क्या विदेशी मुस्लिम महिलाओं ने नूपुर शर्मा का किया समर्थन ? जानिए सच 

False Political

पैगंबर मुहम्मद के खिलाफ विवादित टिप्पणी के मामले में भाजपा की पूर्व नेता व प्रवक्ता नूपुर शर्मा को सुप्रीम कोर्ट से मंगलवार को बड़ी राहत मिली। नूपुर की याचिका पर सुनवाई के बाद कोर्ट ने शर्मा की विवादित टिप्पणी के मामले में गिरफ्तारी पर 10 अगस्त तक के लिए रोक लगा दी है। इसको लेकर सोशल मीडिया पर नूपुर शर्मा को बधाई देते हुए एक तस्वीर वायरल हो रही है।

वायरल तस्वीर में एक मुसल्मि महिला पोस्टर लेके खड़ी है। पोस्टर में लिखा है कोर्ट / मदरसा/मौलवी बताएं आखिर आयशा की सादी किस उम्र में हुई ? मुझे नूपुर शर्मा को गलत साबित करना है और व माफी मांगे। 

वायरल पोस्ट के साथ यूजर्स ने लिखा है- विदेशों में मुस्लिम माताएं, बहने आई नूपुर शर्मा के समर्थन में

फेसबुकआर्काइव

अनुसंधान से पता चलता है कि… 

वायरल तस्वीर को रिवर्स इमेज करने पर तस्वीर हमें डॉन पेजपर मिला। जो की 9 फरवरी 2022 को पोस्ट किया गया है। प्रकाशित खबर के अनुसार 9 फरवरी को नई दिल्ली के शाहीन बाग में कर्नाटक राज्य के कुछ कॉलेजों में हुए हिजाब प्रतिबंध के खिलाफ ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMM) द्वारा आयोजित एक विरोध प्रदर्शन में भाग लेते हुए एक मुस्लिम महिला की तस्वीर है। 

इसके अलवा यह तस्वीर यहां, यहां और यहां पर भी देख सकते हैं। इस तस्वीर का पुरा तस्वीर हमें द प्रिन्ट पर मिला। महीला असली फोटो में लड़की के प्लेकार्ड पर लिखा है कि हिजाब हमारा अधिकार है, यह सिर्फ कपड़े का टुकड़ा नहीं है। इसकी हमारी गरिमा, यह हमारा गौरव है। 

इससे यह स्पष्ट होता है कि इस फोटो को एडिट करके इसमें से हिजाब की बात एडिट् कर नूपुर शर्मा वाला स्लोगन जोड़ दिया गया है। 

वायरल तस्वीर और हमें मिले तस्वीर का हमने विश्लेषण किया। जिससे स्पष्ट होता है कि वायरल तस्वीर एडीटेड है। 

निष्कर्ष-

तथ्यों की जांच के पश्चात हमने पाया कि हिजाब समर्थन तस्वीर को विदेशी मुस्लिम महिलाओं ने नूपुर शर्मा का समर्थन करने के झूठे दावे के साथ वायरल की जा रही है। 

Avatar

Title:क्या विदेशी मुस्लिम महिलाओं ने नूपुर शर्मा का किया समर्थन ? जानिए सच

Fact Check By: Saritadevi Samal 

Result: False

Leave a Reply