ये घटना २ मार्च २०१८ की है जब नशे में धुत कुछ उपद्रवियों ने बाबासाहेब की इस प्रतिमा को खंडित किया था |

False Social
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

९ नवम्बर २०१९ को फेसबुक पर ‘RoyalJatav JiddiChamar द्वारा ‘BHIM ARMY ALL INDIA Group’ नामक फेसबुक पेज पर किये गये पोस्ट में एक तस्वीर साझा की गयी है | तस्वीर में लिखा गया है कि, बाबा साहब आंबेडकर की प्रतिमा गिराते Bjp नेता | Bjp विधायक करनी सिंह की इस हरकत पर क्या कहेगे मोदी जी | इन फोटो को इतना वायरल करो की ये पूरा हिन्दुस्तान देख सके |” पोस्ट के विवरण में लिखा है कि, Jai Jai Bhim Sathiyo इस पोस्ट में यह दावा किया जा रहा है कि – ‘बीजेपी विधायक करनी सिंह ने डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर की मूर्ति  को क्षतिग्रस्त किया |’ क्या सच में ऐसा है ? आइये जानते है इस पोस्ट के दावे की सच्चाई |

सोशल मीडिया पर प्रचलित कथन:

FacebookPost | ArchivedLink

अनुसंधान से पता चलता है कि…

हमने सबसे पहले गूगल पर ‘तोड़ी गई डॉ. अम्बेडकर की प्रतिमा’ कीवर्ड्स को ढूंढा, हमें ४ मार्च २०१८ को जागरण द्वारा प्रकाशित एक ख़बर मिली, जिसमें उपरोक्त दावे में साझा तस्वीर संग्लित थी | इस ख़बर के मुताबिक, यह तस्वीर देवरिया के रामपुर कारखाना क्षेत्र के पकड़ी गांव की है, जहां अराजक तत्वों ने डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर की मूर्ति को गिराकर तोड़ दिया था | 

JagranPost | ArchivedLink

इसके बाद हमने देवरिया के DSP वरून मिश्रा से संपर्क किया, तो उन्होंने इस तस्वीर को देखकर हमें बताया कि, (हिंदी अनुवाद) – यह घटना पकड़ी बुजुर्ग गांव, थाना रामपुर कारखाना, जिला देवरिया की थी | इस घटना के खिलाफ केस नं. – ६३/१८ भी पंजीकृत की गई है | ये घटना होली के त्यौहार के समय हुई थी जहाँ गांव के कुछ युवकों ने शराब के नशे में इस मूर्ति को गिराकर तोड़ दिया था | इन पर कार्रवाही भी हुई थी | तस्वीर में जो व्यक्ति फोटो खीचते हुए दिख रहा है, वह देवरिया के उस वक़्त के CO सीताराम हैं, जो अभी Add.SP हैं |

इसके बाद हमने देवरिया के जिला अधिकारी अमित किशोर से संपर्क किया कि क्या इस प्रकरण में बीजेपी विधायक करनी सिंह संलिप्त हैं की नहीं| उन्होंने हमें बताया कि बीजेपी विधायक करनी सिंह एक मनगड़ंत नाम है | देवरिया क्षेत्र में इस नाम से कोई भी विधायक या नेता नहीं है |

इस अनुसंधान से यह बात स्पष्ट होती है कि उपरोक्त पोस्ट में साझा तस्वीर देवरिया जिले के पकड़ी बुजुर्ग गांव की २ मार्च २०१८ की घटना है और इस घटना का किसी भी राजनैतिक दल के साथ कोई संबंध नहीं है | इसके साथ ही यह भी पता चलता है कि ‘करनी सिंह’ सिर्फ़ एक काल्पनिक नाम है जिसे इस तस्वीर के साथ जोड़कर गलत विवरण के साथ लोगों को भ्रमित करने के उद्देश्य से फैलाया जा रहा है |

जांच का परिणाम :  उपरोक्त पोस्ट मे किया गया दावा “बीजेपी विधायक करनी सिंह ने डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर की मूर्ति को क्षतिग्रस्त किया |” ग़लत है |

Avatar

Title:ये घटना २ मार्च २०१८ की है जब नशे में धुत कुछ उपद्रवियों ने बाबासाहेब की इस प्रतिमा को खंडित किया था |

Fact Check By: Natasha Vivian 

Result: False


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •