बहन मुस्लिम है और दो गुटों की झड़प में घायल हो गए थे |

Avatar

Title:क्या यह विडियो उस घटना का है, जिसमे एक भाई ने बहन के रेप का प्रयास रोकने पर मुस्लिम युवकों ने दोनों को बुरी तरह पीटकर लहूलुहान कर दिया ?

Fact Check By: Rajesh Pillewar 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •