क्या पार्टी छोड़ने से पहले गुलाम नबी आजाद अमित शाह से मिले थे? फर्जी तस्वीर के जरिए किया जा रहा दावा

False Political

सोशल मीडिया पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और पूर्व राज्यसभा सांसद गुलाम नबी आजाद की एक तस्वीर वायरल हो रही है। तस्वीर शेयर कर दावा किया जा रहा है कि गुलाम नबी आजाद ने पार्टी छोड़ने से पहले केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के आवास पर उनसे मुलाकात की। 

वायरल पोस्ट को शेयर करते हुए यूजर्स ने लिखा है – गुलाम नबी आजाद ने पार्टी छोड़ने से पहले केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के आवास पर उनसे मुलाकात की। 

ट्विटरआर्काइव 

अनुसंधान से पता चलता है कि…

हमने वायरल खबर को लेकर गूगल पर सर्च किया। लेकिन हमें ऐसी कोई न्यूज रिपोर्ट नहीं मिली। अगर हाल ही में अमित शाह और गुलाम नबी आजाद के बीच मुलाकात हुई होती तो इसके बारे में खबरें जरूर छपी होतीं। 

तस्वीर का रिवर्स इमेज करने पर सितंबर 2021 को टाइम्स ऑफ इंडिया में प्रकाशित एक रिपोर्ट मिली। इस रिपोर्ट में जो तस्वीर मौजूद है वो वायरल तस्वीर से कुछ हद तक मिलती जुलती नजर आ रही है। 

खबर के मुताबिक गोवा विधानसभा चुनाव से पहले देवेंद्र फडणवीस ने अमित शाह से उनके आवास पर मुलाकात की थी। 

इस तस्वीर को देवेंद्र फडनवीस ने भी अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से 30 सितंबर 2021 को ट्वीट किया था।

वहीं वायरल तस्वीर में मौजूद गुलाम नबी आजाद की तस्वीर को गूगल पर सर्च करने पर हमें जनवरी 2014 को प्रोकेरला वेबसाइट द्वारा प्रकाशित एक रिपोर्ट मिली। खबर के मुताबिक, गुलाम नबी आजाद ने डीएमके के नेता एम करूणानिधी से मुलाकात की थी। 

गुलाम नबी आजाद वाला हिस्सा उठाकर वायरल तस्वीर में जोड़ा गया है।

वायरल तस्वीर और हमें मिले तस्वीरों का हमने विश्लेषण किया। जिसमें साफ देखा जा सकता है कि पहले मूल तस्वीर को मिरर इमेज कर उसमें देवेंद्र फडनवीस की जगह सामंत कुमार की तस्वीर को जोड़ दिया गया है। इसके अलावा माइकल लोबो की तस्वीर की जगह गुलाम नबी आजाद की तस्वीर लगाई गई है।

बतादें कि हाल ही में कांग्रेस छोड़ने वाले गुलाम नबी आजाद जल्द ही अपनी नई राजनीतिक पार्टी की घोषणा करेंगे। वहीं  हाल ही में उन्होंने बयान दिया कि वो बीजेपी सरकार की नीतियों का विरोध करते हैं, लेकिन राहुल गांधी की तरह पीएम मोदी का अपमान नहीं करते। 

गुलाम नबी आजाद ने कहा कि राहुल गांधी की तरह उन्होंने कभी व्यक्तिगत आक्षेप नहीं लगाए। उनके इस बयान को कांग्रेस ने मौसमी बदलाव बताया। कांग्रेस ने उन्हें भारतीय जनता पार्टी के ‘वफादार सैनिक’ का नाम दे दिया है। 

निष्कर्ष-

तथ्यों की जांच के पश्चात हमने पाया कि अमित शाह और गुलाम नबी का यह तस्वीर फर्जी है। अलग-अलग तस्वीरों को जोड़ तस्वीर बनाई गई है।

Avatar

Title:क्या पार्टी छोड़ने से पहले गुलाम नबी आजाद अमित शाह से मिले थे? फर्जी तस्वीर के जरिए किया जा रहा दावा

Fact Check By: Saritadevi Samal 

Result: False

Leave a Reply