यूपी के डिप्टी सीएम केशव मौर्य के विरोध का पुराना वीडियो हालिया भ्रामक दावे के साथ वायरल…

Misleading Political

देश में इस वक्त लोकसभा के चुनाव में पांच चरण का मतदान हो चुका है। इसी बीच सोशल मीडिया पर भीड़ से घिरे उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद का एक वीडियो वायरल है। लोकसभा चुनाव 2024 के संदर्भ में वीडियो को सोशल मीडिया पर शेयर करते हुए दावा किया जा रहा है कि कौशांबी में लोगों ने उनका भारी विरोध किया है।

वीडियो के साथ यूजर ने लिखा है- कौशांबी में डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य का भारी विरोध,विरोध को देखते हुए विनोद सोनकर को लेकर गेस्ट हाउस से तत्काल निकले केशव प्रसाद मौर्य…

फेसबुकआर्काइव

अनुसंधान से पता चलता है कि…

पड़ताल की शुरुआत में हमने वायरल वीडियो के बारे में जानने के लिए अलग अलग की-वर्ड का इस्तेमाल किया। परिणाम में वायरल वीडियो हमें टीवी 9 के उत्तर प्रदेश यूट्यूब चैनल पर मिला। ये वीडियो 23 जनवरी 2022 को अपलोड किया गया है। इससे ये स्पष्ट होता है कि वायरल वीडियो का हालिया लोकसभा चुनाव से कोई संबंध नहीं है। 

प्रकाशित खबर के अनुसार 2022 के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य सिराथू पहुंचे थे, जहां उन्हें महिलाओं के विरोध का सामना करना पड़ा था। 

आगे पड़ताल में हमें दैनिक भास्कर की एक रिपोर्ट मिली। 23 जनवरी 2022 को प्रकाशित इस रिपोर्ट के अनुसार केशव मौर्य के गुलामीपुर पहुंचते ही महिलाओं ने घर का दरवाजा बंद कर लिया और बाहर खड़े लोगों जमकर नारेबाजी की। इस दौरान केशव मौर्य ने उन्हें चुप करवाने की भी कोशिश की थी। 

ये खबर यहां और यहां पर भी प्रकाशित है। निम्न में पूरी खबर देखें। 

इस लोकसभा चुनाव में भी केशव प्रसाद मौर्य ने 15 मई 2024 को सिराथू में एक चुनावी रैली की थी लेकिन उस दौरान कोई ऐसी घटना नहीं घटी। निम्न में खबर देखें। 

निष्कर्ष- तथ्य-जांच के बाद हमने पाया कि, केशव प्रसाद का वायरल वीडियो लोकसभा चुनाव के दौरान का नहीं, बल्कि साल 2022 का है। केशव प्रसाद मौर्य कौशांबी में लापता पंचायत पति राजीव मौर्य के परिवार से जब मिलने गए थे तब महिलाओं ने उनका जमकर विरोध किया था । 

Avatar

Title: यूपी के डिप्टी सीएम केशव मौर्य के विरोध का पुराना वीडियो हालिया भ्रामक दावे के साथ वायरल…

Fact Check By: Sarita Samal 

Result: Misleading

Leave a Reply