क्या ऋषि सुनक ने भारत को डॉ. मनमोहन सिंह जैसे प्रधानमंत्री की ज़रूरत है ऐसा कहा? 

Altered Political

दैनिक भास्कर ने खुद इस बात का स्पष्टिकरण दिया है कि यह खबर गलत है। इस तस्वीर को डिजिटली एडिट किया गया है।

इंटरनेट पर ब्रिटेन के नये प्रधानमंत्री ऋषि सुनक का भारत के बारे में एक बयान काफी वायरल हो रहा है। दावा किया जा रहा है कि उन्होनें भारत को मनमोहन सिंह जैसे प्रधानमंत्री की ज़रूरत है ऐसा कहा। 

वायरल ग्राफिक में लिखा है कि, “भारत को सही दिश और दशा देने, कमजोर गिरती अर्थव्यवस्था को सुधारने के लिये मनमोहन सिंह जैसे प्रधानमंत्री की आवश्यकता है – ऋषि सुनक.“

वायरल हो रहे पोस्ट में यूज़र ने लिखा है, “अरे ऋषि तो मोदी विरोधी निकले भारत को सही दिशा और दशा देने कमज़ोर गिरती अर्थव्यवस्था को सुधारने के लिए मनमोहन सिंह जैसे प्रधानमंत्री की आवश्यकता है:-ऋषि सुनक।“

फेसबुक | आर्काइव लिंक

आर्काइव लिंक

अनुसंधान से पता चलता है कि…

सबसे पहले हमने गूगल पर कीवर्ड सर्च किया, परंतु हमें इंटरनेट पर ऐसी कोई खबर नहीं मिली जिसमें बताया गया हो कि ऋषि सुनक ने ऐसा कहा है। 

फिर हमने दैनिक भास्कर के वेबसाइट पर ऋषि सुनक और मनमोहन सिंह के बारें में प्रकाशित खबर की जाँच की। हमें 25 अक्टूबर को प्रकाशित एक खबर मिली, जिसकी हेडलाइन है, “चिदंबरम-थरूर की सलाह, भारत में भी हो अल्पसंख्यक PM:भाजपा बोली- मनमोहन सिंह को भूल गए, जानें पूरा मामला।“

आर्काइव लिंक

इस रिपोर्ट में बताया गया है कि ऋषि सुनक के प्रधानमंत्री बनने के बाद कांग्रेस नेता पी. चिदंबरम ने ये बयान दिया था कि पहले कमला हैरिस और अब ऋषि सुनक। अमेरिका और ब्रिटेन की तरह भारत को भी अल्पसंख्यकों को सत्ता में लाना चाहिये। इसपर कांग्रेस नेता शशि थरूर ने भी अपना समर्थन दिया। 

फिर हमने दैनिक भास्कर के ट्वीटर हैंडल को खंगाला। तो हमें 25 अक्टूबर को बिलकुल वैसी तस्वीर प्रकाशित की हुई मिली, जैसी वायरल पोस्ट में है। आप उस तस्वीर को नीचे दिये गये ट्वीट में देख सकते है।

आर्काइव लिंक  

इसमें दिख रही तस्वीर में लिखा है, “चिदंबरम-थरूर की सलाह, भारत में भी हो अल्पसंख्यक PM:भाजपा बोली- मनमोहन सिंह को भूल गए।“ आप देख सकते है कि इस तस्वीर में भी वही लिखा है जो उपर दी गयी रिपोर्ट में लिखा है।

इससे हम समझ गये कि इस ट्वीट में दी गयी तस्वीर को डिजिटली एडिट कर वायरल किया गया है। आप इस तुलनात्मक तस्वीर में मूल तस्वीर और वायरल तस्वीर में अंतर देख सकते है।

फिर फैक्ट क्रेसेंडो ने दैनिक भास्कर गुजरात के डेस्क मैनेजर “रोहित पटेल” से संपर्क किया। उन्होंने हमें बताया कि “यह खबर गलत है। दैनिक भास्कर ने ऐसी कोई खबर प्रकाशित नहीं की है।“

आगे बढ़ते हुये हमें दैनिक भास्कर के ट्वीटर हैंडल पर हमें उनका स्पष्टिकरण मिला। उसमें उन्होंने यही बताया है कि यह स्टोरी उन्होंने नहीं की है और वायरल फेक तस्वीर उनके नाम शेयर की जा रही है।

आर्काइव लिंक

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने पाया कि वायरल हो रही तस्वीर के साथ किया गया दावा गलत है। यह तस्वीर डिजिटली एडिट की हुई है। दैनिक भास्कर ने ऐसी कोई खबर प्रकाशित नहीं की है।

Avatar

Title:क्या ऋषि सुनक ने भारत को डॉ. मनमोहन सिंह जैसे प्रधानमंत्री की ज़रूरत है ऐसा कहा?

Fact Check By: Samiksha Khandelwal  

Result: Altered

Leave a Reply