FACT CHECK – अखिलेश यादव ने केशव प्रसाद मौर्य को “कूड़ा और नाली साफ करने का काम देने” की बात नहीं की

False Political

यह वीडियो अधुरा है। दरअसल, अखिलेश यादव ने उप-मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा के बारे में यह बात बोली थी। 

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव के एक विवादास्पद बयान वीडियो इंटरनेट पर वायरल हो रहा है। उसमें आप उनको यह कहते हुए सुन सकते है कि “डिप्टी सीएम किसने बना दिया इनको, इनको कूड़े का काम और नाली साफ करने का काम दोबारा दे देना चाहिए।”

इस वीडियो के साथ दावा किया जा रहा है कि अखिलेश यादव ने ऐसा उप-मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के बारे में कहा था। बता दें कि केशव प्रसाद मौर्य पिछड़े वर्ग से आते है और उनके बारे में अखिलेश यादव ने जातिवादी टिप्पणी की ऐसा दावा किया जा रहा है। 

यूजर्स लिख रहे कि “अभी अखिलेश यादव मुख्यमंत्री नहीं है तब इनका जातिगत दम्भ और घमंड देखिए क्योंकि उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य एक बेहद पिछड़ी मौर्य यानी कोईरी बिरादरी से आते हैं इसलिए अखिलेश यादव उन्हें डिप्टी सीएम बनाए जाने पर सवाल उठा रहे हैं और कह रहे हैं उन्हें उनका पुराना काम फिर से दे देना चाहिए।“

(शब्दश:) 

फेसबुक 

आर्काइव लिंक

अनुसंधान से पता चलता है कि…

सबसे पहले हमने यूट्यूब पर कीवर्ड सर्च किया तो हमें इंडिया टूडे द्वारा प्रसारित एक वीडियो मिला। अखिलेश यादव ने 19 नवंबर को लखनऊ में किसानों और कृषि कानूनों के संबन्ध में एक प्रेस कॉन्फरेंस संबोधित की थी। यह उसका वीडियो है। 

इसमें आप वायरल वीडियो वाली बात को 20.27 से लेकर 20.43 मिनट तक देख सकते है। एक पत्रकार अखिलेश यादव को सवाल करता है और उसका जवाब अखिलेश यादव देते हैं।

आर्काइव लिंक

पत्रकार का सवालः डॉ. दिनेश शर्मा ने कहा है कि चीन और पाकिस्तान नहीं चाहते कि यूपी में भाजपा की सरकार आए।

अखिलेश यादव का उत्तरः डिप्टी सीएम किसने बना दिया इनको, इनको कूड़े का काम और नाली साफ करने का काम दोबारा दे देना चाहिए।

पत्रकार ने दिनेश शर्मा को लेकर सवाल पूछा था और अखिलेश यादव ने उनके बारे में ही यह बयान दिया था, ना कि केशव प्रसाद मौर्य के लिए।

आप नीए दिए गए तुलनात्मक वीडियो में आप अधुरा वायरल वीडियो आणि मूल बयान एक साथ देख सकते है।

कौन है डॉ. दिनेश शर्मा?

उत्तर प्रदेश में एक नहीं, बल्कि दो-दो उप-मुख्यमंत्री है। केशव प्रसाद मौर्य के साथ-साथ डॉ. दिनेश शर्मा भी उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम है।

इससे हम यह समझ सकते है कि अखिलेश यादव इस वीडियो में उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा की बात कर रहे थे।

डॉ. दिनेश शर्मा ने पुरनियां लखनऊ में 17 नवंबर को वाल्मिकी समाज के सामाजिक सम्मेलन में कहा था कि “चीन और पाकिस्तान नहीं चाहते है कि उत्तर प्रदेश में भाजपा की सरकार आए।” इसके बारे में और जानकारी के लिए आप पंजाब केसरी की खबर पढ़ सकते है।

फैक्ट क्रेसेंडो ने झी हिंदुस्तान के स्थानीय पत्रकार तुषार श्रीवास्तव से संपर्क किया। उन्होंने हमें बताया कि, “मैं इस प्रेस कॉन्फरेंस में शामिल था। इस वीडियो में अखिलेश यादव उत्तर प्रदेश के दूसरे उप-मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा के बारे में बात कर रहे थे। जिस पत्रकार को वे जवाब दे रहे थे उसने डॉ. दिनेश शर्मा के बारे में सवाल किया था।”

निष्कर्ष: तथ्यों की जाँच के पश्चात हमने पाया कि वायरल हो रहे वीडियो के साथ किया गया दावा गलत है। दरअसल वायरल वीडियो अधुरा है। अखिलेश यादव उत्तर प्रदेश के दूसरे उप-मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा के बारे में बात कर रहे थे, ना कि केशव प्रसाद मौर्य।

Avatar

Title:अखिलेश यादव ने केशव प्रसाद मौर्य को “कूड़ा और नाली साफ करने का काम देने” की बात नहीं की

Fact Check By: Rashi Jain 

Result: False