क्या गैस की महंगाई के कारण इस महिला ने पीएम मोदी से गैस लेने से इनकार किया? जानिए सच

False Political

सोशल मीडिया पर 26 सेकंड का एक वीडियो वायरल कर दावा किया जा रहा है कि एलपीजी गैस की महंगाई के कारण एक महिला ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से गैस लेने से इनकार कर दिया। वायरल वीडियो में पीएम मोदी एक महिला को एलपीजी कनेक्शन मुहैया करा रहे हैं। तभी महिला बिना उसे लिए वापस जाती नजर आ रही है। वीडियो को लेकर सोशल मीडिया यूजर्स मजाक बनाते हुए नरेंद्र मोदी पर तंज कस रहे हैं।

उड़ीसा यूथ कांग्रेस ने वायरल वीडियो को शेयर करते हुए उपरोध से लिखा है कि, “नहीं चाहिए इतनि महंगी गैस रखो अपना सिलेंडर।“

फेसबुकआर्काइवफेसबुक

फेसबुकआर्काइव 

फेसबुक लिंक

अनुसंधान से पता चलता है कि…

हमने वायरल वीडियो को अलग-अलग कीवर्ड सर्च से ढूंढने की कोशिश की। हमें वायरल वीडियो की तस्वीर 1 मई 2016 को फायनान्शियल एक्सप्रेस पर प्रकाशित हुई मिली। खबर के अनुसार 1 मई 2016 को उत्तर प्रदेश के बलिया में प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना की शुरुआत की गई थी। रसोई गैस योजना से 2019 तक 5 करोड़ परिवारों को लाभ दिया जाने का योजना बनाया गया थी। 

भारतीय जनता पार्टी यूट्यूब चैनल पर वायरल वीडियो का मूल वीडियो मिला। जो छह साल पहले पोस्ट किया गया था। खबर के अनुसार प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने मजदूर दिवस पर उत्तर प्रदेश के बलिया में उज्ज्वला योजना की शुरुआत की थी और उसी दिन कई महिलाओं को मुफ्त एलपीजी कनेक्शन प्रदान किया था। नीचे वीडियो देखें।

वीडियो के 26 मिनट 12 सेकंड में वायरल वीडियो देखा जा सकता है। वीडियो में दिख रही महिला एलपीजी कनेक्शन लेने से मना नहीं कर रही है। बल्कि महिला पीएम मोदी से एलपीजी कनेक्शन लेकर आगे बढ़ती नजर आ रही है। जब महिला को बुलाया जा रहा था तब स्पष्ट सुना जा सकता है कि महिला का नाम श्रीमती माया देवी है और पति का नाम श्री हरेन्द्र । 

महिला का कहना है कि लकड़ी लेने जाने से सांप और बिच्छू से डर लगता है। मिट्टी का चूल्हा लीपना और उपर से धुआं, काफी परेशानी होती है।  गैस कनेक्शन की खबर सुनते ही सभी उनके घर में खुश है। यह खबर आप यहां, यहां और यहां पर भी देख सकते हैं।

हमें मिले मूल वीडियो और वायरल वीडियो का विश्लेषण करने पर स्पष्ट देखा जा सकता है कि वीडियो को एडिट कर गलत दावे के साथ शेयर किया जा रहा है।

बता दें कि प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना (पीएमयूवाई) को हर बीपीएल गरीब परिवार को निशुल्क एलपीजी गैस कनेक्शन मुहैया किया था। इस योजना की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 1 मई 2016 को उत्तर प्रदेश के बलिया से की थी। इस योजना से 5 करोड़ गरीब परिवारों को लाभ पहुंचने का योजना किया गया है।   

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना की इन्हीं उपलब्धियों का उत्सव मनाने के लिए पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय ने 1 मई 2022 को उज्जवला दिवस के रूप में मनाने का निर्णय लिया है।

निष्कर्ष:

तथ्यों की जांच के पश्चात हमने पाया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उज्ज्वला योजना वीडियो एडिट कर गलत दावे के साथ शेयर किया जा रहा है।

Avatar

Title:क्या गैस की महंगाई के कारण इस महिला ने पीएम मोदी से गैस लेने से इनकार किया? जानिए सच

Fact Check By: Saritadevi Samal 

Result: False

Leave a Reply